Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

दमोह दिगंबर जैन पंचायत के चुनाव निर्विरोध संपन्न.. सुधीर सिंघई अध्यक्ष, देवेंद्र सेठ, रतनचंद जैन उपाध्यक्ष, रूपचंद जैन महामंत्री, ललित सराफ, आलोक पलन्दी मंत्री बने..

 नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को प्रमाण पत्र प्रदत्त..
दमोह। दिगंबर जैन समाज की सर्वोच्च संस्था श्री दिगंबर जैन पंचायत के पदाधिकारियों का चुनाव आज निर्विरोध संपन्न हुआ इस मौके पर निर्वाचन अधिकारी श्री श्रेणिक बजाज द्वारा पदाधिकारियों के निर्विरोध निर्वाचन की घोषणा करते हुए प्रमाणपत्र प्रदान किए गए।
श्री दिगंबर जैन पंचायत के अध्यक्ष पद पर श्री सुधीर जैन बबलू बेलकम को पुनः निर्वाचित हुए है। श्री देवेंद्र सेठ एवं श्री रतनचंद जैन घाट पिपरिया को उपाध्यक्ष, श्री रूपचंद जैन संगम को महामंत्री, श्री ललित सराफ और आलोक पलन्दी को मंत्री निर्वाचित घोषित किया गया है।
 श्री सुभाष बमोरया को संगठन मंत्री, राजेन्द्र जैन अटल को प्रचार मंत्री, मनोज जैन बुंदेला को कोषाध्यक्ष,  राजीव जैन बन्टू को धार्मिक आयोजन एवं मयंक जैन चंचल को सांस्कृतिक आयोजन समिति का संयोजक चुना गया है। 
मंगलवार दोपहर  जैन पंचायत भवन में संपन्न  निर्वाचन प्रक्रिया के बाद इन सभी पदाधिकारीयो को निर्वाचन अधिकारी श्रेणिक बजाज एवं सहायक निर्वाचन अधिकारी प्रमोद बड़कुल, शरद जैन रसराज, अभिषेक जैन, दिनेश गांगरा द्वारा निर्विरोध निर्वाचन की घोषणा करते हुए प्रमाणपत्र प्रदत्त किए गए।
इस अवसर पर श्री दिगंबर जैन पंचायत के वरिष्ठ सदस्य श्री अजित कंड़या, श्री दीपचंद जैन, श्री अनिल जैन मम्मा, श्रेयांश सराफ, राजीव जैन बंटी, सोनू जैन नेताजी, अमित जैन त्यागी, मुकेश जैन ठेकेदार, ज्ञानेन्द्र इरोरया, बिक्रांत सराफ, सलिल लहरी(मंटू) सहित जैन पंचायत के अन्य सदस्यों की मौजूदगी रही। सभी पदाधिकारियों को  समाज जनों द्वारा को बहुत-बहुत बधाईया दी गई है। वहीं नवनिर्वाचित पदाधिकारियों एवं दिगंबर जैन पंचायत की सभी सम्मानित सदस्यों की सम्मान में उपाध्यक्ष श्री देवेंद्र सेठ द्वारा संध्या सह भोज का आयोजन किया गया।
इस तरह संपन्न हुई निर्वाचन की प्रक्रिया-
श्री दिगंबर जैन पंचायत के वर्ष 2019 सत्र के निर्वाचन की प्रक्रिया के पहले चरण में विभिन्न मंदिर जी एवं समितियों से प्राप्त नामों के आधार पर 44 सदस्यों की सूची का प्रकाशन किया गया था। इसके बाद इन 44 सदस्यों द्वारा 15 फरवरी को 10 और सदस्यों का सहयोजन किया गया था। इसके बाद निर्वाचन अधिकारी द्वारा 54 सदस्यों की अंतिम सूची का प्रकाशन करके ऐसे सभी मंदिर जी के बाहर चस्पा किया गया था। 18 फरवरी को नाम निर्देशन जारी किए जाने और उसके बाद विभिन्न पदों हेतु एक एक नामांकन पत्र ही जमा किये गए थे।
 22 फरवरी तक किसी भी उम्मीदवार द्वारा नाम वापस नहीं लेने के बाद आज 26 फरवरी को सभी पदाधिकारियों को निर्विरोध रूप से निर्वाचित घोषित करते हुए निर्वाचन प्रक्रिया को संपन्न कराया गया।

Post a comment

0 Comments