Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

जून के पहले दिन कहीं खुशी कहीं गम.. दमोह में दूसरा पाजेटिव मिलने की खबर से कॉलोनी वालों का टेंशन बड़ा.. इधर हटा में कोरोना की जंग जीत कर प्रवासी महिला हंसी खुशी परिजनों के साथ अपने अपने गांव पहुंची.. दमोह जिले में कुल केस 27, स्वस्थ्य होने वाले मरीजों की संख्या 12..

दमोह में दूसरा पाजेटिव ! कॉलोनी वासी फिर टेंशन में
दमोह। जून माह का पहला दिन कोविड-19 मामले में दमोह जिले वासियों के लिए कभी खुशी कभी गम के हालात को दोहराता नजर आया। हटा के कोविड केयर सेंटर से एक प्रवासी महिला तथा जिला अस्पताल से दो मरीजों को स्वस्थ्य होने पर डिस्चार्ज किया गया। इधर
दमोह शहर के एक और व्यक्ति के कोराना संक्रमित पाए जाने की खबर से लोग तनावग्रस्त नजर आए। बताया जा रहा है कि आज आए कोविड-19 सैंपल रिपोर्ट मै से जो एक रिपोर्ट पॉजिटिव आई है वह स्वास्थ्य कार्यकर्ता जो मुकेश कालोनी क्षेत्र में निवासरत था
दमोह जिले में अभी तक आई कारोना पाजेटिव मरीजों की बात की जाए तो यह संख्या अब 27 हो गई है। जिसमें एक बाहर की महिला भी शामिल है। वहीं कोराना की जंग जीतने वालों की संख्या भी 12 हो गई है। जल्द ही कुछ ओर मरीजों की जिला अस्पताल स्थित कोविड केयर सेंटर से स्वस्थ्य होकर घर भेजने की तैयारी है। जिससे आने जाने वालों का हिसाब लगभग बराबर की स्थिति में पहुच जाएगा। लेकिन इसके बावजूद सभी को पूरी सावधानी और सर्तकता से कोरोना के खिलाफ जंग जारी रखना होगा तभी पूरी तरह से सफलता प्राप्त हो सकेगी।  
जून के पहले दिन महिला ने जीती कोरोना की जंग..
 दमोह। जून माह का आगाज कोविड-19 से जंग लड़ रहे रसीलपुर निवासी एक प्रवासी महिला के लिए स्वस्थ निरोगी काया का संदेश लेकर आया हटा के कोविड-19 केयर सेंटर में पिछले 14 दिनों से एडमिट एक महिला की रिपोर्ट नेगेटिव आने के साथ उसे समारोह पूर्वक चिकित्सक स्टाफ ने पुष्प वर्षा करके घर के लिए विदा किया।  इस दौरान महिला की आंखों में खुशी के आंसू के साथ चिकित्सक दल के प्रति कृतज्ञता के भाव छलकते नजर आए।
लगन, समर्पण, कर्तव्‍यनिष्‍ठा एवं कुछ करने की ललक ने आज फिर हटा नगर के कोविड सेन्‍टर में खुशियां बिखेर दी।  विगत 70 दिनों से कोरोना महामारी के आतंकी साये में जी रहे स्‍थानीय लोगों को उस समय खुशी हुई जब उन्‍हे पता चला कि विश्‍वव्‍यापी महामारी का इलाज हटा जैसे कस्‍बाई क्षेत्र में भी संभव है। यह सुखद अनुभूति तो उस समय दो गुनी हो गई जब हटा कोविड सेन्‍टर में रह रहे 8 कोरोना पाजिटिव पेसेन्‍ट के 14 दिन इलाज के उपरांत निगेटिव रिपोर्ट आने पर 24 घंटे में 7 लोगों की छुट्टी हो गई। यह सभी रसीलपुर गांव के ही थे, जिन्‍हे 16 मई को पहले क्‍वारंटाइन किया गया था बाद में कोविड सेंटर में लाया गया था, रविवार को 6 लोगों की छुट्टी हुई थी आज सोमवार को पुनः एक महिला की छुट्टी कोविड सेन्‍टर से हुई है। 
आज बिदा ले रही महिला की सबसे बडी विशेषता यह रही कि इसके दो वर्षीय बच्‍चे सहित तीनों बच्‍चे व पति की रिपोर्ट पहले ही निगेटिव आई थी, ये सभी भी कोविड सेन्‍टर में ही रह रहे थे। महिला की कोविड सेन्‍टर से बिदाई अवसर पर उसे आवश्‍यक दिशा निर्देश दिये गये साथ उपयोग करने के लिए मास्‍क, केप, सेनेटाईजर आदि सामग्री प्रदान कर उसका कैसे उपयोग करना है इसके बारे में जानकारी दी। बिदाई के मौके पर पुष्‍प वर्षा एवं परिजन को फूलमालाएं पहनाई गई, कोरोना नोडल अधिकारी डा. उमाशंकर पटैल, डा. सौरभ जैन ने कैसे जीती यह जंग इसके बारे में बताया। 
इस अवसर पर एसडीएम राकेश मरकाम, एसडीओपी सरिता उपाध्‍याय, राजबहादुर पटेल, स्‍टाफ नर्स स्‍वाति लाल, अनु दुबे, नीमा सिसोदिया, एएनएम पुष्‍पा सेन, कल्‍पना गौतम, एलटी मनीष श्रीवास्‍तव, वार्ड बाय मिथलेश, घनश्‍याम आदि उपस्थित रहे। एम्‍बुलेंस के माध्‍यम से सभी को उनके गृह गांव रसीलपुर छोडा गया। हटा से संजय जैन के साथ अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments