Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

सागर तेन्दूखेडा मार्ग पर टायर फटने से पिकअप पेड़ से टकराई, तीन घायल जबलपुर रेफर.. तेंदूखेड़ा में गमगीन माहौल में एक साथ तीन अर्थियां उठी.. पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली को लेकर ज्ञापन सौंपा.. प्रभारी मंत्री व जिला भाजपाध्यक्ष ने शोक संवदेनाए व्यक्त की, कलेक्टर ने सर्तक किया..

 टायर फटने से तेज रफ्तार पिकअप पेड़ से टकराई

दमोह। तेन्दूखेडा थाना क्षेत्र के अंर्तगत सागर जबलपुर स्टेट हाईवे 15 पर एक तेज रफ्तार छोटा पिकअप वाहन हादसे का शिकार हो गया जिसमें आधा दर्जन लोगों को मामूली चोटें आई है। वहीं तीन लोगों को उपचार के बाद जबलपुर रेफर किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार सुबह ब्लॉक के सिमरिया गांव के विश्वकर्मा परिवार की खारी लेकर नर्मदा जा रहे पिकअप वाहन का अचानक से चलती गाड़ी में आगे का टायर फटने से खाई में जाकर पेड़ से टकरा गया। 

उपनिरीक्षक प्रदीप चौधरी ने बताया कि सागर झलौन मार्ग पर नागबाबा के समीप एक वाहन खाई में घुस गया है जहां मौके पर पहुंचा तो वहां पर वाहन खाई में छतिग्रस्त हालत में पड़ा हुआ था। जब पिकअप वाहन में सवार लोगों की जानकारी लोगो द्वारा ली गई तो वह सभी लोग प्राइवेट वाहन से इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र निकल चुके थे। अस्पताल में सिर्फ तीन लोगो को लाया गया था जिन्हें 108 वाहन की मदद से हालत गंभीर होने पर तुरंत ही जबलपुर रेफर किया गया है जिनमें से खिलान पिता मुलायम विश्वकर्मा उम्र 18 वर्ष निवासी पटनयाऊ थाना तेजगढ़ प्रभु पिता मिठाई विश्वकर्मा उम्र 70 वर्ष निवासी पटनयाऊ थाना तेजगढ़ सूरज पिता धीरज विश्वकर्मा उम्र 65 वर्ष निवासी पटनयाऊ जिन्हे गंभीर हालत में मेडिकल कॉलेज जबलपुर रेफर किया गया है।
 तेंदूखेड़ा में गमगीन माहौल में उठी तीन अर्थियां..
 दमोह। तेंदूखेड़ा के नरगुवा जलाशय में नहाते समय पैर फिसल जाने के बाद एक दूसरे को बचाने के चक्कर में डूब गए तीन किशोरों की दुखद मौत के बाद आज पोस्टमार्टम उपरांत शव परिजनों को सौंपे गए।और इसके बाद बेहद गमगीन माहौल में तीन चिंताएं सजने के बाद तीनों का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया।  इस दौरान हजारों की संख्या में गमगीन लोगों ने नम आंखों के साथ तीनों बच्चों को अंतिम विदाई दी ।
यह तीनों बच्चे आयुष अकैडमी में कक्षा आठवीं में एक साथ पढ़ते थे। साइकिल से साथ में स्कूल आते जाते थे और अंत में साथ में ही दुनिया से विदा हुए। बुधवार शाम हुई तालाब में डूबने की हृदय विदारक घटना के प्रत्यक्षदर्शी बच्चे अभिषेक नामदेव ने बताया की खेलते खेलते हम सभी तालाब चले गये थे। वहा पर कपिल जैन तालाब में उतरने लगा उसी को पकड़ने राज और कल्प बचाने पहुचे तभी तीनो साथ मे गिर गये और ये हादसा हो गया। जिसके बाद अभिषेक ने साइकिल से घर आकर जानकारी दी। उसी बीच तालाब में कुछ युवा बैठे थे वह तत्काल बच्चो को बचाने तालाब में कूदे लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। शान्तिधाम में अंतिम संस्कार म़े पूर्व राज्य मंत्री दशरथ सिह लोधी, नगर परिषद अध्यक्ष सुरेश जैन, उपाध्यक्ष लक्ष्मी नामदेव सहित नगर के लोगों की बड़ी संख्या में मौजूदगी में अंतिम संस्कार किया गया है नम आंखों से श्रंद्धाजलि दी गई।
पुलिस प्रशासन कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान..
दमोह। तेंदूखेड़ा के समीप नरगुवा तालाब में तीन किशोरों के नहाते समय डूब जाने के बाद उनके बचाव हेतु तुरंत कोई इंतजाम करने में स्थानीय पुलिस प्रशासन के उदासीन बने रहने जैसे हालात सामने आए हैं जिसको लेकर आओ स्थानीय निवासियों में आक्रोश का माहौल है तथा लोग ढुलमुल पुलिस प्रशासनिक व्यवस्था पर सवाल उठाते नजर आ रहे हैं। इन सब हालातो को लेकर कलेक्टर के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा गया है।
 ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि बुधवार दिनांक 17 अगस्त 2022 को निष्क्रिय प्रशासन की मूकदर्शिता के चलते समय से ना पहुंचने एवं दुर्घटना स्थल पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम ना होने के चलते तीन मासूमों की नरगुवा तालाब में डूबने से दर्दनाक मौत हो गई। प्रशासन की लापरवाही के चलते पूर्व में भी कई हादसों में लोगों की जानें जा चुकी है बीते माह इसी तरह सड़क हादसे में तीन व्यक्तियों की दुर्घटना हुई थी जिसमें 2 व्यक्तियों ने तत्काल एवं डायल 100 , पुलिस व एंबुलेंस समय पर नहीं पहुंचने के कारण आधे घंटे तक तड़पते हुए तीसरे व्यक्ति को अपनी जान गवानी पड़ी। पर प्रशासन की चुप्पी है कि टूटती ही नहीं। महोदय पुलिस प्रशासन का मुंह केवल आमजन की मामूली गलतियों पर मां और बहन की अश्लील गालियों के लिए खुलता है बाँकी रोज होने वाले हादसों पर प्रशासन को लकवा मार गया है। दुर्घटना स्थल से फोन पर तत्काल सूचना के बावजूद 2 घंटे बाद पहुंची पुलिस के पास बोट ( नाव ) , लाइफ जैकेट यहां तक कि तैराक भी नहीं था वही नगर वासियों ने सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचकर बिना किसी सुरक्षा इंतजाम के अपनी जान की परवाह किए बगैर तालाब में कूद कर 2 शवों को बाहर निकाला एवं स्वयं के वाहनों से अस्पताल पहुंचाया। वहीं जब 2 घंटे बाद तीसरा शव निकालते वक्त पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन एक भी पुलिस वाले ने पानी में अंदर जाकर शव निकालने की हिमाकत नहीं की बल्कि अफसरी रवैया झाड़ते हुए मौका स्थल से वापस आ गए पुलिस प्रशासन की नकली दुरुस्तता एवं निष्क्रिय कार्यशैली किसी से छिपी नहीं है । 
महोदय करोड़ों रुपए खर्च होने के बावजूद तालाब प्रबंधन ने आज तक घटनास्थल पर सुरक्षा के लिए कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किया है , लोगों के मुताबिक तालाब की देखरेख के लिए एक चौकीदार रखा हुआ है जो स्वयं मौका स्थल से नदारद था। आए दिन तालाब के पास चौकीदार एवं तालाब प्रशासन की नाक के नीचे पिकनिक के नाम पर दारु खोरी, जुआ एवं अवैध मछली मारने का कार्य होता है, जिस के संबंध में आज तक किसी भी व्यक्ति से प्रशासन अथवा चौकीदार के द्वारा रोक टोक नहीं की गई। अंततः प्रबंधन की लापरवाही के चलते 3 अबोध मासूम बालक असमय काल के गाल में समा गये। महोदय आकस्मिक हुई इस घटना से हम सभी नगर वासी स्तब्ध है एवं करबद्ध विनम्र निवेदन करते हैं कि नगर की समस्त मूक एवं निष्क्रिय पुलिस प्रशासन एवं तालाब प्रबंधन पर तात्कालिक एवं पूर्व में हुई घटनाओं को लेकर सख्त से सख्त कार्यवाही करते हुए पानी में डूब कर होने वाली मौतों के लिए होने वाले उचित प्रावधान के अंतर्गत मृतक बालकों के परिवारजनों को शीघ्र ही उचित मुआवजे की घोषणा की जावे। एवं भविष्य में इस प्रकार की कोई भी अप्रिय घटना ना दोहराने पाए इसके लिए तालाब के पास तत्काल वैकल्पिक व्यवस्था एवं शीघ्र ही उचित सुरक्षा के इंतजाम के साथ एंबुलेंस एवं पुलिस की कार्यशैली को दुरुस्त किया जावे ।  विशाल रजक रिपोर्ट
 प्रभारी मंत्री, जिला भाजपाध्यक्ष ने शोक जताया..
दमोह। प्रदेश के राजस्व तथा परिवहन एवं जिले के प्रभारी मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने जिले में अलग.अलग जल सरोवरों में डूबने से 6 किशोरों की जल समाधि का समाचार प्राप्त होने पर शोक संवेदनाएं व्यक्त की हैं। उन्होंने सभी से बारिश के समय नदी नाले तट उफान पर होने पर सावधानी बरतने का आग्रह किया हैं। 
 इधर जिला भाजपा अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी ने भी पानी में डूबने की घटनाओं में 6 मासूमों की मौत पर दुख जताते हुए इस तरह की घटना का पुनरावृति न हो और भावुकता भरी उम्र के बच्चों पर ध्यान देने ले लिए भावुक अपील करते हुए कहा कि मैं स्तब्ध हूं देश के बहुमूल्य भविष्य को इस तरह खोना नहीं चाहता हूं सभी पालकों से अनुरोध करता हूं कि बच्चों को समय दें और उनकी दिनचर्या की जानकारी रखें, बच्चें खेलने घूमने की आजादी तो चाहते पर हमारी भी जिम्मेदारी है कि किशोरावस्था में प्रदान की गई स्वतंत्रता भी नियंत्रण में हो। भाजपा के मीडिया प्रभारी राघवेंद्र सिंह परिहार  ने कहा कि आज नैतिक मूल्यों की नितांत आवश्यकता है मोबाइल के नकारात्मक प्रभाव भी सामने आ रहे है पढ़ने की उम्र में बच्चें इनसे बचें और अधीन रहे जिससे इस तरह की दुखद घटनाओं का सामना परिवार और समाज को न करना पड़े।
 बच्चें जल संरचनाओ के पास न जाये. कलेक्टर
दमोह।  जिले में लगातार वर्षा हो रही है और जल संरचनाओ.तालाबों और जलाशयों में काफी मात्रा में जल भराव हो गया है। कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य ने जिले के निवासियों से आग्रह किया है कि वे स्वयं और अपने परिजनो तथा बच्चों को प्रेरित करे इन क्षेत्रो में न जाये। उन्होंने कहा जल का भराव.गहराई देखकर अंदाजा नही लागया जा सकता है। अतः इनसे दूर रहने तथा आसपास न जाने की समझाइश दी जायें।
 कलेक्टर ने बताया कल जल संरचनाओं में डूबे किशोरो के परिजनो को आरबीसी.4 के तहत सहायता दिये जाने प्रकरण तैयार कर सहायता परिजनो को दी जायेगी। इस संबंध में एसडीएम गगन विसेन ने बताया फोरीतोर पर परिजनो को 10.10 हजार रूपये की सहायता रेड क्रास से दी जा रही है।

Post a Comment

0 Comments