Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

चुनाव आचार संहिता मैं भी बेखौफ सज रहे है जुआ फड़.. दमोह में समाजसेवी के जुआ फड़ पर पुलिस की नजरें इनायत इधर मगरोन क्षेत्र में जिले के बाहर के जुआड़ियों की लंबे समय से सज रही हे महफिल.. सभी मामलों में पुलिस की अनदेखी आश्चर्यजनकं..

 चुनाव आचार संहिता मैं भी बेखौफ सज रहे है जुआ फड़.. 

दमोह। विधानसभा उपचुनाव की आचार संहिता पूरे जिले भर में लागू है इधर कोरोना संक्रमण के मामले भी लगातार सामने आ रहे हैं। स्थानीय पुलिस की दोहरी अनदेखी के चलते जहां गार्डलाइन क्षेत्र में समाज सेवी का जुआ फड़ जहा पूरे शबाब पर है वही कोरोना काल मे सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ने के साथ बिना मास्क सैनिटाइजर के अभाव में रोज नए कोविड मरीज यह जुआ फड़ परोस रहा है। 

दमोह कोतवाली अंतर्गत गार्डलाइन क्षेत्र में लंबे समय से संचालित समाजसेवी का जुआ फड़ चुनाव आचार संहिता में भी धड़ल्ले से संचालित हो रहा है। इसकी जानकारी क्षेत्र के बच्चे बच्चे को है। फिर भी पुलिस की नजरें यहा पर क्यों मेहरबान बनी हुई है ? पुलिस के अधिकारी यहां पर छापामार कार्रवाई क्यों नहीं कर रहे हैं ? क्या इसके लिए भी सुप्रीम कोर्ट को दिशा निर्देश देना पड़ेंगे ? इस बात को लेकर सोशल मीडिया पर भी अब कमेंट किए जाने लगे हैं। गार्ड लाइन के अलावा, पुराना थाना क्षेत्र, तीन गुल्ली, पाश कालोनी इलाके से लेकर नव गजा पहाड़ तक पर जुआरियों की महफिले बड़े स्तर पर सज रही है। 

इसी तरह मगरोंन थाना क्षेत्र में अंतर जिला स्तरीय जुआड़ियों का समागम लंबे समय से हो रहा है। पहले हटा मड़ियादो आदि क्षेत्रों में लाखों का दांव लगाने आते रहे यह जुआरी करीब तीन महीने से स्थानीय पुलिस और हटा के अधिकारियों की कृपा दृष्टि से जहां मगरोन क्षेत्र में धड़ल्ले से दांव लगाने में मग्न है वही प्रतिदिन के हिसाब से पुलिस के पास अच्छी खासी रकम पहुंचने की खबर भी सामने आ रही है शायद यही वजह है ऊपर वाले अधिकारी जानबूझकर अनजान बनने की कोशिश कर रहे हैं। विस्तृत विवरण के साथ पूरी अपडेट के साथ जल्द मिलते हैं.. पिक्चर अभी बाकी हैं

Post a comment

0 Comments