Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

आठ लाख की उठाईगिरी का चंद घंटो में पर्दाफाश, एक आरोपी से करीब 6 लाख जब्त, बाकी राशि के साथ दूसरा फरार..पुलिस सायवर सेल ने 11 लाख की राशि वापस दिलाई

आठ लाख की उठाईगिरी का चंद घंटो में पर्दाफाश

दमोह।  नगर के मोरगंज गल्ला मंडी क्षेत्र से करीब आठ लाख की उठाईगिरी की घटना का पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए पर्दाफाश करने में सफलता हासिल की है। पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि करीब आठ लाख की रकम की उठाईगिरी करने वाले आरोपियों में से एक आरोपी को पकड़ लिया गया है जबकि दूसरे की तलाश जारी है।

पुलिस कंट्रोल रूम में कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य की उपस्थिति में नगरीय निकाय चुनाव मतदान तैयारी को लेकर आयोजित पत्रकार वार्ता में एसपी डीआर तेनीवार ने कोतवाली क्षेत्र में हुए करीब 8 लाख के उठाई गई मामले का खुलासा किया। इस दौरान एएसपी शिव कुमार सिंह, सीएसपी अभिषेक तिवारी, पीआरओ वाएए कुरैशी, टीआई सत्येंद्र सिंह, थाना प्रभारी तेजगढ़ बृजेश पांडे, आरआई संजय सूर्यवंशी मौजूद रहे।
 

 4 जुलाई को बकायन निवासी रोहित असाटी ने 7 लाख 90 हजार रुपये चोरी होने की रिपोर्ट कोतवाली में की थी। घटना की संवेदनशीलता को देखते हुये थाना प्रभारी कोतवाली द्वारा प्राप्त सीसीटीव्ही फुटेज एवं मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त होने पर ग्राम किल्लाई के पास से संदेही राजा पिता दोहराज पारदी निवासी पारदीटोला सुरखी जिला सागर को पकड़कर कड़ाई से पूछताछ की। जिस पर संदेही आरोपी द्वारा उक्त घटना कारित करना स्वीकार किया गया एवं आरोपी के कब्जे से 5 लाख 85 हजार 500 रूपये जप्त किये गये। पूछताछ पर बताया कि इसका एक साथी नाम महोत्रा निवासी गनेश गंज जिला सागर का शेष रूपये लेकर कही चला गया है जिसकी लताश जारी है। गिरफ्तार आरोपी ने यह पैसा रिश्तेदार के घर के पीछे जमीन में बेग सहित गाड दिया था। 

rkm

  आरोपी शातिर बदमाश बताया जा रहा है जिससे अन्य वारदात के खुलासा की उम्मीद है। साथ ही फरार आरोपी के दस्तयाव होने पर शेष राशि मशरूका बरामद होने की उम्मीद है। आरोपीगण सामान्य आदमी व ग्राहक बनकर किसी भी दुकान के आसपास देखते रहते है रैकी करते रहते है जैसे ही अवसर प्राप्त होता है कीमती सामान व बैग उठाकर चल देते है आरोपी के अनुसार कई बार कीमती चीज मिल जाती है कई बार कुछ नही मिलता है। आरोपी के अनुसार संयोग से फरियादी की लापरवाही से काफी पैसा मिल गया परंतु पुलिस की सक्रियता से पकड़ में आ गये। आरोपी के अनुसार रिश्तेदारी में शादी में आये थे खर्च पानी निकालने के लिये वारदात कर ली थी।   मामले में थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक सतेन्द्र सिह राजपूत, उनि सविता रजक, प्र.आर. वंदना, राकेश अठ्या, आर. गनपत, आसिफ, म.आर. सोनाली, इंदु गौतम आदि कर्मचारियों ने काफी महनत व सराहनीय कार्य करने में अपनी भूमिका निभाई है।

गुम हुये मोबाईल पाकर आवेदको के चहरे मेें आई खुशी
दमोह। विगत् माहो में गुम मोबाईल के आवेदनो पर सायवर सेल टीम द्वारा जिले के विभिन्न क्षेत्रो से मोबाइलो की पतारसी करते हुये 05 गुम मोबाइलो को प्राप्त करने में सफलता प्राप्त की गई है।  उक्त मोबाइलो की कीमत लगभग 71 हजार रूपये है 05 आवेदको को पुलिस कंट्रोल रूप दमोह में वितरित किये गये, आवेदको की नाम निम्नानुसार  है - 
1 अनुराग राठौर वीवो 10.000/-
2 दीपक अठ्या आनप्लस 25000/-
3 प्रदुम्म केवट वीवो 13000/-
4 दीपक पटेल वीवो 13000/-
5 आशीष सेन सेमसंग 10000/-
योग 71000/-
 पुलिस सायवर सेल ने 11 लाख से अधिक की राशि वापस दिलाई
दमोह। विगत् माहो में पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आवेदको के साथ सायवर ठगी की शिकायतें प्राप्त हो रही थी जिस पर उक्त शिकायतों को गंभीरता से लेते हुये सायवर सेल शाखा को उक्तो शिकायतों के संबंध में तत्परता से कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया ।
सायवर सेल टीम द्वारा माह जनवरी 2022 से माह जून 2022 तक की स्थिति कें प्राप्त आवेदको की शिकातयों पर ठगी करने वालो के खातो पर तत्काल संबंधित बैकों से संपर्क कर उक्त खाते को होल्ड कराते हुये शेष राशि की बचत कराई गई। उक्त कार्यवाही उपरांत संबंधित बैको से संपर्क कर प्राप्त आवेदको जैसे ध्रव कुमार चौबे नि0 हिरदेपुर, पंकज अग्रवाल नि0 दमोह, दीपक पटेल नि0 दमोह, शिशंाक राठौर नि0 दमोह, रविकांत अठ्या नि0 हटा और अन्य के साथ की ठगी राशि में से 6,43,000 रूपये की राशि को फ्रीज कराया गया एवं 4,69,600 रूपये की राशि को आवेदको के खाते में वापिस कराया गया है। उक्त सफलता प्राप्त करने में सायवर सेल टीम का विशेष योगदान रहा। राजा ठाकुर की रिपोर्ट

 

Post a Comment

0 Comments