Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

रात भर साथ में जुआ खेला, सुबह कर दी साथी की हत्या.. पन्ना के पहाड़ीखेड़ा में ढाबे के बाहर तीन दोस्तों ने मिलकर चौथे को गोली मारी..

नशे में जुआ के विवाद पर युवक को गोली मारी-
पन्ना। जिले के थाना ब्रजपुर चौकी पहाड़ीखेड़ा के लुहारई में एक ढाबे के बाहर शुक्रवार सुबह एक युवक के सीने में गोली मारकर हत्या कर दिए जाने का सनसनीखेज घटना क्रम सामने आया है। हत्या करने वाले तीनो युवक तथा मृतक आपस में गहरे दोस्त बताए गए हैं। तथा इनके कल रात साथ में जुआ खेलने के बाद ढाबे के बाहर विवाद की जानकारी सामने आई है।
शुक्रवार सुबह करीब 5 बजे पहाड़ी खेड़ा लुहारई स्थित अपना ढाबा के बाहर गोली मारकर बृजपुर निवासी 25 वर्षीय अंशुल उर्फ सुमन राज शर्मा की हत्या की खबर से गांव तथा आसपास के इलाके में सनसनी का माहौल निर्मित होते देर नहीं लगी। बाद में घटना की सूचना लगने पर बृजपुर थाना के अलावा आसपास के थाना क्षेत्रों की पुलिस भी मौके पर पहुंची। 
घटनास्थल पर पुलिस के पहुंचने के पहले ही बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ एकत्रित हो चुकी थी। थाना प्रभारी अवधेश प्रताप बघेल ने जांच कार्रवाई करते हुए लोगों से पूछताछ की तथा पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई करते हुए अंशुल के शव को पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया है। ढाबा संचालक से पूछताछ में बात सामने आई है सुबह करीब 4 बजे तीन युवकों के साथ अंशुल भी ढाबे पर पहुंचा था। जहां खाना नहीं मिलने के बाद इन्होंने सिगरेट मांगी थी। बाद में इसके साथ के तीन युवको ने ही सीने पर कट्टा रखकर गोली मारकर हत्या कर दी।
घटना की जांच करने मौके पर पहुंचे अजयगढ़ SDOP इसरार मंसूरी ने बताया कि अंशुल उर्फ सुमन राज शर्मा की हत्या के आरोप में प्रीत सिंह बुंदेला, विक्रम बंगाली और हरीनारायण गुप्ता के खिलाफ हत्या का अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है। अलग अलग पुलिस टीम आरोपियों की तलाश में रवाना कर दी गई। जल्द ही तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। श्री मंसूरी ने बताया कि साथ में यह लोग रात में जुआ खेलते रहे तथा इनके नशे में होने की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता।

पहाड़ी खेड़ा पुलिस चौकी क्षेत्र में हुए हत्या के सनसनी खेज घटनाक्रम के बाद नागरिकों में आक्रोष भरा माहौल बना हुआ है। लोगों का यहां तक कहना है कि क्षेत्र में
अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। यहां पर खुलेआम होने वाले जुआ, सट्टा, अवैध शराब और बालू के कारोबार पर पुलिस के नियंत्रण के बजाय मिलीभगत के आरोप भी लगाए जा रहे है। यहा तक कि जिला बदर के अपराधियों के भी पुलिस के कथित संरक्षण में सक्रिय रहने तथा जाति वाद का बोलबाला रहने की बात कहीं जा रही है।
यदि इस तरह के आरोप सही है तो पन्ना एसपी तथा संभाग के आईजी, डीआईजी को इस घटनाक्रम को गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए उच्चस्तरीय जांच कराकर ग्रामीणों को अपराध तथा भय मुक्त माहौल प्रदान करने प्रयास करना चाहिए। अन्यथा यहां और भी वारदातों से इंकार नहीं किया जा सकता।  पन्ना से रूपेश जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments