Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

शॉर्ट सर्किट या साजिश..! एसबीआई नरसिंहगढ़ में भड़की भीषण आग से महत्वपूर्ण दस्तावेज कंप्यूटर फर्नीचर जलकर खाक.. मायसेम (डायमंड सीमेंट) की फायर बिग्रेड के बिगड़ने पर भी स्थानीय निवासी उठा उठे रहे सवाल..

 आग से महत्वपूर्ण दस्तावेज कंप्यूटर फर्नीचर खाक.. 

दमोह। जिला मुख्यालय से 20 किलोमीटर दूर सीमेंट नगरी नरसिंहगढ़ में संचालित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में धुआ निकलने से शुरू हुई आग मौके पर पहुची मायसेम सीमेंट की फायर बिग्रेड के काम नहीं करने की वजह से देखते ही देखते भीषण आग में तब्दील हो गई। बाद में जब इमलाई तथा दमोह से दूसरी फायर बिग्रेड पहुंची और आग पर काबू पाया गया तब तक लाखों का नुकसान हो चुका था। अनेक महत्वपूर्ण दस्तावेज कंप्यूटर फर्नीचर आदि जलकर खाक हो चुके थे।

नरसिंहगढ़ क्षेत्र में संचालित भारतीय स्टेट बैंक की महत्वपूर्ण ब्रांच में से धुआ निकलने की जानकारी स्थानीय निवासियों के अलावा बैंक के स्थानीय कर्मचारियों को सुबह 9 बजे करीब लग गई थी। तत्काल ही पुलिस को सूचना दिए जाने और कुछ देर बाद डायमंड सीमेंट की फायर बिग्रेड के मौके पर पहुंच जाने के बावजूद फायर बिग्रेड के काम नहीं करने से देखते ही देखते आग ने विकराल स्वरूप धारण कर लिया। धुंए की जगह आग के गुबार उठने लगे तथा मौजूद दमकल कर्मी अन्य लोगों की तरह तमाशाई बने रहे। बाद में इमलाई, पथरिया तथा दमोह से फायर बिग्रेड पहुंची। तब कहीं जाकर 2 घंटे में आग पर काबू पाया जा सका लेकिन तब तक बैंक के अंदर का अधिकांश सामान जलकर खाक हो चुका था।

आगजनी की इस घटना की वजह महज अग्नि दुर्घटना है या फिर कोई सोची समझी साजिश ? इसका पता तो पुलिस जांच के बाद ही लग सकेगा लेकिन फिलहाल बैंक के फील्ड ऑफिसर योहान जामरा और क्षेत्रीय प्रबंधक नवीन ओसवाल शॉर्ट सर्किट की वजह से या दुर्घटना होने की आशंका जता रहे हैं तथा क्या नुकसान हुआ यह नहीं बता पा रहे हैं। लेकिन जिस तरह से एसबीआई ब्रांच के चैनल गेट से धुआं निकलने की खबर जंगल में आग की तरह फैलने के बाद सैकड़ों लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई उसके बाद आग को काबू पाने के लिए सार्थक प्रयास किए जाने में हुआ विलंब क्षेत्र में अग्नि दुर्घटना रोकने के लिए सुरक्षा इंतजामों की पोल खोलता नजर आया। वही नागरिकों के बीच तरह-तरह की चर्चाओं को भी जन्म देता रहा। मामले की विस्तृत पड़ताल के साथ जल्द मिलते हैं शकील मुहम्मद की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments