Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

नशीला प्रसाद खाकर बशीभूत हुए बच्चे.. खुरई से पथरिया पहुच गए 4 स्कूली बच्चो को रेलवे पुलिस ने संभाला, बाबाजी का नही लगा सुराग..

बेहोशी का प्रसाद खाते ही बच्चे हुए बेसुध-
 कुंभ का मेला शुरू होने के पहले ही तरह तरह की भेषभूषा धारी साधु बाबाओ की आवाजाही रेलवे क्षेत्र में बढ़ गई है। वही अंजान बाबाओं द्वारा दी जाने वाली प्रसाद सामग्री नशीली भी हो सकती है। जिसका सेवन करते ही सुध बुध खोने जैसे हालात भी बन सकते हैं। ऐसे ही कुछ हालात से मिलता जुलता कोई घटनाक्रम सामने आया जो बच्चों से लेकर महिलाओं तथा बुजुर्गों के लिए सतर्क करने के लिए काफी है।
सागर जिले के खुरई में नशीला प्रसाद खिलाकर चार स्कूली बच्चो को बेसुध किये जाने तथा बाद में चारो बच्चो के दमोह जिले के पथरिया स्टेशन और बदहवास हालात में मिलने का घटनाक्रम सामने आया है। बताया जा रहा है कि कुछ अज्ञात बाबा इन चार बच्चों को अगवा कर ले जा रहे थे। लेकिन बच्चो को होश आ जाने से वह अपने मंसूबे में कामयाब नही हो सके। और बच्चो को छोड़कर भाग गए।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पथरिया रेलवे स्टेशन पर मिले संजय ठाकुर, समीर प्रजापति, पवन प्रजापति और महेंद्र सेन खुरई के श्री गणेश विद्यालय में पढ़ते है। यह बच्चे कोचिंग जा रहे थे तभी इनको कुछ बाबाओं ने प्रसाद के नाम पर नशीला पदार्थ खिला दिया। जिससे बच्चे बशीभूत होकर इनके पीछे लग गए। खुरई स्टेशन से ट्रेन में बेसुध हो गए बच्चो को जब होश आया तो बाबा उनको लेकर पथरिया रेलवे स्टेशन पर उतर गए। इस बीच रेलवे पुलिस को आता देख बाबा इन बच्चो को छोड़कर फरार हो गए। 
 पथरिया रेलवे स्टेशन पर पुलिस कस्टडी में भी बच्चो के चेहरे डरे नजर आ रहे थे। पुलिस ने सभी बच्चो के परिजनों को जानकारी देते हुए उनसे बच्चो की बात भी कर दी है। जल्द ही बच्चे अपने माता पिता से मिलकर घर भी पहुच जाएंगे। लेकिन यह घटनाक्रम कुंभ में जा रहे अनजान बाबाओं से सतर्क रहने तथा बच्चों को भी इन से दूर रखने का सन्देश देने काफी है।

Post a comment

0 Comments