Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

सावधान बारिश के दिनों में रफ्तार पर नियंत्रण जरूरी.. फिसलने से बाइक सवार युवकों में से एक की मौत दूसरा गंभीर..तेंदूखेड़ा सर्रा क्षेत्र में बारिश में रफ्तार का कहर..

 तेंदूखेड़ा सर्रा क्षेत्र में बारिश में रफ्तार का कहर..

मप्र में मानसून की दस्तक के साथ झमाझम बारिश का दौर शुरू हो गया है हालांकि कहीं ज्यादा और कहीं कम बारिश हो रही है। दमोह जिले के तेंदूखेड़ा के जंगली क्षेत्र में झमाझम बारिश के बीच रफ्तार के कहर के साथ हादसों की श्रंखला शुरू हो गई है..


  दमोह जिले के तेन्दूखेडा थाना के अंतर्गत  सर्रा धनेटा मार्ग पर शनिवार शाम तेज रफ्तार बाइक सवार सड़क किनारे लगी पत्थर की खकरी से टकरा गए। जिससे एक युवक की दर्दनाक मौत हो गई वही दूसरे के घायल हो जाने पर अस्पताल ले जाया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार शंकरघाट मोड़ पर तेज रफ्तार बाइक सड़क से उतरकर नीचे पहुंच गई और खकरी से टकरा गई। पुलिस ने बताया ने बताया कि डायल 100 पर सूचना मिली थी कि दो लोग सड़क किनारे घायल अवस्था में पड़े हुए हैं। पुलिस घायलों को तेन्दूखेडा स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुची जहां जबलपुर के पिपरियाकला  निवासी सूरज पिता चन्नू लोधी 20 को मृत घोषित कर दिया गया। वही उमाशंकर गौड़ का इलाज जारी है।

हादसा

 घटना स्थल पर पहुंचे उपनिरीक्षक प्रदीप चौधरी ने बताया कि सूरज लोधी रिश्तेदारी में बस से झलौन आया हुआ था जहां गांव में ही रहने वाले उमाशंकर गौड़ के साथ झलौन से बाइक से अपने घर पिपरिया जा रहे थे। रास्ते मे धनेटा मार्ग पर शंकरघाट मोड़ पर तेज रफ्तार में अपना नियंत्रण खो बैठे और सड़क छोड़ सड़क किनारे लगी खकरी से जा टकरा गए। रविवार को शव का पंचनामा कार्रवाई कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाएगा।

पूर्व में ही हुए कई हादसे अंधा मोड़.बना वजह..

आपको बता दें कि वह धनेटा सर्रा मार्ग पर पड़ने पर शंकरघाट पुल पर अंधा मोड़ होने के कारण आए दिन यहां पर हादसे होते रहते हैं यहा हादसे होने का मुख्य कारण मोड़ बताया जाता है कि जहां दोनों और से आने वाले वाहन दिखाई नहीं देते हैं साथ ही सड़क किनारे कोई भी सूचना पर्टल नहीं होने के कारण लोगों तेज रफ्तार में चले जाते हैं और वह अपना नियंत्रण खो बैठते और हादसे का शिकार हो जाते हैं।

लोगों ने बताया कि इस स्थान को लोग अप एक्सीडेंट प्वाइंट कहने लगे हैं अधिकारियों द्वारा भी इस मोड़ पर कौई सूचना बोर्ड नहीं लगाए गए हैं ना ही ध्यान दिया जाता है सबसे ज्यादा दिक्कत बारिश के दौरान होती है जब पुल के ऊपर पानी होता है और बाइक सवार नशे के कारण सीधे पुल के नीचे गिरकर घायल हो जाते इस स्थान कई लोगो की जान भी जा चुकी है कि कई बड़े हादसे भी हो चुके हैं साथ ही आए दिन रात में लोग गिरते रहते हैं।तेंदूखेड़ा से विशाल रजक की रिपोर्ट

 

Post a Comment

0 Comments