Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

तीनों नए कृषि कानूनों के विरोध तथा किसानों की समस्याओं को लेकर.. इमलिया घाट में कांग्रेस का ट्रैक्टर रैली के साथ धरना प्रदर्शन.. पूर्व विधायक राहुल सिंह के अंगद के पैर वाले बयान पर कटाक्ष करते हुए लगाए अनेक गंभीर आरोप..

 इमलियाघाट में ट्रेक्टर रैली के साथ धरना प्रदर्शन..

दमोह। जिला कांग्रेस कमेटी के तत्वाधान में इमलियाघाट मंडल सेक्टर द्वारा आयोजित विशाल किसान आंदोलन में अनेकों पंचायतों में ट्रेक्टरों एवं वाहनों से आये किसानों ने केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा किये जा रहे देशव्यापी आंदोलन के समर्थन में जोरदार विरोध प्रदर्शन किया गया।  काले कानून को वापिस लिये जाने की मांग को लेकर ज्ञापन महामहिम राष्ट्रपति के नाम तहसीलदार एवं इमलिया चोकी प्रभारी को सौंपा गया।

जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टंडन ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि दमोह विधायक कहते थे अगद का पैर हिलेगा नहीं किंतु 40 करोड़ लेने के बाद उठ गया। वह तो मां नर्मदा मैया से लेकर काॅवर यात्रा चुनरी यात्रा, भगवान भोलेनाथ को मानने वाला धार्मिक व्यक्ति है। किंतु वह हमारी धार्मिक अस्थाओ से खेलने वाला व्यक्ति निकला।  पूर्व मंत्री राजा पटैरिया, पूर्व विधायक प्रताप सिंह, रतनचंद जैन, सतीश जैन, मनु मिश्रा, लक्षमण सींग पथरिया, मानक पटेल, परम यादव, ललित नायक, लालचंद राय, सोनू जैन, रोहन पाठक, गौरव पटैल, तिलक सींग, योगेश सराफ, बृजेन्द्र सिंह, अमर सींग, जुगराज सींग, यशपाल राजपूत, नितिन मिश्रा, वीरेन्द्र ठाकुर, सुदामा दुबे, राजा राय, मंजीत यादव, अभिषेक डिम्हा, शुभम तिवारी ने भी अपने उद्बोधन में कहा कि एक तरफ मोदी जी मन की बात करते है दूसरी तरफ किसानों के मन की बात को अनसुना कर रहे है अब तक किसान आंदोलन में 66 किसानों का असमय निधन हो गया लेकिन सरकार बातचीत ही करने में लगी है तो न्यायोचित नहीं है।

 कमला निषाद, अमीता सिंह, विक्रम ठाकुर, जया ठाकुर, रजनी ठाकुर, संध्या नायक, हेमंत पटेल, भीम नामदेव, अजय सरवरिया, राजकुमार लोधी, हरिराम ठाकुर, पवन यादव, वीरेन्द्र चैबे, प्रफुल्ल श्रीवास्तव, राजा रौतेला, मिक्की चंदेल, अमित नामदेव, छुन्ना शर्मा, अनिल जैन, प्रजु यशोधरन, सतीश दुबे ने भी इमलिया घाट में सैकड़ो टेªक्टरों के साथ खर्राघाट के बाजार में रैली निकालते हुए पैदल मार्च करते हुए उपस्थित ग्रामवासियों से निवेदन किया कि भाजपा सरकार में जिस तरह बिजली के मनमाने बिल कटौती पेट्रोल डीजल के दामों में दिनों दिन बढ़ोत्तरी प्रत्येक खाद्य वस्तु पर बढ़ती महंगाई समय पर गांवों में ट्रांसफार्मरों का न रखा जाना के खिलाफ यह आंदोलन है। प्रफुल्ल श्रीवास्तव की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments