Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

पूरी रात जागकर कोविड-19 जांच करने वाले लैब टेक्नीशियन भी पॉजिटिव.. इधर कोविड केयर सेंटर में अव्यवस्था को लेकर विवाद में दो संदिग्ध मरीजो की FIR.. प्रमुख सचिव एवं कमिश्नर फीवर क्लीनिक व कोविड केयर सेंटर पहुंचे.. दमोह में टोटल स्कोर 115..

 तेरह नए केस सामने आने से टोटल केस बढ़कर हुए 115
दमोह। 23 जुलाई गुरुवार को अभी तक के सबसे अधिक 13 कोविड-19 केस सामने आए हैं। जिससे कल के 102 केसों का आंकड़ा बढ़कर 115 हो गया हैं। आज सबसे अधिक चौंकाने वाला केस जिला अस्पताल के उस लैब टेक्नीशियन का सामने आया है जो पिछले तीन महीनों से  कोविड-19 सेंपल टेस्ट में जुटा हुआ था। 3 दिन पूर्व पूरी रात में पीपीई किट पहनकर कोरोना जांच करने की वजह से भी यह यह लैब टेक्नीशियन चर्चाओं में रहा था।
जिले में अभी तक 67 मरीज ठीक हो चुके हैं। एक मरीज की मृत्यु हो चुकी है तथा 47 केस एक्टिव है। 369 सैंपल की रिपोर्ट अभी आना बाकी है। वही अनेक मरीजों की सैंपलिंग भी बाकी है। आज सामने आए 13 नए मरीजों में 65 साल के बुजुर्ग से लेकर 4 साल का बच्चा तक शामिल है। दमोह नगर में नए चार केस मिले है वही हटा से तीन, जबेरा, पथरिया, बटियागढ़, पटेरा ब्लाक से एक एक तथा फुटेरा से एक व फुटेरा के मरीज से संबद्ध जबलपुर का एक पेशेन्ट नया मिला है।
 कोविड केयर सेंटर में विवाद के बाद 2 मरीजों पर FIR
दमोह। जिले में कोरोनावायरस के संक्रमण बढ़ने से मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है वही मरीजों की कांट्रैक्ट हिस्ट्री वाले परिजनों तथा ने लोगों की संख्या भी काफी होने की वजह से कोविड केयर सेंटर में हालात गड़बड़ा रहे हैं। यहां रुकने वाले संदिग्ध मरीजों को पेयजल से लेकर सफाई व्यवस्था की स्थिति का भी सामना करना पड़ रहा है। वही शिकायत करने पर सुनवाई के बजाय वाद विवाद के हालात निर्मित हो रहे हैं। ऐसे ही कुछ हालात में सेंट्रल स्कूल के समीप संचालि कोविड सेंटर में 2 संदिग्ध मरीजों तथा स्टाफ के बीच वाद विवाद के बाद रिपोर्ट दर्ज किए जाने का मामला सामने आया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के सिविल वार्ड 4 सहित अन्य क्षेत्रों में पॉजिटिव पाए गए मरीजो के परिजन तथा कांट्रैक्ट हिस्ट्री वाले लोगों को यहा पर क्वॉरेंटाइन करके सैंपल लिए जा रहे है। लेकिन यहां का गंदगी भरा माहौल तथा पेयजल अव्यवस्था से सभी परेशान है। यहां पर जिन मरीजों की जांच हेतु सैंपल भेजे जा चुके हैं उनके अलावा जिनकी सैंपल भेजे जाना है तथा जिनकी जांच रिपोर्ट आ चुकी ऐसे सभी मरीजों के पीने के पानी के लिए एक ही प्रकार का इंतजाम था। जिससे  पॉजिटिव रिपोर्ट वाली मरीज तथा जिन की रिपोर्ट नहीं आई थी उन संदिग्ध मरीजों को एक ही जगह पर पानी पीना पड़ रहा था। जिस को लेकर सौरभ जैन  द्वारा मौजूद स्टाफ के समक्ष आपत्ति दर्ज कराई गई थी। लेकिन इस पर ध्यान दिए जाने के बजाए विवाद बढ़ता गया और नौबत रिपोर्ट दर्ज कराने तक पहुंच गई।
बाद में मामला तहसीलदार बबीता राठौर के संज्ञान में लाया गया तथा वह भी कोविड केयर सेंटर पहुंची। लेकिन तब भी मामला नहीं सुलझने पर डां मिताली की रिपोर्ट पर आरोपी सौरभ तथा गौरव जैन के खिलाफ कोतवाली में अपराध क्रमांक 846 धारा 323, 294, 506,188, 269, 353 आइपीसी की धारा 34, 54 प्र. च. न.  अधिनियम एवं मप्र चिकित्सा अधिनियम 2008 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। उल्लेखनीय है कि इनके परिवार के एक सदस्य की कोरोना रिपोर्ट कल पाजेटिव आई थी। जिसके बाद यह सभी यहां क्वॉरेंटाइन किए गए हैं। लेकिन विवाद में फंसने की वजह से इनके खिलाफ मामला तो दर्ज कर लिया गया लेकिन सैंपल अभी तक नहीं लिए जा रहे है। यह घटना कोविड केयर सेंटरों में व्याप्त अव्यवस्था भरे हालातों की और इशारा करने काफी है। जिसे संज्ञान में लेकर अधिकारियों को यहां पेयजल तथा सफाई की समुचित व्यवस्था बनाने हेतु ध्यान देना चाहिए।
जबलपुर में भर्ती दमोह के मरीज का जन्मदिन मनाया
दमोह के कोविड केयर सेंटरों में मरीजो को भले ही विभिन्न परेशानी अव्यवस्थाओं का सामना करना पड़ रहा हो लेकिन बाहर की हॉस्पिटल में एडमिट मरीजों का सभी तरह से पूरा ध्यान रखा जाता है इसका एक वीडियो सामने आया है। दरअसल दमोह निवासी एक कोरोना पेशेंट का जबलपुर की मेट्रो हॉस्पिटल में उपचार चल रहा है। आज उनका जन्मदिन था। इस मौके पर अस्पताल की स्टाफ व टीम के द्वारा ग्रीटिंग, गुलदस्ता एवं बर्थडे गीत के साथ बर्थडे सेलिब्रेट करते हुए मरीज का मनोबल बढ़ाने हर संभव प्रयास किया गया। वही डॉक्टर स्टाफ के इस स्नेह को देखकर कोरोना पेशेंट भी हाथ जोड़कर कृतज्ञता ज्ञापित करने से नहीं चूके। यह पेसेंट कुंडलपुर कमेटी के पदाधिकारी के परिजन बताए जा रहे हैं।
प्रमुख सचिव नितेश कुमार व्यास फीवर क्लीनिक पहुंचे
दमोह। प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास विभाग श्री नितेश कुमार व्यास ने जिला अस्पताल पहुंचकर फीवर क्लीनिक का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां प्रतिदिन आने वाले मरीजों की जानकारी लेते हुए सैम्पल व उनकी जांच की पूर्ण जानकारी लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने कोविड-19 के तहत मरीजों को दिये जा रहे उपचार और व्यवस्थाओं का अवलोकन किया। इस अवसर पर संभागायुक्त श्री जे.के. जैन, जिला कलेक्टर श्री तरूण राठी साथ में मौजूद रहे। भ्रमण के दौरान सिविल सर्जन डॉ. ममता तिमोरी और आरएमओ डॉ. दिवाकर पटैल ने यहां दिये जा रहे उपचार आदि के संबंध में जानकारी दी।
 प्रमुख सचिव ने कोविड केयर सेन्टर का लिया जायजा
 दमोह। प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास विभाग श्री नितेश कुमार व्यास ने आज शाम विवेकानंद नगर स्थित कोविड केयर सेन्टर का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां सेन्टर की जानकारी लेते हुए कहा होम कोरोन्टीन व्यक्तियों से फोन कॉल कर चर्चा एवं चैक करते रहे, साथ ही आवश्यक दिशा निर्देश दिये। इस अवसर पर संभागायुक्त श्री जे.के. जैन विशेष रूप से मौजूद रहे।
इस अवसर पर जिला कलेक्टर श्री तरूण राठी ने कोविड केयर सेंटर के संबंध में पूर्ण जानकारी दी। उन्होंने बताया यहां कोविड मरीजों के प्रथम कॉन्टेक्ट हिस्ट्री वालों को रखा जा रहा है। अस्पताल में 29 कोविड मरीज हैं, यहां सेंटर में 55 लोग हैं। सभी मरीज के प्राथमिक कॉन्टेक्ट वाले है। श्री राठी ने बताया सैम्पल रिपोर्ट निगेटिव आते ही इन सभी को होम कोरोन्टाईन किया जा रहा है। उन्होंने दमोह में कोविड केयर की क्षमता की जानकारी भी दी। इस अवसर पर डॉ. दिवाकर पटैल ने सैम्पल लिए जाने के संबंध में पूर्ण जानकारी दी। भ्रमण के दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संगीता त्रिवेदी, सिविल सर्जन डॉ. ममता तिमोरी, एसडीएम गगन विशेन सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Post a comment

0 Comments