Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

दमोह जिले की बोतराई मस्जिद में मिले तब्लीगी जमात के 11 लोगो पर कार्रवाई से हड़कंप.. 8 मार्च से पथरिया की विभिन्न मस्जिदों में रहने वाले जमाती भोपाल के निवासी निकले.. क्वॉरेंटाइन कराने के बाद सभी आई सोल्यूशन में भर्ती..

 बोतराई मस्जिद में मिले 11 जमातियो पर हुई कार्रवाई 
देश की राजधानी दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज में शामिल लोगो मे कोरोना संक्रमण पाए जाने के हालात सामने आने के बाद अब देशभर में मरकज में शामिल हुए जमातियों की पहचान तलाश का कार्य जारी है जिससे इनकी जांच और क्वॉरेंटाइन करा कर कोरोना के संक्रमण को आगे फैलने से रोका जा सके इसी कड़ी में देश के विभिन्न हिस्सों में तब्लीगी जमातियों की तलाश अभियान चलाया जा रहा है।
दमोह जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर पथरिया थाना अंतर्गत बोतराई गांव की मस्जिद में तब्लीगी जमात के करीब दर्जनभर लोगों के पिछले कुछ दिनों से रुके होने की जानकारी लगने पर बुधवार को पुलिस प्रशासन की संयुक्त टीम द्वारा चिकित्सकों के दल के साथ यहां पहुंचकर कार्यवाही की गई। इस दौरान मस्जिद में मिले भोपाल के तब्लीगी जमात के 11 लोगों को पथरिया थाने लाकर उनके बारे में पतासाजी करके चिकित्सकीय दल द्वारा सभी का क्वॉरेंटाइन कराया गया और अब इनको पथरिया के माधव राव सप्रे कालेज स्थित आईसी लोशन में भर्ती कराया गया है।
भोपाल निवासी तब्लीगी जमात के सदस्य हैं सभी लोग-
पथरिया की बोतराई मस्जिद मैं जांच कार्रवाई के दौरान मिले सभी 11 लोग भोपाल के तबलीगी जमात के सदस्य तथा पालीटेक्निक कॉलेज के समीप भोपाल के निवासी बताए जा रहे हैं। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार 8 मार्च 2020 को भोपाल से तब्लीगी जमात के यह 11 लोग मोहम्मद रफीक पिता अब्दुल रशीद 43 वर्ष के नेतृत्व में पथरिया पहुंचे थे। जहां 15 मार्च तक जामा मस्जिद में रुके रहने के बाद 16 से 21 मार्च तक पथरिया के वार्ड 14 में स्थित छोटी मस्जिद में यह सभी जमाती रहे
वही 22 मार्च से यह सभी बोतराई मस्जिद में रुके हुए थे। लाक डाउन की वजह से आगे नहीं जा पाने और इनके द्वारा दीनी तालीम दिए जाने की बात बताई गई है। इस कार्यवाही में जिला पंचायत के सीईओ अपर कलेक्टर गिरीश मिश्रा पथरिया एसडीएम भारती मिश्रा पथरिया एसडीओपी, टीआई सहित पुलिस टीम एवं स्वास्थ्य विभाग के अमले की मौजूदगी रही। इधर इस कार्यवाही की खबर लगते ही गांव सहित आसपास के क्षेत्रों में हड़कंप के हालात निर्मित होने के साथ तरह-तरह की अफवाहों का दौर भी शुरू हो गया। 
बोतराई मस्जिद में बिना सूचना मिले जमातीयों के नाम 
 मोहम्मद रफीक पिता अब्दुल रशीद 43 वर्ष, फारूक अहमद पिता खुर्शीद अहमद 49 वर्ष, नाबिद मियां पिता अब्दुल हसीम मियां 37 वर्ष, अकबर पिता अफसर मोहम्मद 41 वर्ष, जमीरुद्दीन पिता निजामुद्दीन 70 वर्ष, मोहम्मद मतीन पिता मोहम्मद रफी 72 वर्ष, मोहम्मद नवी पिता अली मोहम्मद 15 वर्ष, मोहम्मद इकराम पिता मोहम्मद सुलेमान 30 वर्ष, अब्दुल लतीफ पिता अब्दुल जमील 62 वर्ष, अब्दुल करीम पिता अब्दुल कमीम 60 वर्ष, मोहम्मद फैजल पिता अब्दुल करीम 22 वर्ष सभी निवासी पालीटेक्निक कालेज के पास भोपाल बताए हैं।
एडिशनल एसपी  विवेक लाल ने बताया कि  फिलहाल इन सभी पर बिना सूचना के लाक डाउन में रुकने पर धारा 144 एवं 188 के तहत प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की गई है। सभी का क्वॉरेंटाइन कराने के बाद चिकित्सकों की निगरानी में आईसी लोशन वार्ड में रखा गया है। अब इनकी जांच रिपोर्ट आना बाकी है वहीं इनके 8 मार्च से पथरिया क्षेत्र में रहने की विस्तृत विवेचना जारी है। 

दमोह जिले की बोतराई मस्जिद से तब्लीगी जमात के  11 मेंबरो के मिलने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तथा केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल द्वारा जिले के वरिष्ठ अधिकारियों से विस्तृत जानकारी प्राप्त की गई है। वही सभी जमातीयों का क्वॉरेंटाइन  कराने के बाद 14 दिन तक आईसी लोशन में रखकर उनके स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही है। इस खबर को आप तक पहुंचाने में हुए विलंब की वजह विस्तृत और सटीक जानकारी हासिल करके आप तक पहुचना रहा है। जल्द नए अपडेट के साथ फिर मिलते हैं पिक्चर अभी बाकी है..अटल राजेन्द्र जैन

Post a comment

0 Comments