Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

भाजपा से जानकी/ चंद्रभान सिंह और कांग्रेस से रंजीता गौरव पटेल जिला पंचायत अध्यक्ष प्रत्याशी.. तीसरा प्रत्याशी बिगाड़ सकता है खेल..जिला पंचायत में जीत का गणित कैसे बनेगा..?

 जिला पंचायत में जीत का गणित कैसे बनेगा..?

मध्य प्रदेश में 29 जुलाई को होने जा रहे जिला पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के चुनाव की विस्तृत चुकी है। गैर दलीय आधार पर हुए पंचायत चुनाव के बावजूद भाजपा तथा कांग्रेस के बड़े नेता प्रदेश के सभी जिलों में अपने समर्थक प्रत्याशियों को अध्यक्ष उपाध्यक्ष बनवाने के लिए सक्रिय हो चुके हैं। अधिकांश जिलों में नजदीकी मुकाबले के चलते निर्दलीय प्रत्याशी जहां चुनाव नतीजों के बाद से भूमिगत बने हुए हैं सौदेबाजी का खेल भी पर्दे के पीछे से चल रहा है। ऐसे में जय पराजय का ऊंट किस करवट बैठेगा इसके लिए अगले 12 घंटे महत्वपूर्ण होंगे वही चुनावी गोटिया बैठाने के मामले में आज की रात सबसे महत्वपूर्ण होगी।

दमोह जिला पंचायत के 15 सदस्यों के चुनाव नतीजे किसी भी दल के पक्ष में नहीं रहे हैं। कांग्रेस समर्थक पांच, भाजपा समर्थक चार प्रत्याशियों की जीत के दावे के बीच 6 निर्दलीय प्रत्याशियों की भूमिका महत्वपूर्ण बनी हुई है वही अध्यक्ष पद हेतु समर्थन देने के बदले में निर्दलीय सदस्य उपाध्यक्ष पद की चाह बताने से नही चूक रहे हैं। जो सभी के लिए संभव नहीं हो पाने पर मैनेजमेंट के जरिए गुड़ा भाग दावेदार जुटे हुए हैं।
भाजपा ने जानकी चंद्रभान को बनाया प्रत्याशी..
जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए भाजपा ने एक बार फिर लोधी समाज के प्रत्याशी पर दाव लगाया है। हर्रई क्षेत्र से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीतने वाली पूर्व सांसद पूर्व विधायक पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष चंद्रभान सिंह की धर्मपत्नी जानकी सिंह को भाजपा द्वारा प्रत्याशी घोषित किया गया है।

janki

जिन के पक्ष में आवश्यक सदस्यों की वोट जुटाने की कवायद में अब जिला भाजपा अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी अपनी टीम के साथ जा रहे हैं।
चंद्रभान की चंदन, दृगपाल के साथ सीएम से मुलाकात चर्चाओं में
भाजपा की तरफ से जिला पंचायत अध्यक्ष प्रत्याशी बनाए जाने के लिए चंद्रभान सिंह ने अपने बड़े भाई जिला पंचायत सदस्य कांग्रेस बसपा के नेता रहे चंदन सिंह के अलावा राहुल सिंह के भाजपा में शामिल होने पर स्याही उछालने वाले क्रांतिकारी युवा तथा हाल ही में जिला पंचायत सदस्य चुने गए दृगपाल सिंह के साथ भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की थी।

chandan

 इस दौरान जिले के प्रभारी मंत्री गोविंद सिंह राजपूत एवं अन्य नेता भी मौजूद रहे थे इसी के बाद जानकी/ चंद्रभान सिंह को भाजपा का जिला पंचायत अध्यक्ष प्रत्याशी घोषित किए जाने की जानकारी सोशल मीडिया पर सामने आई थी.

भाजपा समर्थक सदस्यों की संख्या चार..जिला पंचायत के चुनाव में भाजपा को अपेक्षित सफलता नहीं मिल पाने के बावजूद पार्टी समर्थक 4 सदस्यों के जीतने का दावा भाजपा नेता करते रहे है। क्षेत्र क्रमांक 1 से जीती लक्ष्मी संतोष अठ्या, क्षेत्र क्रमांक 3 से जीती रानी धर्मेंद्र पटेल, क्षेत्र क्रमांक 7 से जीती जानकी चंद्रभान सिंह, क्षेत्र क्रमांक 11 से जीती उर्मिला बलराम पटेल को भाजपा समर्थित बताया जाता रहा है। ऐसे में भाजपा को अपना अध्यक्ष उपाध्यक्ष बनवाने के लिए चार निर्दलीय सदस्यों के समर्थन की आवश्यकता है। 
भाजपा को चार और वोट कहां से मिलेंगे..? भाजपा द्वारा चंद्रभान सिंह की पत्नी को प्रत्याशी बनाए जाने के बाद उनको जेठ चंदन सिंह की वोट मिलना तय बताया जा रहा है वही मख्यमंत्री के साथ मुलाकात के दौरान नजर आए दृग पाल सिंह की वोट भी यदि जोड़ ली जाए तब भी 2 सदस्यों की वोट की जरूरत भाजपा को और पड़ेगी। क्षेत्र क्रमांक आठ से जीती मोहिनी अभिषेक जैन और क्षेत्र क्रमांक 9 से जीते मनीष तंतुबाय पूर्व विधायक प्रतिनिधि और भाजपा पदाधिकारी रहे हैं ऐसे में भाजपा की नजर इन दोनों सदस्यों पर भी लगी हुई है।  वहीं जातिवादी गणित से भाजपा को कांग्रेस के दो लोधी समाज के सदस्यों की वोट भी मिलने की उम्मीद लगी हुई है।
कांग्रेस ने रंजीता गौरव पटेल को प्रत्याशी बनाया.. 
जिला पंचायत अध्यक्ष पद हेतु भाजपा द्वारा लोधी समाज से प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद कांग्रेस ने कुर्मी समाज के प्रत्याशी पर दांव खेला है। पिछले विधानसभा चुनाव में पथरिया क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी रहे गौरव पटेल की धर्मपत्नी रंजीता पूर्व में पथरिया जनपद की अध्यक्ष रह चुकी हैं।

gourav

हाल ही में हुए जिला पंचायत चुनाव में उन्होंने सदगुवा क्षेत्र से शानदार जीत दर्ज की थी। जिला पंचायत के 3 सदस्यों के कुर्मी समाज के होने की वजह से कांग्रेस ने उन पर दांव लगाया है। 
कांग्रेस समर्थक सदस्यों की संख्या 5.. जिला पंचायत के नव निर्वाचित सदस्यों में कांग्रेस समर्थित पांच सदस्यों की जीत का दावा कांग्रेस नेता करते रहे हैं। क्षेत्र क्रमांक 4 से जीती रंजीता गौरव पटेल, क्षेत्र क्रमांक 5 से जीती अशोक रानी अहिरवार, क्रमांक 13 से जीती विनीता बृजेंद्र सिंह क्षेत्र क्रमांक 14 से जीती जमुना बाई देशराज सिंह तथा क्षेत्र क्रमांक 15 से रजनी ठाकुर साफ तौर पर कांग्रेस समर्थित सदस्य कहीं जा सकते हैं। लेकिन तभी कांग्रेस को अपना अध्यक्ष उपाध्यक्ष बनाने के लिए तीन सदस्यों की आवश्यकता होगी।
कांग्रेस को तीन वोट और कहां से मिलेंगे..कांग्रेस द्वारा रंजीता गौरव पटेल को जिला पंचायत अध्यक्ष पद का प्रत्याशी बनाए जाने के बाद अपने पांच सदस्यों के अलावा तीन और वोट किन किन सदस्यों के मिल सकते है इसको लेकर गुणा भाग चालू हो गया है। कांग्रेस की नजर अब क्षेत्र क्रमांक 6 से जीती बबीता कौशल सिंह पोर्ते के अलावा क्षेत्र क्रमांक 12 से जीती मंजू धर्मेंद्र कटारे पर है। वही क्षेत्र क्रमांक 1 से जीते दृगपाल सिंह की वोट की आस भी कांग्रेस लगाए हुए हैं। इसके अलावा कांग्रेस प्रत्याशी को क्रास वोटिंग में अपने सजातीय सदस्य उर्मिला बलराम पटेल तथा रीना धर्मेंद्र पटेल की वोट मिलने की उम्मीद है।
उर्मिला बलराम पटेल भी भर सकती है नामांकन..कांग्रेस भाजपा प्रत्याशियों का खेल बिगाड़ने के लिए भाजपा समर्थित सदस्य उर्मिला बलराम पटेल भी जिला पंचायत अध्यक्ष पद हेतु अपना नामांकन दाखिल कर सकती है। उल्लेखनीय है कि जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीतने के बाद केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल का आशीर्वाद अध्यक्ष पद के लिए इन्होंने प्राप्त किया था। जिसके बाद इनके द्वारा सदस्यों से लगातार संपर्क किया जा रहा था वही इस बीच भाजपा द्वारा जानकी चंद्रभान को प्रत्याशी बना देने से उर्मिला बलराम का खेल बिगड़ गया ऐसे में वह चुनाव में खड़े होकर अब भाजपा का भी खेल बिगाड़ सकती है।
दृगपाल और धर्मेंद्र की नजर उपाध्यक्ष पद पर..जिला पंचायत के उपाध्यक्ष पद पर निर्दलीय सदस्य दृगपाल सिंह और मंजू धर्मेंद्र कटारे की नजर लगी हुई है। बताया जा रहा है कि भाजपा की तरफ से दृगपाल को और कांग्रेस की तरफ से मंजू धर्मेंद्र को उपाध्यक्ष पद हेतु आश्वस्त किया गया है। वही भाजपा के पास सात सदस्य नही हो पाने की दशा में दृगपाल अपना पाला भी बदल सकते हैं. 

Post a Comment

0 Comments