Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

महंगाई के मार के चलते ट्रैक्टर ट्राली में बारात ले जाना बना मजबूरी.. ट्राली पलटने से दर्जन भर से अधिक बाराती घायल..ट्रैक्टर ट्राली में सवार थे 50 से अधिक बाराती..

 ट्रैक्टर ट्राली में सवार थे 50 से अधिक बाराती..

दमोह। पेट्रोल डीजल की कीमतों में लगातार वृद्धि के चलते मालवाहक बस परिवहन में वृद्धि के साथ महंगाई की मार का असर गरीब तबके से लेकर मध्यमवर्गीय परिवारों पर सबसे अधिक पड़ता नजर आ रहा है वही शादी विवाह के अवसरों पर बारात ले जाने के लिए बस आदि ले जाना आम आदमी की हैसियत के बाहर हो चुका है। 

महंगी यात्री सेवाओ के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में ट्रैक्टर ट्राली बारात ले जाने का सबसे सस्ता साधन बना हुआ है। जबकि जान जोखिम में पढ़ने के साथ ट्रैक्टर ट्राली दुर्घटनाग्रस्त होने के सबसे अधिक मामले सामने आते हैं। ऐसे ही कुछ हालातों के बीच देर रात हटा अनुविभाग क्षेत्र में एक ट्रैक्टर ट्राली के पलटने से दर्जनभर से अधिक बाराती घायल हो गए जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

बरती

प्राप्त जानकारी के अनुसार गैसाबाद थाना क्षेत्र में बीती रात अहिरवार परिवार की बारातियों से भरी ट्रेक्टर ट्राली अनियंत्रित होकर पलट गई। ट्रैक्टर ट्राली में 50 से अधिक बाराती सवार थे जो इटवा हरदुआ से कोनी गांव जा रहे थे।  महुआखेड़ा के पास ट्रैक्टर ट्राली अनियंत्रित हो कर पलट जाने से 14 बाराती घायल हो गए। जिनको गैसाबाद पुलिस ने देर रात सिविल अस्पताल हटा में भर्ती कराया गया। जहां से दो की हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

घायल

उपरोक्त घटनाक्रम से अंदाजा लगाया जा सकता है कि किस तरह से निर्धन मध्यम वर्ग के लिए शादी विवाह में बारातियों को ले जाने की परंपरा को पूरा करने के लिए महंगाई की मार को झेलते हुए ट्रैक्टर ट्राली का सहारा लेकर जान जोखिम में डालना पड़ रहा है। दूसरी ओर ट्रैक्टर ट्राली में  50 से अधिक लोगों के भरे होकर निकलने की अनदेखी विभिन्न थाना क्षेत्रों की पुलिस द्वारा किया जाना भी कहीं ना कहीं हादसों को बढ़ावा देने वाली बात कही जा सकती है। अनिल शर्मा की रिपोर्ट

 

Post a Comment

0 Comments