Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

पथरिया में दो गुटों के बीच बर्चस्व के विवाद में खुलेआम गुंडागर्दी तोड़फोड़.. घंटो बने रहे यूपी-बिहार जैसे हालात.. दमोह से पुलिस फोर्स के साथ एएसपी को संभालना पड़ा मोर्चा.. धरपकड़ की कारवाई के बाद 22 को भेजा गया जेल.. विधायक रामबाई ने कहा जनता किसी की भी गुंडागर्दी बरदास्त नहीं करेगी..

 एक के बाद एक वारदातों से पूरे इलाके में दहशत.. 
दमोह। पथरिया नगर में दो गुटों के बीच चल रहे बर्चस्व के विवाद का खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। मंगलवार को यहा खुलेआम गुंडागर्दी तोड़फोड़ की एक के बाद एक अनेक वारदातों से पूरे इलाके में दहशत फैली रही। वहीं पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाए जाते रहे। बाद में स्थानीय विधायक रामबाई के संज्ञान में मामला आने पर उनके द्वारा एसपी को फोन लगाकर कठोर कार्रवाई की मांग करने पर दमोह से एडिशनल एसपी के नेतृत्व में पुलिस फोर्स ने पथरिया पहुंचकर बदमाशों की धरपकड़ करके हालात पर काबू पाया। तथा बुधवार को कार्रवाई करते हुए 22 बदमाशों को जेल भेजे जाने की कार्यवाही की गई।
पथरिया नगर में दोपहर से देर रात तक एक के बाद एक खुलेआम गाली गलौज गुंडागर्दी और तोड़फोड़ की वारदातों से यूपी-बिहार जैसे हालात बनने और गुंडा तत्वों के बीच पुलिस का किसी प्रकार का भय नजर नहीं आने जैसे हालात देखने को मिले। इस दौरान राहगीरों से गालगलोच मारपीट दहशत फैलाने का दौर भी चलता रहा। प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार दोपहर वैभव सोनी एवं विक्रम ठाकुर ने अपने दर्जन भर से अधिक साथियों के साथ अमित साहू के घर में जाकर गुंडागर्दी दिखाते हुए तोड़फोड़ की। इसके बाद अमित साहू के दोस्त भास्कर प्रजापति के यहां भी तोड़फोड़ और फिर नीलेश मलैया के यहां भी तोड़फोड़ करके यह लोग भाग गए। 

दिनदहाड़े गुंडागर्दी के शिकार लोग जब पथरिया थाने पहुंचे तो उनकी रिपोर्ट लिखे जाने में आनाकानी का दौर चलता रहा। बाद में जब रिपोर्ट दर्ज किए जाने के बाद भी तत्काल कार्यवाही नहीं हुई तो अंकित साहू एवं साथियों द्वारा रात में वैभव सोनी एवं विक्रम ठाकुर के यहां जाकर उसी अंदाज में वारदात को अंजाम दिया गया जिस तरह से उनके घरों में जाकर गुंडागर्दी और तोड़फोड़ की गई थी। जिससे एक बार फिर पथरिया वासियों में दहशत भरा माहौल बनते देर नहीं लगी। 
मामले की जानकारी पथरिया विधायक श्रीमती रामबाई सिंह परिहार तक पहुंची तथा उन्होंने रात में ही एसपी हेमंत चैहान को हालात से अवगत कराया इसके बाद दमोह से एडिशनल एसपी शिव कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस फोर्स को पथरिया रवाना किया गया। जहा नोहटा थाना प्रभारी सत्येंद्र सिंह आदि ने मोर्चा संभालते हुए बदमाशों की धरपकड़ शुरू की। बुधवार को दिन भर बदमाशों की धरपकड़ कार्रवाई के बीच 22 लोगों के गिरफ्तार होने तथा शाम को कोर्ट में पेश किए जाने के बाद जेल भेजे जाने की जानकारी सामने आई है।
पूरे घटनाक्रम को लेकर टीआई RP कुसमाकर का कहना है कि 1 दिन पूर्व किसी बात को लेकर अंकित साहू और वैभव सोनी के बीच वाद विवाद हो गया था। इसके बाद वैभव सोनी व विक्रम ठाकुर ने साथियों के साथ अंकित सोनी के घर पहुंच कर गाली गलौज तोड़फोड़ की बाद में अंकित के दोस्त भास्कर प्रजापति के यहां और फिर नीलेश मलैया के यहां भी तोड़फोड़ की गई। इधर रात में दूसरे पक्ष द्वारा वैभव सोनी और विक्रम ठाकुर के घर तोड़फोड़ की गई। टीआई कुसमाकर का कहना है पुलिस द्वारा दोनों पक्षों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध कर कार्यवाही की गई है वही बाकी बचे लोगों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

इधर पथरिया नगर में  दिनदहाड़े गुंडागर्दी करके दहशत फैलाने के घटनाक्रम पर विधायक श्रीमती रामबाई सिंह परिहार ने क्षेत्र में किसी भी प्रकार की गुंडागर्दी को बर्दाश्त नहीं किए जाने की बात करते हुए कहा है कि पूरे घटनाक्रम को लेकर प्रदेश के गृहमंत्री को अवगत कराया जा रहा है तथा किसी भी कीमत पर पथरिया में यूपी बिहार जैसे हालात निर्मित नहीं होने दिए जाएंगे।

Post a comment

0 Comments