Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

जिला पंचायत सभाकक्ष में कांग्रेस नेताओं के जमावड़े पर भाजपा ने आपत्ति दर्ज कराई.. इधर सीएम हेल्पलाईन निराकरण में लापरवाही पड़ी भारी.. 14 विभागों की 74 लंबित शिकायतों पर कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों पर जुर्माना अधिरोपित..

कॉंग्रेस जिला पंचायत अध्यक्ष पर कार्रवाई की मांग
दमोह जिला पंचायत, नगरपालिका एवं जनपद पंचायत में इस बार हुए चुनाव के बाद पूरी तरह से नारी शक्ति का बर्चस्व कायम हुआ है। लेकिन नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों के पदभार ग्रहण के बाद से ही उनकों आवंटित किए गए कक्षो में उनके परिजनों पार्टीजनों की सक्रियता बढ़ती नजर आने लगी है। जिससे पंचायत पालिका राज के संचालन में महिलाओं की सहभागिता की शासन की मंशा पर ग्रहण लगने लगा है। इधर जिला पंचायत के अध्यक्ष पद पर कांग्रेस समर्थित रंजीता गौरव पटेल के निर्वाचन के बाद जिला पंचायत कार्यालय में कांग्रेस नेताओं की आवाजाही बढ़ गई है। 
पिछले दिनों नगरपालिका अध्यक्ष मंजू वीरेंद्र राय के पदभार ग्रहण समारोह में जबलपुर से दमोह पहुचे पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया का जिला पंचायत सभाकक्ष में कांग्रेस नेताओं द्वारा स्वागत किये जाने का मामला भी अब तूल पकड़ता जा रहा है। मामले में भाजपा पदाधिकारियों द्वारा कलेक्टर के नाम ज्ञापन देकर शिकायत भी दर्ज कराई गई है। शासन के निर्देशों का पालन ना करने पर नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पर कार्रवाई की मांग की गई। 
जिला उपाध्यक्ष अमित बजाज ने बताया कि लगातार समाचार पत्रों में प्रकाशित हो रही खबर जिसमें वर्तमान में नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष रंजीता पटेल की सहमति से उनके पति द्वारा शासकीय मीटिंग हाल में कॉंग्रेस की बैठक संपन्न हुई है, जिसकी किसी प्रकार की अनुमति नहीं दी गई है, और यदि दी गई है तो क्या वह न्यायसंगत है इस प्रकार उनके पति द्वारा जिला पंचायत का संचालन किया जा रहा है जो सरकार के नियमों के विपरीत है तथा शासन नियमानुसार तत्काल ही इन पर कार्रवाई करते हुए इनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जावे साथ ही निर्देशों के अनुरूप यदि महिला प्रतिनिधि के पति कार्यालय चलाते हैं एवं बैठक करते हैं तो अध्यक्ष पद समाप्त करनेकी कार्यवाही शासन स्तर को भेजी जाये।
उक्त प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए कार्यवाही करने का कष्ट करें। यदि कार्यवाही नहीं की जाती तो हमारे द्वारा विरोध किया जाकर उच्च स्तर पर कार्यवाही किये जाने हेतु आंदोलन कर अवगत कराया जायेगा। ज्ञापन सौंपने वालों में जिला उपाध्यक्ष अमित बजाज, बृज गर्ग, जिला मंत्री अरविंद उपाध्याय, अरूण सोनी, धर्मेंद्र चौबे उपस्थित रहे।
 
इधर सीएम हेल्पलाईन निराकरण में लापरवाही पड़ी भारी..
दमोह। सीएम हेल्पलाईन पोर्टल पर माह जुलाई 2022 में अनिराकृत पाई गई शिकायतें जिनका निराकरण एल.1 एल.2 अधिकारियों द्वारा समय.सीमा में नहीं किये जाने एवं वरिष्ठ कार्यालयों द्वारा जारी निर्देशों की अवहेलना किये जाने के फलस्वरूप कलेक्टर एसण्कृष्ण चैतन्य ने जिले के 14 विभागों की 74 शिकायतों पर प्रति शिकायत 100 रूपये के मान से 7 हजार 400 रूपये का जुर्माना अधिरोपित किया है।
 कलेक्टर श्री चैतन्य ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि अर्थदण्ड की राशि 7 दिवस में लोक सेवा प्रबंधन के कार्यालय कक्ष क्रमांक 72 कलेक्ट्रेट में जमा करते हुये रेडक्रास सोसाइटी की रसीद प्राप्त करें साथ ही आदेशित किया है कि शिकायतों के अनिराकृत होने की पुर्नावृत्ति न हो।  ज्ञातव्य है नागरिकों की शिकायतों के गुणवत्तापर्ण एवं संतुष्टिपूर्ण निराकण करने हेतु राज्य शासन द्वारा सीएम हेल्पलाईन 181 को संचालित किया जा रहा है। सीएम हेल्पलाईन 181 पोर्टल पर नागरिकों से प्राप्त शिकायतों के निराकरण में एल.1 एल.2 अधिकारियों का मुख्य उत्तरदायित्व रहता है। शिकायतों के गुणवत्तापूर्ण एवं संतुष्टिपूर्ण निराकरण के संबंध में लोक सेवा प्रबंधन विभाग द्वारा पर्याप्त प्रशिक्षण भी दिया गया है साथ ही समय.समय पर निर्देश भी जारी किय गये हैं। प्रशिक्षण व निर्देशों के उपरांत भी सीएम हेल्पलाईन पोर्टल पर प्राप्त शिकायतें अनिराकृत पाई जा रही हैं।

Post a Comment

0 Comments