Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कमलनाथ सरकार के मानदेय कटौती के फैसले के खिलाफ.. आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका सड़क पर उतरे.. प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा.. आंदोलन की चेतावनी..

 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने रैली निकालकर ज्ञापन सौंपा
दमोह। मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार द्वारा हाल ही में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय में कटौती करने का निर्णय लिया गया है जिससे इनके बीच में असंतोष के साथ आक्रोष भरा माहौल बना हुआ है गुरुवार को प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा रैली निकालकर प्रदर्शन करते हुए प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सोपते हुए मानदेय कटौती को वापस लेने की मांग की गई है।

मध्य प्रदेश बुलंद आवाज नारी शक्ति आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका संघ के बैनर तले गुरुवार दोपहर अंबेडकर चौक मानस भवन के पास जिले की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सहायिका और मिनी कार्यकर्ता एकत्रित हुए। हाथों में 7 सूत्री मांगों का बैनर लेकर रैली जुलूस के रूप में नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचीयहां भी देर तक नारेबाजी प्रदर्शन के बाद प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा गया।
 जिसमें बताया गया कि प्रदेश सरकार द्वारा लिए गए निर्णय के बाद आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के मानदेय में 1500 रुपए सहायिका के मानदेय में 750 रुपए और मिनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के मानदेय में 1250 रुपए कम होने का अंतर आ गया है। जो पूर्णता गलत है, इसी के खिलाफ यह प्रदर्शन किया गया है।
 संगठन की प्रदेश उपसचिव और जिला अध्यक्ष श्रीमती शोभा तिवारी ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि प्रदेश सरकार नियमित नही कर सकती तो कम से कम मानदेय में कटौती भी नहीं करें। 1 महीने के अंदर समस्या का समाधान नहीं होने पर न्यायालय की शरण लेने तथा हड़ताल आंदोलन की चेतावनी भी दी गई है।  अजित सिंह राजपूत की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments