Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

फलों की खाली कैरेट की आड़ में गेहूं तस्करी की तैयारी.. ! आखिरकार कर्नाटका के ट्रक पर मडियादो थाने में मामला पंजीबद्ध.. मंडी टैक्स की चोरी पर 5 गुना जुर्माने की कार्यवाही के बाद.. धारा 188, निषेधाज्ञा उल्लंघन, आपदा प्रबंधन आदि के तहत पुलिस ने की कार्यवाही..

एसडीएम के प्रतिवेदन पर मड़ियादो में मामला पंजीबद्ध.
दमोह। लॉक डाउन में आवश्यक सामग्री का परिवहन करने वाले वाहनों को किसी भी प्रकार की रोक-टोक नहीं किए जाने के निर्देशों की आड़ में दूसरे प्रदेशों के हैवी ट्रकों के जरिए रात के अंधेरे में मंडी टैक्स की चोरी करके गेहूं का परिवहन किए जाने के एक के बाद एक मामले सामने आते रहे हैं। मडियादो के मादो गांव में कर्नाटका पासिंग के ट्रक क्रमांक KA 67-0108 में मंगलवार को दिन दहाड़े गेहूं की बोरियों को भरे जाने की शिकायत एसपी तक पहुंचने के बाद पुलिस ने कार्यवाही करते हुए हटा मंडी के अधिकारियों को सूचना दी थी।
 जिस पर बमुश्किल देर रात हटा पहुंचे मंडी के कर्मचारियों ने उस समय ट्रक में मिली 140 बोरी गेहूंं के कागजात नहींं मिलने पर 5 गुना मंडी टैक्स के जुर्माने की कार्रवाई करकेेे चलते बने थे। इस दौरान इन्होंने यह पता लगाना भी आवश्यक नहीं समझा था कि किन लोगों का गेहूं इस ट्रक में भरकर कहां भेजा जा रहा था। जिसके पीछे मुख्य वजह गल्ला व्यापारी राजेंद्र छिरोलया और अशोक जैन से मंडी कर्मचारियों की पहले से सांठगांठ होना बताया जा रहा है।
वही लाक डाउन के दौरान ट्रक में मंडी टैक्स की चोरी करके गेहूं प्रदेश के बाहर भेजने का मामला सामने आने के बाद इससे संबंधित जानकारी पुलिस द्वारा हटा एसडीएम राकेश मरकाम के पास भेजी गई थी। जिसके बाद बुधवार को एसडीएम के निर्देश पर निषेधाज्ञा उल्लंघन, आपदा प्रबंधन की धाराओं सहित मामला पंजीबद्ध किया गया।
गेहूं तस्करी से जुड़े इस मामले के तार मलहरा के भागीरथ और दमोह के कपिल गैंग से जुड़े़ होने के बावजूद बुधवार को गाड़ी छुड़वानेे को इन दोनों व्यापारियों से जुड़ा कोई भी व्यक्ति पहचान उजागर होने के डर से सामने नहीं आया । जिससे यूूपी तथा दक्षिण भारत के ट्रकों का कटनी से संचालन प्रबंधन करने वाली कंपनी सेे जुड़े ट्रांसपोर्टर इस ट्रक को छुड़ाने के लिए पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों को मोबाइल लगाकर लॉक डाउन में आवश्यक वस्तुओं के ट्रकों को नहींं रोके जाने केे निर्देशों का हवाला देते रहे।
ट्रक में गेहूं की बोरियां पकड़े जाने के मामले में सफाई देते हुए इनका कहना था कि यह ट्रक लखनऊ से टमाटर खाली करके वापस लौट रहा था। इस दौरान मादो गांव के किसान के कहने पर हटा ले जाने के लिए ट्रक चालक ने 140 बोरी गेहूं की भर ली थी। जबकि सूत्रों का कहना है ट्रक में 350 से अधिक बोरियां भरी जा चुकी थी लेकिन मामला बिगड़ता देख कर संबंधित जनों ने करीब 200 बोरी मंडी के कर्मचारियों की सूचना पर उनके पहुंचने के पहले ट्रक से वापस उतरवाकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दी गई थी। 
इधर इस ट्रक के पकड़े जाने की पीछे एक और कहानी सामने आई है। सूत्रों का कहना है कि कर्नाटक के चार ट्रक मडियादो क्षेत्र में भागीरथ कपिल गैंग के लोगों द्वारा एकत्रित किए गए गेहूं को लेने के लिए आए थे जिनमें से तीन ट्रक तो सेटिंग के चलते दमोह पहुंचकर निकल गए थे लेकिन यह ट्रक मादो गांव में मुखबरी हो जाने से पकड़ा गया। अनाज माफिया द्वारा ट्रक छुड़ाने में रुचि नहीं लेने तथा सामने नहीं आने के बाद बुधवार को कटनी के ट्रांसपोर्टर स्वयं इस ट्रक को छुड़ाने की कोशिशों में जुटे रहे। 
मडियादो थाना पुलिस द्वारा निषेधाज्ञा उल्लंघन 188 एवं आपदा प्रबंधन  सहित अन्य धाराओंं में मामला दर्ज कर लेने के बाद हो सकता है गुरुवार को यह ट्रक संबंधित को सुपुर्दनामें पर सौंप दिया जाएगा। वही इसके बाद इस ट्रक में पुनः अनाज माफिया का गेहूं कर्नाटका रवाना किए जाने की तैयारी बताई जा रही है। पिक्चर अभी बाकी है एक और नई अपडेट के साथ जल्द मिलते हैं.. अटल राजेन्द्र जैन

Post a comment

0 Comments