Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

रेडक्रास से आर्थिक मदद दिलाने साहब के नाम पर हरामखोरी.. 20 हजार रुपए हड़पने वाले कलेक्टोरेट के भ्रष्ट बाबू को कलेक्टर ने किया सस्पेंड..

आर्थिक मदद के 20 हजार रुपए हड़पने पर बाबू सस्पेंड-
दमोह। रेड क्रॉस सोसाइटी की तरफ से पीड़ित जनो को आर्थिक सहायता मंजूर कराने के नाम पर कलेक्ट्रेट के एक बाबू द्वारा जमकर हरामखोरी किए जाने का मामला सामने आया है। मामले की शिकायत कलेक्टर तक पहुंचने तथा भ्रष्ट लिपिक के कारनामे की रिकॉर्डिंग सुन कर कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने उसे सस्पेंड कर एफआईआर कराने के निर्देश एडीएम को दिये है। 
 दमोह के मागंज वार्ड नंबर 1 निवासी मीनू गोपाल सोनी ने शनिवार को भाजपा युवा मोर्चा नेताओं के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचकर शिकायत की थी कि 54 नंबर कमरे में बैठने वाले लिपिक संजू सोनी द्वारा उनकी बेटी के हर्निया के इलाज हेतु रेड क्रॉस सोसाइटी से मिली 20 हजार की मदद को हड़प लिया है। लिपिक संजू सोनी द्वारा रेडक्रास से मदद मंजूर कराने के बदले में 10000 रु साहब को तथा 5000 रु खुद के लिये मांगे जाने की बातचीत की मोबाइल रिकार्डिंग को सुनकर कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने अपर कलेक्टर आनन्द कोपरिया को बुलाकर तत्काल जांच के आदेश दिए तथा एडीएम को उपरोक्त लिपिक को सस्पेंड कर पुलिस में एफ आई आर कराने तथा पीड़ितों की सहायता राशि वापस दिलाने के निर्देश दिए है।
 उल्लेखनीय है कि रेड क्रॉस सोसायटी के सचिव का प्रभार एसडीएम संजीव साहू के पास में है तथा उपरोक्त बाबू संजू सोनी उन्हीं के अंडर में रेडक्रास का काम देखता था। ऐसे में उपरोक्त बातचीत की रिकॉर्डिंग में भ्रष्ट बाबू द्वारा कलेक्टर साहब के नाम पर 10000 मांगे जा रहे थे अथवा एसडीएम साहब के नाम पर यह फिलहाल साफ नही हो सका है।
दरअसल गोपाल सोनी की दो साल की बेटी रितिका का दो माह पहले हर्निया का ऑपरेशन हुआ था। जिसकी जानकारी लगने पर उनके दूर के रिश्तेदार कलेक्ट्रेट में पदस्थ तथा लिपिक संजू सोनी ने रेडक्रास सोसायटी से अधिक मदद दिलाने के लिए आवेदन देने को कहा था। बाद में इस भृष्ट बाबू ने 20 हजार की आर्थिक सहायता का चेक सोनी दंपत्ति को देकर चेक की राशि मे से साहब तथा खुद के लिए 15 हजार हजार देने दबाव बनाना शुरू कर दिया। इसके बाद पीड़ित दंपत्ति ने बातचीत की पूरी रिकॉर्डिंग मोबाइल में करने के बाद इसकी जानकारी रेडक्रास सोसायटी के सदस्य भाजपा नेता मनीष तिवारी और नीलेश सिंघई को दी। 
जिसके बाद भाजपा नेताओं ने पीड़ित दंपत्ति को कलेक्ट्रेट कार्यालय ले जाकर  उपरोक्त रिकॉर्डिंग कलेक्टर को सुना कर पूरे मामले का पर्दाफाश करा दिया। पीड़ित दंपति को न्याय दिलाने हेतु तत्परता दिखाने वालो में भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी मनीष तिवारी, भरत यादव ,नीलेश सिंघई, विशाल शिवहरे, अमित वर्मा, रिन्कू गोस्वामी रितेश सोनी आदि शामिल रहे। 
जिनके प्रयासों से गरीबों की मदद हेतु कलेक्टर द्वारा उपलब्ध कराई जाने वाली सहायता राशि में भ्रष्टाचार रूपी सेंध लगाकर हरामखोरी करने वाले संजू बाबू के कारनामो का पर्दाफाश हो सका।  प्रदेश में भाजपा के विपक्ष की भूमिका में पहुंचने के साथ "भूरा गैंग" की यह नई भूमिका भ्रष्टाचार के और भी मामलों का पर्दाफाश कराने तटपर रहेगी। ऐसी उम्मीद इस मामले के बाद की जा सकती है।अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments