Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सावधान दमोह में सक्रिय है बाहरी चोर बदमाश.. जबलपुर रोड पर दिन दहाड़े शिक्षिका का बैग लूटने वाले सतना के बदमाशों को सागर रोड पर गढ़ाकोटा पुलिस ने पकड़ा..कल उड़ीसा के गांजा तस्कर दमोह में पकड़े गए थे..

  शिक्षिका का बैग लूटने वाले सतना के बदमाश निकले

दमोह। दमोह जिला बाहरी बदमाशों जुआ सट्टा खेलने खिलाने वालों, हथियार, गांजा तस्करों के लिए स्वर्ग साबित हो रहा है। पुलिस द्वारा की जाने वाली कार्रवाई के बावजूद इस तरह के असामाजिक तत्वों की आवाजाही और गतिविधियों पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। शहर में लगातार चोरियों की बारदात हो रही है कोतवाली पुलिस दर्ज रिपार्टो से अधिक दलालों के शिकायती आवेदनों को तब्बजों देकर व्यापारी दुकानदारों को परेशान करने का कोई अवसर नहीं छोड़ रही है। 

फिलहाल हम बात कर रहे है जबलपुर नाका क्षेत्र में एक शिक्षिका का बैग छीन कर भागे बदमाश लुटेरों के सागर रोड पर गढ़ाकोटा पुलिस द्वारा पकड़े जाने की। गुरुवार को अपने घर से स्कूल जाने के लिए बस सड़क पर पहुची जबलपुर नाका शक्तिनगर क्षेत्र निवासी शिक्षिका शशि ठाकुर के कंधे पर टँगे हैंडबैग को झपट्टा मारकर दो बाइक सवार युवक पलक झपकते नौ दो ग्यारह हो गए थे। जिसकी रिपोर्ट जबलपुर नाका चैकी में दर्ज कराई गई थी।  

घटना के बाद सागर रोड पर भागे बाइक सवार बदमाशों को दमोह सीएसपी अभिषेक तिवारी की सूचना पर   गढ़ाकोटा थाना पुलिस ने टीआई प्रशांत मिश्रा के नेतृत्व में वाहनों की जांच के दौरान पकड़ने में सफलता हासिल की। तीनो बदमाश सतना जिले के निवासी है इनके नाम सोनू उर्फ लक्ष्यदीप त्रिपाठी, भावेश लोहाटी तथा अनुज पांडे बताए गए हैं। यदि इन बदमाशों के दमोह में संपकों तथा पूर्व की गतिविधियों की जांच साइवर सेल की मदद से कराई जाए तो अन्य मामलों के खुलासे की भी उम्मीद की जा सकती है।  

आरोपियों के गढ़ाकोटा पुलिस द्वारा पकड़े जाने के बाद दमोह पुलिस द्वारा जारी किए गए प्रेस नोट में इसे दमोह पुलिस की बड़ी सफलता बताते हुए चंद घंटों में आरोपियों के पकड़े जाने का हवाला दिया गया है। इनकी गिरफ्तारी में गढ़ाकोटा टीआई प्रशांत मिश्रा, दमोह कोतवाली टीआई एचआर पांडे, देहात थाना प्रभारी श्याम बैंन और उनकी टीम के अलावा साइबर सेल की खास भूमिका बताई गई है। इनके पास से शिक्षिका के बैग मैं रखी नगदी 5400े रुपए, मोबाइल के आलवा  मिर्ची धनिया पाउडर तथा पल्सर बाइक बरामद किए जाने की जानकारी भी प्रेस नोट में दी गई है। ऐसे में सवाल यह भी उठता है कि तीनों बदमाशों के पास स्व्यं के मोवाईल, नगदी आदि की जब्ती का जिक्र पुलिस के प्रेस नोट में क्यों नहीं किया गया ?

बाहरी बदमाशों की दमोह जिले में सक्रियता का पहला मामला नहीं है। कल ही उड़ीसा दे दो गांजा तस्करों को कोतवाली पुलिस ने पकड़ा था। वही जबलपुर पुलिस आए दिन दमोह से हथियार तस्करों को पकड़ कर ले जा रही है इधर अन्य जिलों से जुआ खेलने वाले लोग दमोह में लगातार आ रहे हैं पिछले दिनों मडियादो थाना क्षेत्र में चार थानों की पुलिस द्वारा दी गई दबिश और पकड़े गए बाहरी लोगों से इस बात की पुष्टि होती है कि जिले में बाहरी बदमाश कुछ अधिक ही सक्रिय है। वही शहर में संचालित समाजसेवी के जुआ फड़ के अलावा अन्य फड़ो खासकर बांसा के जुआ फड़ पर बाहरी तत्वों की आवाजाही किसी से छिपी नहीं है। मामले और भी है जिनका एक बार में उल्लेख करना संभव नहीं है.. पिक्चर अभी बाकी है..

Post a comment

1 Comments

  1. दमोह के चोर भी शामिल होंगे पुलिस को शक्ति दिखानी होगी पूछताछ में

    ReplyDelete