Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

तेंदूखेड़ा जबलपुर रोड के एक्सीडेंटल पॉइंट पर.. जेसीबी से लोड दुर्घटनाग्रस्त ट्राला फिर बना हादसे की बजह.. ट्रक की टक्कर से यात्री बस सड़क से उछलकर खाई में जाकर पलटी.. डेढ़ दर्जन से अधिक घायल, पांच गंभीर जबलपुर रेफर..

 ट्रक की टक्कर से बस खाई में गिरी, 5 जबलपुर रेफर..

दमोह जिला मुख्यालय से करीब 60 किमी दूर तेंदूखेड़ा के नरगुवा एक्सीडेंटल पॉइंट पर जहां कल जेसीबी मशीन से भरा ट्राला ब्रेक फेल होने से दुर्घटनाग्रस्त हुआ था इसी स्थान पर ट्रक और बस के बीच जोरदार भिड़ंत में बस सड़क से उतरकर खाई में पलट गई। हादसे के बाद देर तक जाम के हालात बने रहे वही गंभीर रूप से घायल पांच लोगों को जबलपुर रेफर किया गया है। जबकि दर्जन भर से अधिक लोगों का तेंदूखेड़ा में इलाज चल रहा है।

 सोमवार की सुबह तेन्दूखेड़ा मूख्यालय से 4 किमी दूर जबलपुर मार्ग पर तारादेही सैलवाड़ा बालाजी कंपनी की बस नरगुवा घाट पर जेसीबी से दुर्घटनाग्रस्त ट्रक से बाधित स्थान पर एक अन्य ट्रक से टकराकर खाई में जाकर पलट गई। दरअसल यहां पर पहले से दुर्घटनाग्रस्त खड़े जेसीबी ट्राली की वजह से आधा सड़क मार्ग बाधित था। इसी दौरान बस क्रमांक एमपी 34पी-0195 और ट्रक क्रमांक एमपी 06-जीए 2100 के बीच क्रॉसिंग के दौरान सड़क नहीं छोड़ने को लेकर भिड़ंत हो गई। 

जिससे अनियंत्रित बस खाई में पलट गई। बस में सवार  डेढ़ दर्जन से यात्री घायल हो गए।  पांच लोगो की गंभीर हालत को देखते हुए जबलपुर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। वही दोनों वाहनों के चालक मौके का फायदा उठाकर फरार हो गए हैं। एक्सीडेंट की सूचना मिलते ही 100 डायल पुलिस व  तेंदूखेड़ा थाना प्रभारी टीआई संधीर चैधरी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। जहां खुद के वाहन से घायलों के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आए वही अन्य लोगों को एंबुलेंस की मदद से घायलों को स्वास्थ्य केंद्र तेंदूखेड़ा ले जाया गया जा घायलों का उपचार जारी है। 
 प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार दुर्घटना की वजह कल से यहां पर खड़ा पहले से दुर्घटनाग्रस्त जेसीबी मशीनों से लोड ट्रक बताया गया है। जिसके कारण मार्ग से आने वाले वाहन चालकों को आमने सामने कुछ भी नहीं दिखाई दिया।  रफ्तार पर अंकुश नहीं लगा पाए और बस और ट्रक की भिड़ंत हो गई। यदि यहां पहले से संकेतक आदि लगाकर सावधानी बरती जाती और निकलने वाले वाहनों की रफ्तार कम होती शायद यह हादसा टल सकता था। तेंदूखेड़ा से विशाल रजक की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments