Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

गढ़ाकोटा अस्पताल में जल्द इलाज को लेकर विवाद. ड्यूटी डॉक्टर ने बेल्ट से पिटाई करके किया लहूलुहान.. दोनों पक्षो पर मामला दर्ज, पीड़ित घायल दमोह रैफर..

 ड्यूटी डॉक्टर व घायल को देखने पहुंचे पड़ोसी में विवाद
गढ़ाकोटा। मप्र विधान सभा मे नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के गृह क्षेत्र में आये दिन दबंगई के घटनाक्रम सामने आते रहते है। इस बार सरकारी अस्पताल में ड्यूटी डॉक्टर की दबंगई देखने को मिली है। एक मरीज को देखने आए उसके मित्र की इलाज में देरी  को लेकर टोकने पर से बेल्ट से पिटाई करने वाले डॉक्टर द्वारा थाने में रिपोर्ट भी दर्ज करा दी गई है। इधर डॉक्टर की पिटाई से लहूलुहान पीड़ित को मुलाहिजा के बाद दमोह रेफर करके उसके आवेदन को जांच में लिया गया है। मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने डॉक्टर के खिलाफ भी अपराध दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार रात गढ़ाकोटा के पेट्रोल पंप निवासी प्रमोद अहिरवार एक्सीडेंट से घायल हो गए थे। जिन को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्यय केंद्र लाया गया था। इस बात की जानकारी लगने पर उनके पड़ोसी लखन राजपूत मुहल्ले के लोगों के साथ घायल प्रमोद को देखने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंच गए। जहा प्रमोद की हालत खराब होती जा रही उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही है तो लखन ने ड्यूटी डाक्टर अभिमन्यु अहिरवार से आक्सीजन लगाने की बात कही। इस पर डाक्टर ने कहा कि डाक्टर में हूं। 
लखन की इस बात पर विवाद हो गया ओर डाक्टर ने अपने कमर के बेल्ट को उतारा और ताबड तोड़ बेल्ट मारते हुए जमकर पिटाई की। लखन के सिर व पीठ में गहरे घाव हो गए तथा सिर से खून बहने लगा। 
बाद में डाक्टर ने थाना गढाकोटा में जाकर शासकीय कार्य में बाधा, गाली गलौज, मारपीट, डॉक्टर एक्ट जैसे गंभीर आरोपों की लखन राजपूत के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी। घटना में लखन को गंभीर चोटे आई है तो थाना गढाकोटा से मुलायजा कराने पुलिस पीड़ित के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची। जहां दूसरे डॉक्टर ने घायल को दमोह रिफर कर दिया 
 इस मामले में  एसआई ऐएल खेरवार का कहना है कि डाक्टर की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया। जबकि  लखन के साथ हुई मारपीट की मेडिकल रिपोर्ट आने पर डॉक्टर के खिलाफ भी मारपीट का मामला दर्ज करके जांच में लिया गया है। घटना के बाद पीड़ित की मां विद्यावती राजपूत का कहना है कि मेरे लड़के के साथ जब मारपीट हो रही थी तब 100 डायल वाले उसे कुटता देख रहे थे। उन्होंने बचाया नहीं ओर डाक्टर उसे मारते जा रहे थे। मेरे लड़के को गंभीर चोटे आई है ओर काफी खून भी वह गया है।वहीं घटना के बाद डाक्टर अभिमन्यु कहीं चले गये जिनसे बात नहीं हो सकी। इस घटना के दौरान यदि अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे चालू होंगे तो सत्यता का पता लगते देर नहीं लगेगी। गढ़ाकोटा से रवि सोनी की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments