Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

भिक्षावृत्ति बाल मजदूरी के लिए चर्चित गांव..तिंदौनी में विधिक साक्षरता जनजागरूकता शिविर में.. शामिल हुए न्यायाधीश व अधिकारी.. विश्व अन्तर्राष्ट्रीय न्याय दिवस पर आयोजन..

 विश्व अन्तर्राष्ट्रीय न्याय दिवस पर आयोजन..

दमोह। बच्चों को बेहतर जीवन और शिक्षा मिले साथ में पात्र हितग्राहियों को जन सुविधाओं का लाभ मिले इस बात को लेकर लगातार प्रयास जारी हैं और इसी क्रम में जिला मुख्यालय से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर ग्राम तिंदौनी में एक विशेष शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें जिला न्यायाधीश सचिव महोदय अम्बुज पाण्डेय ने जहां बच्चों के दर्द को सुना तो वहीं ग्रामीणों की समस्याओं को जाना ओर उनके निराकरण के संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये।

ज्ञात हो कि विश्व अंतर्राष्ट्रीय न्याय दिवस के अवसर पर ग्राम तिंदौनी में विधिक साक्षरता जनजागरूकता शिविर का आयोजन किया गया था। जिसमें बड़ी संख्या में बच्चों और ग्राम के लोगों की समस्याओं को सुना गया और निराकरण करने के निर्देश दिये गये। कार्यक्रम का शुभारंभ मां वीणापाणी की अराधना एवं दीपप्रज्जवलन के साथ जिला न्यायाधीश अम्बजु पाण्डेय एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अजय श्रीवास्तव एवं मंचासीन अतिथियों द्वारा किया गया। वही दूसरी ओर मंचासीन अतिथियों की मानवंदना पुष्पगुच्छ से ग्राम पंचायत तिंदौनी के बच्चों द्वारा किया गया।

nayay

बेहतरीन प्रस्तुति देकर अन्य के साथ नट बच्चों ने मंचासीन अतिथियों का मन मोह लिया तो वही दूसरी ओर ग्राम पंचायत के सभाकक्ष में उपस्थित बड़ी संख्या में संबंधित विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों के साथ ग्रामीणों को तालियां बजाने के लिये मजबूर कर दिया। एक मंझे कलाकारों की तरह उन बच्चों ने प्रस्तुति दी जो भिक्षावृत्ति एवं शालात्यागी के रूप में जाने जाते हैं। उक्त शिविर में जिला न्यायाधीश अम्बुज पाण्डेय ने जहां बच्चों के दर्द को सुना उसे महसूस किया तो वहीं ग्रामीणों से भी चर्चा की एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों को तत्काल समस्याओं का निराकरण कराने के लिये निर्देश दिये।

jaj

ज्ञात हो कि तिंदौनी ग्राम में बालभिक्षावृत्ति के साथ शाला त्यागी और बालमजदूरी से संबंधित लगातार शिकायतें प्राप्त होती रहती हैं। इसी विषय को लेकर उक्त शिविर में निराकरण करने का प्रयास किया गया। महत्वपूर्ण बात यह है कि जिला न्यायाधीश अम्बुज पाण्डेय ने अधिकांश बच्चों एवं ग्रामीणों से स्वयं चर्चा की उनके दर्द को जाना जिसको लेकर इन सभी में आत्मविश्वास जागृत हुआ और वह बिना डर के अपनी बात करते आये। इस अवसर पर अन्य लोगों के साथ नट जाति के बच्चे और परिजन अपनी समस्यायें लेकर आये थे।

भिक्षावृत्ति बालमजदूरी और तिंदौनी- बच्चे देश का भविष्य होते हैं अगर उनका बचपन सही ढंग से प्रारंभ हो उन्हें बेहतर स्वास्थ्य शिक्षा मिल सके तो देश भी मजबूत स्थिति में होता है परंतु दमोह जिले के ग्राम तिंदौनी में भिक्षावृत्ति बाल मजदूरी शाला त्यागी बच्चों की बड़ी संख्या हैं। ज्ञात हो कि एक सर्वे के अनुसार यह संख्या 143 बताई गयी है। जिसमें 60 बच्चे और 83 बच्च्यिां सम्मिलित है जो भिक्षावृत्ति और बाल मजदूरी करके अपना जीवन.यापन करते हैं। वही दूसरी ओर 143 वह बच्चे हैं जो शिक्षा के अधिकार का लाभ प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं। जिसकों लेकर ग्राम तिंदौनी आये दिन चर्चाओं में बना रहता है। शासन द्वारा अनेक जन कल्याणकारी योजनाओं को लेकर बात की जाती है। परन्तु यहां पर योजनाओं के लाभ से आखिर यह सब वंचित क्यों हैं। इसी विषय को लेकर जिला न्यायाधीश अम्बुज पाण्डेय ने उनके दर्द को समझा जाना एवं निराकरण के निर्देश दिये।

bal

नहीं बने दस्तावेज होती है परेशानी- ग्राम तिंदौनी में आयोजित विश्व अंर्तराष्ट्रीय न्याय दिवस के अवसर पर शिविर में एक महत्वपूर्ण बिन्दु और उभरकर सामने आया जिसमें अनेक बच्चों के महत्वपूर्ण दस्तावेज नहीं बने थे जिसमें जन्मप्रमाण पत्र आधार कार्ड समग्र परिवार आईडी राशनकार्ड आयुष्मान कार्ड और जाति प्रमाण पत्र सम्मिलित हैं इनकी संख्या 423 है।

हरियाली लाने के संकल्प को दोहराया- पर्यावरण के बिगड़ते संतुलन को ठीक करने के लिये लगातार प्रयास जारी है राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर प्रदेश भर में पंच.ज अंतर्गत लगातार वृक्षारोपण का क्रम जारी हैए जिसके तहत दमोह जिले में भी विभिन्न विभागों के समन्वय से हरियाली लाने का संलग्न लाया जा रहा है। ग्राम तिंदौनी में आयोजित उक्त कार्यक्रम में वृक्षारोपण के माध्यम से वृक्षों के संवर्धन और संरक्षण को लेकर संदेश और संकल्प को दोहराया गया।
विश्व अंर्तराष्ट्रीय न्याय दिवस के अवसर पर ग्राम तिंदौनी में आयोजित शिविर के दौरान महिला सशक्तिकरण अधिकारी संजीव मिश्रा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत विनोद जैन सरपंच श्रीमती मीना सोमेश गुप्ता आजीविका मिशन के प्रमुख श्याम गौतम चाईल्ड लाईन दमोह से गोविन्द यादव यूनीसेफ से वीरेन्द्र जैन सहित अन्य विभागों के आलाअधिकारी के साथ जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीणों की उपस्थित रही।

 

Post a Comment

0 Comments