Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

किसानों को लेकर भाजपा-कांग्रेस के बीच ज्ञापनों की राजनीति तेज.. मप सरकार से किसानों का दो लाख तक कर्ज माफ कराने भाजपा नेताओं ने.. तथा केंद्र सरकार से मप्र को अतिवृष्टि सहायता राशि दिलाने कांग्रेस नेताओं ने सौंपा ज्ञापन ..

किसानों को लेकर भाजपा-कांग्रेस में ज्ञापन वार तेज..
किसानों को लेकर भाजपा कांग्रेस के बीच ज्ञापन वार तेज हो जाने के साथ सोमवार को दोनों ही दलों के नेताओं ने कलेक्टोरेट कार्यालय पहंचकर महामहिम राष्ट्रपति महोदय के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपे। भाजपा ने अपर कलेक्टर को सौंपे ज्ञापन में किसानों के दो लाख तक के कर्ज माफ नहीं होने तथा बिजली आदि के मुद्दों को उठाया। वहीं कांग्रेस ने अतिवृष्टि की बजह से मप्र में हुए भारी नुकसान की भरपाई करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा आवश्यक राशि दिलाए जाने की मांग का ज्ञापन एसडीएम रवींद्र चैकसे को सौंपा 
भाजपा ने किसान आक्रोश रैली निकालकर ज्ञापन सौंपा
दमोह। भाजपा के पदेश व्यापी आव्हान पर दमोह जिला मुख्यालय पर भाजपा ने पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया के नेतृत्व में किसान जनक्रोष रैली निकालकर राज्यपाल महोदय के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर पूर्व मंत्री जयंत मलैया, हटा विधायक पीएल तंतुवाय, जबेरा विधायक धर्मेन्द्र सिंह लोधी, पूर्व विधायक विजयसिंह राजपूत, सोनावाई, लखन पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल, जिला सहकारी बैंक के पूर्व अध्यक्ष राजेन्द्र गुरु, भाजपा जिला अध्यक्ष देवनारायण श्रीवास्तव, नगरपालिका अध्यक्ष मालती असाटी सहित बड़ी संख्या में भाजपा नेता पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं की मौजूदगी रही।
 सोमवार दोपहर जिला भाजपा कार्यालय से प्रारंभ हुई भाजपा की किसान जनाक्रोश रैली कीर्तीस्तंभ से बेला ताल होते हुए महाराणा प्रताप चैक पहंची। जहां कलेक्टेरोट के गेट पर अपर कलेक्टर आनंद कोपरिहया को किसानों की समस्याओं से संबंधित ज्ञापन सौंपा गया। इस मौके पर बड़ी संख्या में भाजपा नेताओं, पदाधिकारियों सहित ग्राीमण क्षेत्रों से आए कार्यकर्ताओं की भी मौजूदगी रही। 
इस मौके पर पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया ने कहां कि कमलनाथ सरकार ने न तो किसानों के दो लाख तक के कर्ज माफ किए है और न ही अतिवृष्टि से प्रभावित किसानो को मुआवजा राशि दी है। वही किसानों को मनमाने बिजली बिलों सहित बिजली आदि की समस्या से भी जूझना पड़ रहा है। विधायक धर्मेंद्रसिंह ने कहां कि किसानों की दम पर बनी कमलनाथ सरकार किसानों से किए वायदे भूलकर छल कर रही है। जिसका खामियाजा उसे भुगतना पड़ेगा। 
अतिवृष्टि सहायता राशि दिलाने कांग्रेस ने ज्ञापन सौंपा
दमोह। मप्र में इस वर्ष अतिवर्षा बाढ़ से भीष्णतम प्राकृतिक आपदा जैस हालात निर्मित होनेे परंतु केंद्र सरकार द्वारा मप्र को सहायता राशि प्रदान करने के मामले में भेदभाव किए जाने को लेकर प्रदेश कांग्रेस के निर्देशा नुसार दमोह में भी कांग्रेसजनों ने केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए ज्ञापन सौंपा। जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टंडन के नेतृत्व में महामहिम राष्ट्रपति के नाम सौंपे गए ज्ञापन में केंद्र सरकार से 6621.28 करोड़ की सहायता राशि दिलाए जाने की अपील की गई है।
जिला कांग्रेस कमेटी के आव्हान पर सोमवार दोपहर कलेक्टोरेट कार्यालय के सामने जबलपुर नाका कोल्ड स्टोर्स पर कांग्रेसजन एकत्रित हुए। बाद में नारेवाजी के साथ प्रदर्शन करते हुए एसडीएम रवींद्र चैकसे को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन का वाचन करते हुए शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल ठाकुर ने बताया कि मप्र में अतिवर्षा बाढ़ से भीष्णतम प्राकृतिक आपदा का सामना किया जिससे समूचे मध्यप्रदेष के 52 जिलों में से 39 जिलों की 284 तहसीलें प्रभावित हुई किन्तु केन्द्र सरकार द्वारा राहत राषि के नाम पर कुछ भी राषि मुआवजे के रूप में नहीं दी गई।
जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टंडन  ने बताया कि दो लाख से अधिक किसानों, एक लाख से अधिक मकानों, 11 हजार किमी से अधिक सड़कों, एक हजार से अधिक पुल पुलियों के अलावा, स्कूल, छात्रावास, आंगनवाड़ी केंद्रो सहित हुए अन्य नुकसान की भरपाई हेतु 6621.28 करोड़ रूपए की मांग केंद्र सरकार से की गई है। जो अविलंब दिलाई जाए। इस दौरान पूर्व विधायक व कांग्रेस के पूर्व लोकसभा प्रत्याशी प्रतापसिंह ने दमोह सांसद एवं केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल का नाम लिए बिना आरोप लगाए कि उनके द्वारा किसानों के मुद्दे तथा केंद्र से मप्र को सहायता राशि दिलाने के मामले में एक भी बार आवाज  नहीं उठाई गई। 
  ज्ञापन अवसर पर वरिष्ठ नेता सतीष जैन, वीरेन्द्र दबे, संतोष भारती, लालचंद राय, संजय चैरसिया,रघुनंदन ‍तिवारी, गोविन्द तिवारी, नीरज जायसवाल, गौरव पटेल, योगेश सराफ, राजू गुप्ता, ललित नायक,  यशपाल ठाकुर, आशुतोष शर्मा, पवन गुप्ता, राशु चौहान, झुन्नीलाल पटेल, मुख्तार जाफरी, दिनेश रैकवार, मंजीत यादव, अभिषेक डिम्हा, अमर सिंह, दीपक मिश्रा, विल्लू बाधवा, प्रफुल्ल श्रीवास्ताव, अजय सरवरिया, पप्पू कसोठिया, रमेश राठौर, शुभम तिवारी, शानु जुनेजा, अरूण दुबे, गुल्ले दुबे सहित अनेक काग्रेस जनो की उपस्थिति रही।       
 उल्लेखनीय है कि भाजपा द्वारा 4 नवंबर के इस आंदोलन की जहां प्रदेश स्तर पर पहले ही घोषणा कर दी गई थी वहीं कांग्रेस ने आनन फानन में प्रदेश भर में केंद्र सरकार के भेदभाव पूर्ण रवैये को लेकर ज्ञापन सौंपकर भाजपा के ज्ञापन के जबाव देेने की कोशिश की है। उपरोक्त हालात को जानने समझने वालेे आम नागरिक इसे भाजपा कांग्रेस की ज्ञापन की राजनीति बताते जनता का मुख्य मुद्दो से ध्यान भटकाने वाली नीति करार देते नजर आ रहे है। अटलराजेंद्र जैन

Post a comment

0 Comments