Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया ने पूर्व विधायक लखन पटेल एवं समर्थकों के साथ.. सीतानगर सिंचाई परियोजना तहत निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया.. निर्माण में हो रही देरी को लेकर अधिकारियों से चर्चा की.. ग्रामीणों किसानों की समस्याए सुनी..

पूर्व वित्तमंत्री ने सीतानगर सिंचाई परियोजना का निरीक्षण किया

दमोहअगले रबी फसलों के लिए सीतानगर सिंचाई परियोजना से सिंचाई प्रारंभ हो जायेगी, सतधरू का कार्य पहले चालू हुआ था सीतानगर का बाद में, सतधरू, सीतानगर, पंचम नगर, साजली, जूढ़ी,। सिंचाई परियोजना से जिले को लगभग 1 लाख 65 हजार हेक्टेयर भूमि पर सिंचाई की जा सकेगी, उक्त कथन पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया ने सीतानगर मध्यम सिंचाई परियोजना के निरीक्षण के दौरान कही। आज पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया ने दमोह में चल रही विभिन्न परियोजनाओं में से एक सीतानगर मध्यम सिंचाई एवं पेयजल परियोजना का निरीक्षण करने पहुचे थे।  उन्होंने डैम का निरीक्षण किया इसके पश्चात अधिकारियों के साथ चर्चा कर संपूर्ण जानकारी ली। और परियोजना निर्माण कार्य में हो रहे विलंब को लेकर अधिकारियों से चर्चा की। 

 इस डेम में खास बात यह है की 518.09 करोड़ की इस परियोजना से 400 गांव में पानी पहुंचेगा। इसमें पथरिया विधानसभा के 22 ग्राम और दमोह विधानसभा के 62 ग्राम को लाभ होगा।इस परियोजना के माध्यम से 16200 हैक्ट. भूमि पर सिंचाई की जा सकती है। इसकी क्षमता 65.88 एमसीएम है 
इस अवसर पर पूर्व विधायक लखन पटेल, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिंघाई, अखिलेश हजारी, बिहारीलाल गौतम, राजकुमार जैन, संतोष अठ्या, मनीष तिवारी, संतोष रोहित, इमलिया घाट सरपंच अजय लोधी, देवेंद्र राजपूत, अभिलाष मिंटू हजारी, नीलेश सिंघई, विशाल शिवहरे, रीतेश सोनी, जयपाल यादव, विजय जैन, विवेक अग्रवाल, गिरजा साहू, सुधा झारिया, श्यामा उरैती, रितु पांडेय, नरोत्तम पटेल, प्रीतम पटेल, द्वारका पटेल, विकास असाटी, अभिषेक शिवहरे, इस्लाम पठान, विकल्प जैन, सहीत बड़ी संख्या में लोगों की उपस्थिति रही।
 उल्लेखनीय है कि अपने कार्यकाल में पूर्व वित्त मंत्री मलैया ने जिले में लगभग 3000 करोड़ की कई सिंचाई और पेयजल परियोजना स्वीकृत कराई थी उन्हीं में से एक परियोजना सीतानगर सिंचाई परियोजना की है। जिससे करीब 400 गांव के लोगों को पीने का पानी मिलेगा 84 से अधिक गांव के लोगों को खेतों में सिंचाई का पानी उपलब्ध होगा। परियोजना निर्माण कार्य पूरा होने पर डैम में पानी पर्याप्त मात्रा में भराव होगा। उन्होंने बताया कि इस परियोजना को स्वीकृत कराने के लिए कई अड़चनें सामने आई थी लेकिन वह इस विभाग से जुड़े हुए थे जिससे उन्होंने दमोह के हित में सभी से स्वीकृति करा ली उन्होंने कहा कि आने वाला समय दमोह जिले वासियों के लिए खुशहाली का होगा।

Post a Comment

0 Comments