Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

पीजी कॉलेज के लिपिक का शव अवकाश के दिन संदिग्ध हालात में लाइब्रेरी रूम में फांसी पर झूलता मिला.. सुसाइड नोट में किया प्रताड़ित करने वालों के नाम का खुलासा.. इधर वन विभाग के बीट गार्ड के बगीचे से.. लाल पट्टी वालो ने गांजे के तीन पेड़ जब्त करवाए..

 लिपिक ने सोसाइट नोट लिखकर फांसी लगाई

दमोह। नगर में संचालित सरकारी कॉलेजों में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है आए दिन चर्चाओं में आने वाले मामलों को उच्च अधिकारियों द्वारा नजरअंदाज कर दिए जाने के हालात सामने आते रहे हैं वही आज एक लिपिक द्वारा पीजी कॉलेज के लाइब्रेरी रूम में फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर लिए जाने का दुखद घटनाक्रम सामने आया है। जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है।



पितृ मोक्ष अमावस्या के अवकाश के दिन कॉलेज की लाइब्रेरी में फांसी लगाकर खुदकुशी के पूर्व लिपिक द्वारा एक सुसाइड नोट लिखकर अपनी मौत के लिए जिम्मेदार लोगों के नामों का खुलासा करते हुए व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर भी उल्लेख किया है। जिसकी यदि निष्पक्षता से जांच कराई जाती है तो  चौंकाने वाले खुलासे भी सामने आ सकते हैं। मूल रूप से बमनी पटेरा तथा जटाशंकर कालोनी निवासी लिपिक चतुर सिंह उईके ने मौत को लेकर परिजनों को किसी प्रकार से परेशान नहीं किए जाने का उल्लेख भी सुसाइड नोट में किया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शासकीय ज्ञान चंद श्रीवास्तव स्मृति महाविद्यालय में ग्रेड 3 के लिपिक चतुर सिंह उईके का शव कालेज के ई लाइब्रेरी रूम में फांसी के फंदे पर लटकते मिलने की खबर पर बुधवार शाम कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू की। इस दौरान पुलिस के हाथ एक सोसाइट नोट भी लगा है जिसमें मृतक के द्वारा जीपी अहिरवार एवं रमेश अहिरवार के नाम लिखकर प्रताड़ना के आरोप लगाए हैं। 

कर्मचारी के फांसी लगा लेने की जानकारी लगने पर प्राचार्य के केपी अहिरवार सहित कालेज का स्टाफ भी पहुंच गया था। वही मृतक के परिजनों के पहुच जाने के बाद पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई करते हुए शव को फंदे से उतरवा कर शव गृह में रखवा दिया है। मामले में विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा की जा रही है वही पूरे मामले को लेकर यदि पुलिस गहराई व निष्पक्षता से जांच कार्रवाई करती है तो अनेक चौंकाने वाले खुलासे सामने आ सकते हैं।

बन चौकी फतेहपुर में वीट गार्ड प्रकाश दुबे के बगीचे से गांजे के पेडो को संगठन ने जप्त कराया..

दमोह। भगवती मानव कल्याण संगठन ने नशा विरोधी जन आंदोलन तहत मगरोन थाना के फतेहपुर चौकी से चंद दूरी पर वन चौकी मे निवासरत वीट गार्ड प्रकाश दुवे के घर के पीछे फुलहारी बगिया मे लगे गांजे के पेड़ो को पकड़वाने की कार्यवाही संगठन के सक्रिय सदस्यों द्वारा की गई है। सोशल मीडिया पर गांजे की खेती का एक वीडियो वायरल होने के बाद सक्रिय हुई स्थानी कार्यकर्ताओं की टीम द्वारा यह कार्यवाही करवाई गई है।

 संगठन कार्यकर्ताओं द्वारा इसकी जानकारी मगरोन थाना प्रभारी मनोज यादव व एसआई पूर्णानंद मिश्रा, फतेहपुर चौकी प्रभारी नागेंद्र सिंह परिहार, प्रधान आरक्षक शैलेंद्र सिंह राजपूत, आरक्षक नवल डावर  सहित मौके पर पहुंचे मौके से तीन गांजे के पेड जप्त किये गये है। तीनो पेडो की लंवाई लगभग पांच से छ फुट बताई जा रही है। जिसका वजन लगभग 15 किलो से लेकर 20 किलो बताया जा रहा है। पुलिस ने गांजा व आरोपी प्रकाश दुबे वीट गार्ड को गिरफ्तार कर करके कार्रवाई किए जाने की जानकारी सामने आई है।

Post a Comment

0 Comments