Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

घर में रहो सुरक्षित रहो.. सागर में दूसरे कोरोना पाजेटिव केस की BMC के डीन ने की पुष्टि.. पहले वाले का दोस्त निकला दूसरा.. दमोह के लिए राहत.. अभी तक की सभी 25 रिपोर्ट निगेटिव.. 14 दिन के क्वॉरेंटाइन के बाद 3 स्टूडेंट की हुई घर वापसी..

 पहले पॉजिटिव युवक का दोस्त निकला दूसरा पॉजिटिव
सागर/दमोह। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचना है तो सोशल डिस्टेंस का पालन करना ही होगा। मुंह पर मास्क लगाना ही होगा लाक डाउन का पालन करते हुए घर में रहना ही होगा। सैनिटाइजर का उपयोग करना ही होगा।अन्यथा जरा सी लापरवाही चुंबक की तरह कोरोना के संक्रमण को फैलाने के लिए काफी है । यह बात हम नहीं कह रहे बल्कि अभी तक सामने आए कोरोना केस कह रहे है। बात बुंदेलखंड की की जाए तो सागर में मिले पहले पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए उसके दोस्त की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
सागर में शनिवार का मेडिकल बुलेटिन जारी होने के कुछ देर बाद रिपोर्ट में सागर में दूसरा कोरोना पॉजिटिव मरीज भी सामने आ गया है। यह मरीज पहले पॉजिटिव निकले युवक का दोस्त है। जिसकी उम्र 28 साल बताई गई है बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के डीन डॉक्टर जी एस पटेल ने इस बात की पुष्टि की है। इसको मिलाकर सागर संभाग में कोरोनावायरस पॉजिटिव केसों की संख्या 3 हो गई है। सागर के दो केसों के अलावा टीकमगढ़ में एक युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी जो इंदौर के डॉक्टर पंजवानी का वार्ड वाय रह चुका था।
दमोह बालों के लिए राहत सभी 25 रिपोर्ट नेगेटिव आई-
दमोह जिले में अभी तक कोरोना वायरस संभावितो के 25 सैंपल जिला अस्पताल से जबलपुर मेडिकल भेजे गए थे। इन सभी की शनिवार शाम तक प्राप्त सभी 25 रिपोर्ट नेगेटिव रही है। इधर बाहर से आए स्टूडेंट में से दमोह के कन्या छात्रावास में 14 दिन के क्वॉरेंटाइन पूरा कर लेने के बाद तीन स्टूडेंट को आज का सम्मान विदाई दी गई यह भी राहत भरी और अच्छी खबर है। दमोह में अभी तक कोई भी पॉजीटिव केस सामने नहीं आया उसके लिए निश्चित तौर पर पुलिस प्रशासन की सजगता और चिकित्सकों के साथ स्वास्थ्य कर्मचारियों सफाई कर्मचारियों एवं अन्य सेवाभावी जनों की सजगता को पूरा श्रेय जाता है।
घरों में रहें और सुरक्षित रहें, लाक डाउन का पालन करें-
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचना है तो सोशल डिस्टेंस का पालन करने के साथ घरों में रहना ही होगा तथा अन्य सावधानियां भी बढ़त ना ही होंगी। इसके लिए दमोह में जिला प्रशासन पूरी तन्मयता से लगा हुआ है जिले के मुखिया कलेक्टर तरुण राठी के अलावा एसपी हेमंत चौहान पुलिस टीम के साथ दिन रात इन हालातों पर नजर रखे हुए हैं कि लोग घरों से बाहर ना निकले। पुलिस की सख्ती का नतीजा है कि अभी तक करीब 1000 लोगों पर निषेधाज्ञा उल्लंघन के तहत कार्रवाई हो चुकी है जिससे अब सड़कों पर फालतू घूमने वालों की संख्या ना के बराबर ही नजर आती है। और ऐसे लोगों पर भी पुलिस लगातार सख्ती से पेश आ रही है। अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments