Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सागर लोकायुक्त की टीम ने टीकमगढ़ जिले में एसबीआई के फील्ड ऑफिसर और चपरासी को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा.. अंत व्यवसायी योजना तहत मंजूर लोन की दूसरी क़िस्त दो लाख रूपये निकालने मांगी गई थी रिश्वत..

लोकायुक्त का एसबीआई के फील्ड ऑफिसर और चपरासी पर शिकंजा
टीकमगढ़। भारतीय स्टेट बैंक के एक फील्ड ऑफिसर को अन्तव्यवसायी योजना के तहत स्वीकृत लोन की दूसरी किस्त निकालने के एवज में दस हजार की रिश्वत लेना महंगा पड़ गया। सागर लोकायुक्त की टीम ने शुक्रवार को बैंक के फील्ड ऑफीसर तथा चपरासी को ₹10000 की रिश्वत लेते हुए पकड़ने के बाद के भ्रष्टाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई की है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार देवेंद्र कुमार अहिरवार निवासी ग्राम राजेन्द्र नगर तहसील मोहनगढ़ जिला टीकमगढ़ ने सागर लोकायुक्त को शिकायत दी थी कि स्टेट बैंक दिगौड़ा के फील्ड आफिस महेंद्र सिंह मीणा के द्वारा अंत व्यवसायी योजना के तहत स्वीकृत हुये लोन की दूसरी क़िस्त दो लाख रुपये निकलने के एवज में 10000/-रुपये रिश्वत की मांग की जा रही है। जिसके बाद लोकायुक्त टीम ने अपना जाल बिछाते हुए शुक्रवार को रिश्वतखोर फील्ड ऑफिसर महेंद्र सिंह मीणा और बैंक के चपरासी राकेश केवट निवासी नदी धेरक दिगौड़ा टीकमगढ़ को रिश्वत की रकम के साथ रंगेे हाथों पकड़ने मेंं सफलता हासिल की।

 रिश्वत की रकम स्टेट बैंक शाखा दिगौड़ा के बाहर चपरासी के माध्यम से ली गई थी। कार्रवाई करने वाली टीम में लोकायुक्त डीएसपी राजेश खेड़े, निरीक्षक अभिषेक वर्मा एवं केएल कर्चुली,आरक्षक यशवंत सिंह, संतोष गोस्वामी, सुरेन्द्र सिंह, अजय छेत्री विक्रम सिंह, आशुतोष व्यास शामिल रहे। लोकायुक्त द्वारा दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करके भ्रष्टाचार अधिनियम विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई की जा रही है।

Post a comment

0 Comments