Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

भाजपा ने दमोह से नौवीं बार जयंत मलैया पर दाव लगाया.. हटा से पीएल तंतुबाय (Kori) के नाम ने चौंकाया..

BJP- दमोह से जयंत मलैया हटा से पीएल तंतुबाय- 
मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव हेतु प्रत्याशियों के नामों की पहली सूची जारी करने के मामले में कांग्रेश के मुकाबले भाजपा ने बाजी मार ली है। नाम दाखिले के पहले दिन भाजपा द्वारा 230 सीटों में से 177 नामों की घोषणा कर दी गई है। जिनमें 2 मंत्रियों और अनेक विधायकों की टिकट काटे जाने के साथ दो सांसदों को भी टिकट दी गई है। वित्त मंत्री जयंत मलैया को 9 वी बार दमोह से प्रत्याशी बनाया है। वही हटा विधायिका उमा देवी खटीक की टिकिट काटकर रिटायर बैंक अधिकारी PL तंतुवाय पर दांव लगाया है।
भाजपा द्वारा जारी  177 प्रत्याशियों की पहली सूची में बुंदेलखंड के कद्दावर मंत्री गोपाल भार्गव, जयंत मलैया और भूपेंद्र सिंह के नाम उनके पुराने निर्वाचन क्षेत्रों से ही घोषित किए गए हैं। वहीं राज्य मंत्री ललिता यादव को छतरपुर से बड़ा मलहरा शिफ्ट कर दिया गया है। पवई से पूर्व मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह और टीकमगढ़ से पूर्व मंत्री हरिशंकर खटीक की भी टिकट पक्की कर दी गई है। जबकि पूर्व कृषि मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया और पूर्व राज्य मंत्री दशरथ सिंह की टिकट पर फैसला अभी लंबित है।
 सागर संभाग से घोषित भाजपा की टिकटों में मप्र के वित्त एवं  वाणिज्य कर मंत्री  जयंत मलैया को  लगातार नवमी बार दमोह विधानसभा क्षेत्र  भाजपा का प्रत्याशी बनाया गया है। सबसे चौंकाने वाला नाम दमोह जिले के हटा विधानसभा क्षेत्र से पीएल तंतुबाय का सामने आया है। इनको भाजपा की दो बार से मौजूदा विधायक उमा देवी खटीक की टिकट काटकर प्रत्याशी घोषित किया गया है। इसकी जानकारी हटा पहुंचने के बाद भाजपाइयों के बीच कहीं खुशी तो कहीं गम जैसा माहौल हर्ष का माहौल देखने को मिल रहा है।
30 सितंबर 2018 को स्टेट बैंक हटा से ऑडिट प्रबंधक के पद से सेवानिवृत्त हुए परसोत्तम लाल कोरी (तंतुबाय) पिछले कुछ वर्षों से हटा की सर्वाधिक सक्रिय भाजपा नेत्री में गिनी जाने वाली रामकली तंतुबाय के पति परमेश्वर है। सरल स्वभाव, मृदुभाषी और स्वच्छ छवि के धारक पीएल तंतुबाय को भाजपा टिकट दिए जाने की संभावना के चलते हटा विधायिका उमा देवी खटीक दिल्ली में डेरा डाले हुए थी। इसके बावजूद पार्टी की चुनाव चयन समिति ने श्री तंतुवाय के ऊपर भरोसा जताया है।
हटा से भाजपा प्रत्याशी घोषित किए गए पीएल तंतुबाय ना तो टिकट की दौड़ में शामिल होने के लिए दिल्ली गए थे और ना ही भोपाल आज भी जब इनका नाम भाजपा की सूची में आया उस समय वह हटा में ही थे तथा जब उनके यहां बधाई देने वालों के फोन मोबाइल पहुंचना शुरू हुए तब व स्वयं हटा के गफ्लू की दुकान पर मिष्ठान लेने के लिए पहुंच गए। और उन्होंने मीठा खरीदकर मुंह मीठा कराया। 
श्री तंतुबाय को चुनाव लड़ने का भले ही यह पहला अवसर हो लेकिन उनकी धर्मपत्नी रामकली 4 चुनाव लड़ चुकी है। पिछला विधानसभा चुनाव रामकली ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी के तौर पर लड़ा था। इसके बाद वो भाजपा में शामिल हो जाने पर उन्हें हटा नगर पालिका अध्यक्ष चुनाव में भाजपा प्रत्याशी बनाया गया था। लेकिन वह हार गई थी। इस बार उनके द्वारा विधानसभा टिकट की भाजपा से दावेदारी किए जाने पर विधायक समर्थकों तथा अन्य दावेदारों ने यह कह कर विरोध जताया था की रामकली पूर्व में समाजवादी पार्टी में रह चुकी है तथा नगर पालिका का चुनाव हार चुकी है। जिसके बाद पार्टी संगठन तथा हटा शहर एवं ग्रामीण मंडल के पदाधिकारियों की राय और सिफारिश के आधार पर भाजपा ने रामकली के पति पीएल Kori पर दांव लगाया है।
हटा से भाजपा की दो बार की विधायिका उमा देवी खटीक की टिकट काटे जाने के बावजूद उनके दिल्ली में टिकट की आस में डेरा डाले रहने की रहने की खबर सामने आ रही है। इधर पथरिया से भाजपा विधायक लखन पटेल और जबेरा से पूर्व मंत्री और पूर्व प्रत्याशी  दशरथ सिंह का नाम पहली सूची में  नहीं आने से इनकी टिकट कटने के कयास बढ़ गए हैं। वहीं की जगह कौन मैदान में आएगा इसको लेकर भी अटकलें जारी हैं।
  अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट 

Post a comment

0 Comments