Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

दमोह जिले में कोरोना कर्फ्यू के तीसरे दिन जबरजस्त ब्लास्ट.. 167 नए पोजेटिव केस मिलने से हड़कंप.. जबलपुर नाका क्षेत्र में एक ही परिवार के नो मरीज.. आज भी अनेक मरीजों की मौत लेकिन प्रशासनिक पुष्टि नहीं.. इधर पिछले दो दिनों में 97 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग .

 दमोह जिले में कोरोना कर्फ्यू के तीसरे दिन जबरजस्त ब्लास्ट

दमोह। जिले में कोरोना का अर्थ यूके कर्फ्यू के तीसरे दिन 22 अप्रैल को फिर जबरदस्त कोरोनावायरस तो हुआ है अभी तक के सारे पिछले रिकॉर्ड को तोड़ते हुए 167 नए मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जिनमें सबसे अधिक 9 मरीज जबलपुर नाका क्षेत्र से मिले हैं जो कि एक ही परिवार के सदस्य बताए जा रहे हैं इधर 97  पुराने मरीजों ने पिछले दो दिनों में कोरोना की जंग जीतकर घर वापसी भी की है। आज भी इलाज के दौरान अनेक मरीजों की मौत की दुखद जानकारी सामने है। लेकिन प्रशासनिक स्तर पर इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है।

अप्रैल के 22 वें दिन 167 मरीज सामने आये हैं..

दमोह। आज 167 कोरोना मरीज सामने आये हैं इनमें जबलपुर नाका दमेाह से 09, बांदकुपर से 03, घंटाघर दमोह से 01, जटाशंकर कॉलोनी दमोह से 04, इंदिर कॉलोनी से 01, सुभाष कॉलोनी से 01, सरस्वती कॉलोनी से 01, बकस्वाहा से 02, दमेाह से 54, बटियागढ़ से 03, हिण्डोरिया से 07, बकायन से 01, सगरोन से 01, फुटेरा से 01, पथरिया से 19, नोहटा से 09, कचनपुरी से 01, झिन्ना से 01, जबेरा से 21, सागर नाका दमोह से 01, पटेरा से 08, बिलाखुर्द से 01, कुण्डलपुर से 01, रजाबंदी से

                                        

01, कादीपुर से 01, हिनोता से 02, कुआखेडा से 01, हिरदेपुर से 01, गाँधी वार्ड हटा से 01, लकलका से 01, हटा से 01, खडेरी से 02, नया बाजार दमोह से 01, सागरा से 01, ढिगसर से 01 शामिल हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉं संगीता त्रिवेदी ने जिले के निवासियों से आग्रह किया हैं कि अभी कोरोना गया नही हैं आने वाले 6 माह और परस्पर सामाजिक दूरी और हाथ धोते रहें। 

पिछले 2 दिनों में 97 मरीज डिस्चार्ज हुए..

दमोह। जिले में बढ़ते मरीजों के बीच एक अच्छी खबर राहत भरी खबर कही जा सकती है कि पिछले दो दिनों में 97 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं। बढ़ते कोरोना वायरस के बीच यह अच्छी खबर सामने आई है,  20 अप्रैल को 48 और 21 अप्रैल को 49 मरीज डिस्चार्ज हुए हैं। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाँ संगीता त्रिवेदी ने दी।

Post a comment

0 Comments