Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

रंग पंचमी के पहले पांच हजार रुपए की रिश्वत से रंगे आरआई के हाथ.. भूमि सीमांकन के बदले में रिश्वतखोरी महंगी पड़ी..सागर लोकायुक्त की कार्यवाही से मची हड़ंकप

 दमोह। जिले में रिश्वतखोरी का खेल त्योहार पावन के मौके पर भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। सागर लोकायुक्त की टीम ने दमोह पहुंचकर रंग पंचमी के पहले 5000 रुपए की रिश्वत लेते हुए एक और आई को रंगे हाथों पकड़ा है।


होली पर्व के बाद सोमवार को दमोह जिला मुख्यालय के दफ्तर खुलने के बाद ठीक से कामकाज शुरू भी नहीं हुआ था कि अचानक सागर लोकायुक्त टीम की दमोह में दस्तक की खबर से हड़कंप के हालात निर्मित हो गए। लोकायुक्त टीम ने तहसील कार्यालय में पदस्थ राजस्व निरीक्षक  मणिराम गौंड को उनके सरकारी आवास पर 5000 की रिश्वत लेते हुएरंगे हाथों को पकड़ लिया। दरअसन जबलपुर नाका निवासी पंकज जैन ने लोकायुक्त एसपी सागर रामेश्वर यादव को शिकायत की थी कि उसकी भूमि सीमांकन के बदले में आर आई साव रिश्वत की मांग कर रहे है।

bhrast

 जिसके बाद लोकायुक्त टीम ने अपना जाल फैलाकर ऑफिसर कॉलोनी स्थित सरकारी आवास से आरआई मणीराम को पकड़ने की कार्यवाही की। लोकायुक्त की इस कार्यवााही में निरीक्षक श्रीमती मंजू सिंह एवं अभिषेक वर्मा स्टाफ शामिल रहा। लोकायुक्त टीम के द्वारा आरोंपी आरआई के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम की धारा 7 के तहत कार्यवाही जारी है वही रंग पंचमी के पहले रिश्वत के रंग से हाथ रंग जाने के इस हालात ने एक बार फिर साफ कर दिया है कि दमोह के दफ्तरों में बिना लेनदेन के कोई काम नहीं होता यह बात अलग है कि अभी तक लोकायुक्त के जाल में सिर्फ छोटी मछलियां ही फंस रही है। जबकि अनेक दफ्तरों में रिश्वतखोरी का साम्राज्य चलाने वाले मगरमच्छों की भी कमी नहीं है।

Post a Comment

0 Comments