Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

महंगाई और मिलावट के दौर में किन्नरों के बीच में शुरू हुई वर्चस्व की लड़ाई.. एक किन्नर ने गुर्गों की दम पर दूसरे की चोटी काटकर मारा-पीटा सड़क पर घसीटा.. विवाद थाने पहुंचने के बाद भी कोई नतीजा नहीं निकला..

 वर्चस्व को लेकर एक किन्नर ने दूसरी की चोटी काटी


दमोह। मिलावट और महंगाई के दौर में अब किन्नरों के बीच भी असली नकली को लेकर झगड़े होना आम बात हो गई है। वर्चस्व की लड़ाई में किन्नरों के बीच हिंदू मुस्लिम से लेकर एक दूसरे को नीचा दिखाने, असली नकली साबित करने साड़ी घाघरा उठाने और मारपीट करने जैसे मामले सामने आते रहने के बाद अब चोटी काटने जैसे मामले सामने आने लगे हैं फिर भी पुलिस हस्तक्षेप करने से बचती नजर आ रही है।

ताजा मामला हटा मुख्यालय पर सामने आया जहां एरिया के विवाद को लेकर एक किन्नर ने अपने गुर्गों के साथ दूसरी किन्नर को सार्वजनिक रूप से जलील कर ते हुए मारपीट करने, चोटी काटने के बाद सड़क पर गिराकर घसीटने में कोई कसर नहीं छोड़ी। इस दौरान तमाशाइयों  की भीड़ लगी रही। लेकिन किसी की भी हिम्मत इनको अलग-अलग कराने कि नहीं हुई या यह कहें कि लोग चटकारे लेकर किन्नरों के इस झगड़े का मजा लेते हिंदू मुस्लिम की बात करते रहे।


 बताया जा रहा है कि हरे सूट में नजर आ रही किन्नर की हटा तथा आसपास के क्षेत्र में काफी डिमांड है। अनेक लोग इसकी खूबसूरती के भी दीवाने हैं, आगे पीछे भी घूमते रहते हैं। दूसरी और साड़ी वाली किन्नर के डांस के लोग दीवाने हैं। गांव देहातों में लंबे समय से संपर्क होने की वजह से अनेक अवसरों पर लोगों के बीच यह पहले पहुंच जाती है। जिससे  सूट वाली की कमाई मारी जाती है। इसी को लेकर इन दोनों के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है। पहले भी विवाद होने पर रुखसाना इसकी शिकायत एसपी ऑफिस में कर चुकी थी।


 वही अब नए सिरे से एरिया तथा वर्चस्व को लेकर हुआ इनका विवाद झगड़े में बदलने के बाद हटा थाने भी पहुंचा। लेकिन फरमाइशी नालिश और समझाईस तक सीमित रही। ना तो इनका मुलाहिजा कराया गया और ना ही सार्वजनिक स्थल पर गाली गलौज करके झगड़ते हुए माहौल खराब करने और दोबारा ऐसा झगड़ा रोकने को लेकर इन पर 107/ 16 जैसी कोई प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करने ध्यान दिया गया।

इसके पूर्व भी हो चुका है असली नकली का विवाद



किन्नरों के बीच में असली नकली का विवाद कोई नई बात नहीं है इसके पहले भी दमोह जिला मुख्यालय के सिनेमा रोड पर असली किन्नरों ने एक नकली किन्नर को सबक सिखाया था और तमाशाइयों की भीड लगी रही थी। लेकिन हटा का मामला इससे बिल्कुल अलग है क्योंकि पुलिस भी मान रही है कि झगड़ा करने वाले दोनों ही लोग किन्नर है। दूसरी ओर किन्नरों के विवाद में दो तीन अन्य युवकों के शामिल होने तथा इनका एक किन्नर की चोटी काटे जाने से लेकर मारपीट में शामिल रहने के बावजूद पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई । जबकि मामले में थाना प्रभारी मनीष मिश्रा कहना था कि एक दूसरे की शिकायत पर जांच कार्रवाई की जा रही है। 

Post a Comment

0 Comments