Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

शहर का प्रथम नागरिक बनने उल्टी गिनती शुरू.. कांग्रेस की मंजू राय के मुकाबले भाजपा ने विक्की गुप्ता को मैदान में उतारा.. टीएसएम की भूमिका पर सभी की नजर.. पूर्व उपाध्यक्ष परिवार से इस बार का अध्यक्ष चुना जाना तय..

 कांग्रेस की मंजू राय के मुकाबले भाजपा से विक्की गुप्ता

दमोह। शहर का प्रथम नागरिक बनने के लिए मुकाबले की घड़ी आखिरकार सामने आ गई है नगर पालिका अध्यक्ष बनने के लिए उल्टी गिनती शुरू होने के साथ दावेदारों के साथ उनके समर्थकों के दिल की धड़कन बढ़ गई है इधर भाजपा ने भारी विचार-विमर्श के बाद आखिरकार अपने अध्यक्ष पद के प्रत्याशी के नाम की घोषणा देर रात कर दी है जिसके बाद अब दमोह नगर पालिका के अध्यक्ष पद हेतु कांग्रेस की मंजू वीरेंद्र राय का मुकाबला भाजपा के विक्की विक्रांत गुप्ता से होना तय हो गया है। वही उपाध्यक्ष पद पर काग्रेस की सुषमा विक्रम सिंह को भाजपा के मनीष शर्मा टक्कर देंगे।

20 का जादुई आंकड़ा बनाएगा प्रथम नागरिक..
दमोह नगर पालिका के 39 पार्षदों में से शहर का प्रथम नागरिक यानी अध्यक्ष बनने के लिए 20 पार्षदों के जादुई आंकड़े की आवश्यकता है। कांग्रेस कि 17 पार्षद निर्वाचित होकर आए हैं जिससे उन्हें मात्र 3 पार्षदों की जरूरत है जबकि भाजपा की तरफ से 14 पार्षद निर्वाचित हुए हैं जिससे उनको 6 पार्षदों की आवश्यकता है। बसपा की तरफ से एक पार्षद तथा सात निर्दलीय पार्षद जीत कर आए हैं जिनमें से पांच असंगठित दल टीम सिद्धार्थ मलैया के घोषित प्रत्याशी हैं। अध्यक्ष चुनाव के लिए टीम सिद्धार्थ मलैया द्वारा अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले गए जिस वजह से नगर पालिका अध्यक्ष की जीत को लेकर सस्पेंस बरकरार है। भाजपा छोड़ने के बाद सिद्धार्थ मलैया द्वारा की गई घोषणा पर यदि गौर किया जाए वह कांग्रेस के साथ नहीं जाएंगे वही भाजपा को समर्थन देंगे इसकी भी कोई गारंटी नहीं है। 
टीम सिद्धार्थ तीसरे पर भी दाव लगा सकती है..
यह भी हो सकता है कि टीम सिद्धार्थ समर्थक 5 पार्षद वोटिंग से अनुपस्थित रहे। यदि ऐसा हुआ तो कांग्रेस को आसानी से बहुमत मिल जाएगा क्योंकि 39 में से 5 पार्षद के अनुपस्थिति में शेष 34 में से 17 17 पार्षद कांग्रेस के पास पहले से ही है। इधर टीम सिद्धार्थ मलैया भाजपा क्यों किसी अन्य पार्षद को अपना समर्थन देकर जिला पंचायत चुनाव की तरह भाजपा की किरकिरी करने की रणनीति भी अपना सकती है। ऐसे में सभी की निगाहें अब टीएसएम की रणनीति की ओर लगी हुई है। इधर भाजपा अध्यक्ष प्रत्याशी विक्की गुप्ता एवं उपाध्यक्ष प्रत्याशी मनीष शर्मा को निर्दलीयों के अलावा कांग्रेस के कुछ असंतुष्ट पार्षदों के समर्थन की भी उम्मीद बनी हुई है। ऐसे में देखना होगा 20 का जादुई आंकड़ा कौन हासिल करके शहर के प्रथम नागरिक का ताज पहनता है।
पूर्व उपाध्यक्ष परिवार से होगा इस बार का अध्यक्ष..
इस बार के नगर पालिका अध्यक्ष चुनाव में यह संयोग ही कहा जाएगा कि चुनाव जीतने वाला प्रत्याशी पूर्व में अपनी पार्टी से नगरपालिका उपाध्यक्ष परिवार का सदस्य रहेगा। दरअसल कांग्रेस की तरफ से नगर पालिका की अध्यक्ष पद प्रत्याशी श्रीमती मंजू राय तथा उनके पति वीरेंद्र राय पूर्व में कांग्रेस की ओर से नगर पालिका के उपाध्यक्ष रह चुकी है यह पहला मौका है जब वह नगर पालिका अध्यक्ष का चुनाव लड़ने जा रही है। 
इधर भाजपा की तरफ से नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए घोषित प्रत्याशी विक्की और विक्रांत गुप्ता के पिता स्वर्गीय भरत गुप्ता भी भाजपा की तरफ से दमोह नगर पालिका के 5 साल तक अध्यक्ष रह चुके हैं वहीं उनकी माता जी भी भाजपा पार्षद रह चुकी है। इस वार के नगर पालिका चुनाव में पहली बार मैदान में उतर कर विकी गुप्ता ने शानदार जीत दर्ज करके पार्षद चुने गए है। भारतीय जनता पार्टी से लगातार जुड़े रहने और संस्थापक परिवार के सदस्य होने की वजह से ही विकी गुप्ता को नगर पालिका चुनाव में अध्यक्ष पद का प्रत्याशी घोषित किया गया है। भाजपा द्वारा विक्की को अध्यक्ष प्रत्याशी घोषित किया गया है यदि वह जीते तो पूर्व उपाध्यक्ष परिवार से होंगे और यदि मंजू वीरेंद्र राय जीती तो वह भी पूर्व उपाध्यक्ष परिवार से होंगी राजेन्द्र अटल

Post a Comment

0 Comments