Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

फेसबुक पर दोस्ती के बाद ब्लैक मेलिंग.. लाखों रु. ऐंठने करने वाले दमोह सागर के 2 बदमाश गिरफ्तार..

धमकाकर कर ATM से निकाले 6 लाख 80 हजार-
 फेसबुक पर अनजानो से दोस्ती करके निजी जानकारी और फोटो ग्राफ्स शेयर करने वाले सावधान हो जाएं। दोस्ती की कसमें खाकर आप की भावनाओं से खिलवाड़ करने वाले बहुत बड़े ब्लैकमेलर भी हो सकते हैं। जो निजी जानकारी हासिल करने के बाद आप के मां बाप भाई बहन को  धमका कर लाखों रुपए ऐंठ सकते हैं। ऐसे ही एक मामले का पर्दाफाश कोतवाली पुलिस ने किया है। आइए आपको बताते हैं क्या है मामला।
दमोह। कोतवाली पुलिस की गिरफ्त में नजर आ रहे यह दो शातिर बदमाश दमोह निवासी सूरज अठ्या और सागर निवासी गौरव श्रीवास्तव है। जिन्होंने फेसबुक पर एक युवती से दोस्ती करने के बाद उसे अपने जाल में कुछ इस तरह से फसाया कि बेचारी अपने मां बाप के एटीएम से रुपए निकालकर इनको देती रही। कुछ ही समय में इन्होंने डरा धमकाकर 6 लाख 80 हजार रुपए हासिल कर लिए।

आखिरकार परेशान परिजनों ने पुलिस की शरण ली और दो दिन पहले 27 अक्टूबर को कोतवाली पुलिस को एक आवेदन देकर हालात से अवगत कराया जिसके बाद एसपी विवेक अग्रवाल के निर्देशन में कोतवाली पुलिस ने दोनों आरोपियों पर शिकंजा कसते हुए उनके कब्जे से करीब पौने दो लाख रुपए बरामद कर लिए हैं। एक आरोपी के खाते में ट्रांसफर हुए तीन लाख रु आईसीआईसी बैंक सागर से कब्जे में वापस लेना बाकी है।
दमोह कोतवाली में पदस्थ युवा सब इंस्पेक्टर आरबी शर्मा ने किस तरह से इन जालसाज शातिर युवकों को अपने शिकंजे में लेकर शिखचों के पीछे पहुंचाया आइए सुनते हैं पूरे घटनाक्रम की कहानी उन्हीं की जुबानी।

दरअसल दमोह निवासी अठया ने फेसबुक पर  दोस्ती करने के बाद इस युवती की कुछ निजी तस्वीरें शेयर कर ली तथा इसके बाद वह इनको वायरल करने की धमकी देकर उसे ब्लैकमेल करने लगा। पहले इन्होंने एटीएम के जरिए 3 लाख 80 हजार रुपए रुपए हासिल किए।  जिसमें से 2 लाख सागर निवासी गौरव ने और एक लाख 80 हजार दमोह के सूरज ने ले लिए। इसके बाद पुनः डरा धमकाकर  और माता पिता को जान से मारने की धमकी देकर  गौरव श्रीवास्तव ने  15-16  एवं 18 अक्टूबर को एक एक लाख कुल 3 लाख रुपए अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करा लिए। इस तरह 6 लाख 80 हजार रुपए की ठगी कर चुकने के बाद बदमाशों की शिकायत पुलिस तक पहुंची।
बाद में जो 3 लाख रुपए गौरव ने अपने खाते में ट्रांसफर किये थे वह तो बैंक में ही जमा थे। परंतु गौरव पहले हड़पे 2 लाख में से 1 लाख 90 हजार खर्च कर चुका है। उसके पास से पुलिस को मात्र 10 हजार रु बरामद हुए हैं। सूरज के पास से 1 लाख 80 हजार में से 1 लाख 61 हजार रु पुलिस ने बरामद कर लिए है। इस तरह पुलिस को कुल 1 लाख 71 हजार बदमाशो से बरामद करने में सफलता हासिल हुई है।

कम समय में बड़ी कामयाबी हासिल करने वाली कोतवाली पुलिस और थानेदार आरबी शर्मा उनकी टीम को बधाई। लेकिन आप सतर्क रहें,क्योंकि हर बार शातिर बदमाश इतनी जल्दी पुलिस के शिकंजे में नहीं आते। यदि ऐसा कुछ आपके साथ होता है तो आप ब्लैकमेल होने के बजाय पुलिस अधीक्षक या पुलिस कंट्रोल रूम को कॉल करके सूचना देने से नहीं चूके। याद रखे सावधानी में ही सुरक्षा है। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments