Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

भोपाल में छेड़खानी फायरिंग के बाद स्कॉर्पियो से भागे.. सतना भोपाल के दो युवकों को दमोह पुलिस ने घेराबंदी करके माउजर सहित पकड़ा.. सागर नाका तीन गुल्ली क्षेत्र में स्कॉर्पियो का तहलका

 दमोह। भोपाल में वारदात को अंजाम देकर भागे दो आरोपियों को दमोह पुलिस ने सागर नाका क्षेत्र के इटावा गांव के पास स्कॉर्पियो से भागते हुए पकड़ने में सफलता हासिल की है। वही आरोपियों द्वारा पुलिस के पीछा किए जाने पर तीन गुल्ली क्षेत्र में माउजर सड़क किनारे फेंकने की जानकारी सामने आई है..

प्राप्त जानकारी के अनुसार भोपाल में फायरिंग करके बड़ी वारदात को अंजाम देकर स्कॉर्पियो से फरार हुए दो बदमाशों के सागर दमोह तरफ भागने की लोकेशन पुलिस कंट्रोल दमोह पहुंची थी जिसके बाद सीएससी अभिषेक तिवारी के नेतृत्व में देहात थाना कोतवाली की पुलिस को एलर्ट करते हुए सड़क पर बैरिकेटस रख कर नाकाबंदी कर दी गई थी। लेकिन काली स्कॉर्पियो क्रमांक एमपी 17 सीए 0520 सोमवार दोपहर सागर नाका पर पुलिस को देख कर बैरियर तोड़कर भाग खड़ी हुई थी।

जिसका पीछा करते हुए पुलिस ने पहले तीन गुल्ली के समीप गाड़ी को रोकने का प्रयास किया लेकिन गउपुरा तरफ गाड़ी को घुमाकर बदमाश भाग खड़े हुए। बाद में पीछा करते हुए बालाकोट रोड पर इटवा गांव के पास घेराबंदी करके काली स्कॉर्पियो के साथ दो आरोपियों को पकड़ लिया गया है। जिसकी सूचना भोपाल बाग सेवनिया पुलिस को भेज दी गई है। मामले में विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा की जा रही है।

स्कार्पियो

 सीएसपी अभिषेक तिवारी ने बताया कि भोपाल बागसेवनिया थाने से पुलिस कंट्रोल रूम सूचना आई थी कि अपराध क्रमांक 88/22 के फरार आरोपी युवक काली स्कॉर्पियो से दमोह तरफ आए हैं जिसके बाद नाकाबंदी करके कोतवाली और देहात थाना प्रभारियों की टीम की मदद से उपरोक्त बदमाशों पर काबू पाया गया है और उन्हें गिरफ्तार कर के देहात थाने भेजा गया है।  

पुलिस

देहात थाना प्रभारी विजय राजपूत ने बताया कि भोपाल पुलिस के पहुंचने पर उन्हें उनके हवाले कर दिया जाएगा। आरोपियों के नाम अभिषेक सिंह निवासी बेला सतना एवं यश द्विवेदी निवासी शांति विहार कॉलोनी भोपाल बताए जा रहे हैं आरोपियों द्वारा बागसेवनिया इलाके में छेड़खानी किए जाने और इसका विरोध करने पर फायरिंग करने तथा पुलिस के पहुंचने पर स्कॉर्पियो से भाग जाने का घटनाक्रम बताया जा रहा है। वही दमोह में स्कॉर्पियो द्वारा सकरी रास्तों से भागकर एक खेत में फंस जाने के बाद पकड़े जाने की बात ग्रामीणों द्वारा कह जा रही है।

 

Post a Comment

0 Comments