Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड में फरार इनामी बदमाश जिला पंचायत अध्यक्ष पुत्र इंद्रपाल भोपाल में पकड़ा गया.. हाईकोर्ट के निर्देश पर CCTV फुटेज जांच में बसपा विधायक रामबाई के पति गोविंद को राहत की उम्मीद..

फरारी के दौरान यूपी-नेपाल में रहा इंद्रपाल पटेल- 
दमोह। हटा के कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड के 7 नामजद आरोपियों में फरार 25 हजार के इनामी बदमाश इंद्रपाल पटेल को पुलिस ने आखिरकार भोपाल से पकड़ने में सफलता हासिल की है। ढाई माह तक फरार रहे जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल के पुत्र सरपंच इंद्रपाल पटेल फरारी के दौरान यूपी तथा नेपाल में घूमता रहा तथा आखिरकार भोपाल के आशिमा मॉल के बाहर से पुलिस के हत्थे चढ़ गया।
 पुलिस कंट्रोल रूम में रविवार शाम आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस में एसपी विवेक सिंह देवेंद्र चौरसिया हत्या कांड के फरार आरोपी इंद्रपाल पटेल की गिरफ्तारी के संदर्भ में मीडिया को जानकारी। फरारी के दौरान इंद्रपाल की मदद करने वाले रत्नेश पटेल को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है उसके पास से फोर्ड फिगो कार क्रमांक एमपी 34 सीजी 9844 तथा मोबाइल भी बरामद किया गया है। पुलिस उसकी भूमिका को लेकर रही है। इंद्रपाल को भोपाल जाकर पकड़ने वालों में एसआईटी टीम के उप निरीक्षक सत्येंद्र सिंह राजपूत एवं उनकी टीम का खास योगदान रहा।
उल्लेखनीय है कि 15 मार्च 2019 को हटा में हुए कांग्रेसी नेता देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड के मामले में सात नामजद आरोपी बनाए गए थे। इनकी गिरफ्तारी पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया गया था। नामजद साथ में से पांच आरोपियों को पुलिस पूर्व में ही गिरफ्तार कर चुकी थी। वही पुलिस गिरफ्त से फरार चल रहे जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल के पुत्र इंद्रपाल पटेल तथा पथरिया से विधायक राम बाई के पति गोविंद सिंह की तलाश में पुलिस लगातार लगी थी।

 इस बीच जबलपुर हाईकोर्ट में एक याचिका के जरिए इन दोनों के घटनास्थल पर मौजूद नहीं रहने व राजनीतिक साजिश के तहत फसाए जाने जाने के आरोप लगाए गए थे। इसके बाद माननीय न्यायालय ने 18 मई 2019 को जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल की याचिका का निराकरण करते हुए दमोह एसपी को घटना स्थल के सीसीटीवी फुटेज की जांच करने के निर्देश दिए थे। एसपी को घटनास्थल के सीसीटीवी फुटेज चेक करके माननीय हाईकोर्ट को अवगत कराना था कि आरोपी सीसीटीवी में नजर आ रहे हैं अथवा नहीं।  
इसके बाद 21 मई को माननीय हाईकोर्ट में जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल के पुत्र इंद्रपाल की अग्रिम जमानत याचिका को दनके अधिवक्ता की अनुपस्थिति के चलते खारिज कर दिया था। जबकि मामले के एक अन्य आरोपी को अग्रिम जमानत दे दी गई थी। हाईकोर्ट के निर्देश पर घटनास्थल के सीसीटीवी फुटेज जांच के बारे में एसपी ने माननीय न्यायलय को क्या जानकारी दी इसका पता नहीं लग सका है। 
सूत्रों का कहना है कि घटनास्थल के सीसीटीवी फुटेज में इंद्रपाल पटेल साफ तौर पर नजर आया है परंतु विधायक रामबाई के पति गोविंद सिंह नहीं दिखे। जिससे उम्मीद की जा सकती है कि आने वाले दिनों में माननीय उच्च न्यायालय के निर्देश पर विधायक पति गोविंद सिंह का नाम इस हत्याकांड से हटाया जा सकता है। अटलराजेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments