Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

दमोह विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस की जबरदस्त वापसी के बावजूद.. मुख्यमंत्री के दमोह के आगमन के दौरान.. पूर्व मंत्री मुकेश नायक की बीजेपी में एंट्री की तैयारी क्यों रुकी.. क्या नायक की बीजेपी में एंट्री की स्क्रिप्ट तभी लिख गई थी जब छोटे मलैया मचल रहे थे..

पूर्व मंत्री मुकेश नायक की बीजेपी में एंट्री होते होते क्यों रुकी.. 

दमोह। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा की जोड़ी एक महीने बाद हेलीकॉप्टर से एक बार फिर दमोह आ रही है लेकिन इस बार चुनावी बेला के साथ चुनाव आचार संहिता के अंकुश के चलते कोई घोषणा या शिलान्यास तो नहीं हो सकेगा लेकिन बीजेपी में कांग्रेस के पुराने नेताओं की एंट्री की बड़ी तैयारी जरूर की गई है। जिसकी वजह कांग्रेस द्वारा एक जुटता के साथ अजय टंडन के रूप में मजबूत प्रत्याशी देकर उपचुनाव में जबरदस्त वापसी करना कहा जा सकता है।


कांग्रेस की एकजुटता में सेंध लगाने के लिए मुख्यमंत्री के दमोह आगमन के मौके पर पूर्व मंत्री मुकेश नायक और उनके समर्थकों को भाजपा में शामिल किए जाने की तैयारी करीब एक सप्ताह से चल रही थी परंतु ऐन मौके पर पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं की आपत्ति के चलते मुकेश नायक का भाजपा में शामिल होना फिलहाल टल गया है। हालांकि उनके छोटे भाई सतीश नायक और समर्थक बिल्लू बाधवा सहित सौ से अधिक लोगों को भाजपा में शामिल करने की तैयारी 30 मार्च को की गई है। इसके लिए बाकायदा होली आमंत्रण पंपलेट सतीश नायक द्वारा छुपाया गया है जिसमें मुख्यमंत्री और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष उनके निवास पर आने की जानकारी देकर सभी को आमंत्रित भी किया गया है। 

सूत्रों का कहना है कि नायक को भाजपा में लाने की यह स्क्रिप्ट करीब महीने भर पहले तभी लिखी जाने लगी जाने लगी थी जब छोटे मलैया मुख्यमंत्री की घोषणा के बावजूद भाजपा टिकट के लिए मचलते नजर आ रहे थे। एक के बाद एक प्रेस कॉन्फस बुला कर भाजपा प्रत्याशी राहुल सिंह को टेंशन में डाल रहे थे। वही उनके निर्दलीय रूप में चुनाव मैदान में उतरने की अटकलें भी लगाई जा रही थी। ऐसे में मलैया की काट के तौर पर नायक को भाजपा में शामिल करने की रणनीति पर पार्टी के बड़े नेताओं के इशारे पर काम शुरू कर दिया था। 

इसकी कमान भाजपा प्रत्याशी राहुल सिंह के चचेरे भाई और  नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष और मलहरा विधायक प्रदुमन सिंह को सौंपी गई थी।  प्रदुमन सिंह ने श्री नायक से लगातार मुलाकात कर उन्हें भाजपा में शामिल कराने की रणनीति पर कार्य करते हुए उन्हें लगभग तैयार कर लिया था।
इस बीच कांग्रेस द्वारा अजय टंडन को दमोह विधानसभा उपचुनाव के लिए प्रत्याशी घोषित कर दिया गया।
इधर अजय टंडन की नाम की घोषणा के साथ कांग्रेसियों में जबरदस्त उत्साह का माहौल देखने को मिलने लगा उधर भोपाल से लौटे वरिष्ठ भाजपा नेता पूर्व मंत्री जयंत मलैया के अलावा उनके बेटे सिद्धार्थ मलैया ने पार्टी के आदेश को शिरोधार्य करने की घोषणा करते हुए पार्टी प्रत्याशी राहुल सिंह को जिताने का ऐलान कर दिया।
जिसके बाद तस्वीर लगभग साफ हो चुकी थी। इधर मुकेश नायक की भाजपा में एंट्री की खबर कैबिनेट मंत्री गोपाल भार्गव से लेकर पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया और जयंत मलैया तक पहुंचने के बाद नायक की भाजपा में एंट्री को रोकने के लिए बड़े स्तर पर लाविंग शुरू हुई। शायद इसी का नतीजा है कि 30 मार्च को मुख्यमंत्री के दमोह आगमन पर मुकेश नायक कि भाजपा में एंट्री को लेकर भाजपा के अंदर ही दो धड़े बन गए फॉरेन मौके पर मुकेश का भाजपा में प्रवेश टाल दिया गया।

 इधर सोशल मीडिया पर नायक की भाजपा में शामिल होने की जानकारी वायरल होते हैं काग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन ने उन्हें मनाने का प्रयास शुरू कर दिया। हालांकि उनके भाई और कुछ समर्थक भाजपा में मुख्यमंत्री के समक्ष शामिल हो रहे हैं। कुल मिलाकर नामांकन प्रक्रिया के दौर में जिस तरह से कांग्रेसियों में उत्साह का माहौल बना हुआ है उसे देख कर कहा जा सकता है कि भाजपा के पास अब कांग्रेसियों को पार्टी में शामिल करने के अलावा और कोई विकल्प बचता हुआ नजर नहीं आ रहा है। 

केंद्रीय मंत्री और दमोह सांसद प्रहलाद पटेल भी अपने खास सिपहसालार राहुल सिंह की नैया पार लगाने गर्मी में दिन रात एक कर रहे हैं। इसके बावजूद कठिन डगर पनघट की जैसा माहौल बना हुआ है। क्योंकि कांग्रेसियों को भाजपा में एंट्री देना भले ही आसान हो लेकिन घर बैठे भाजपाइयों को मनाना आने वाले दिनों में भाजपा संगठन के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन सकता है.. पिक्चर अभी बाकी है..राजेन्द्र अटल

Post a comment

0 Comments