Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

आखिरकार नहीं बचाई जा सकी बोरवेल में गिरे मासूम प्रिंस की जान.. पांच घंटे तक रेस्क्यू कर जान बचाने की कोशिश की गई..डाक्टर ने जांच के बाद कर दिया मृत घोषित..

 दमोह। जिले के पटेरा थाना अंतर्गत बरखेड़ा बैस गांव के एक खेत में खुला पड़ा बोरवेल का गड्ढा आखिरकार एक मासूम की जान का दुश्मन बन गया रविवार को खेत में खेलते समय बोरवेल के खुले गड्ढे में गिरे 3 साल के मासूम प्रिंस को 5 घंटों की मशक्कत के बाद रेस्क्यू करके रात होने के पहले बाहर तो निकाल लिया गया लेकिन उसकी खोई हुई सांसो को नहीं लौटाया जा सका।


प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार दोपहर बरखेड़ा बैस गांव में अठ्या परिवार के खेत मे खुले पड़े पुराने बोरवेल में 3 साल के मासूम प्रिंस के गिर जाने के बाद हड़कंप के हालात निर्मित हो गए थे। जानकारी लगते ही पटेरा थाना पुलिस और हटा एसडीएम अभिषेक ठाकुर मौके पर पहुंच गए थे। वही कलेक्टर एस कृष्ण चेतन्य तथा एसपी डीआर तेनिवार को जानकारी दिए जाने के बाद वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने भी तत्काल रेस्क्यू के निर्देश देते हुए मौके पर पहुंचने में देर नहीं की थी।
हटा विधायक पीएल तंतुबाय सहित सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों की मौजूदगी में बचाव दल द्वारा रेस्क्यू शुरू किया गया था जेसीबी तथा पोकलेन की मदद से बचाओ अभियान दल ने रात होने के पहले मासूम को अचेत अवस्था में बाहर निकालने में सफलता हासिल कर ली थी। इसके बाद उसे पटेरा स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया था जहां उसकी खोई हुई सांसे लौटाने की डॉक्टर टीम द्वारा भारत से कोशिशें की गई लेकिन सफलता नहीं मिल सकी। पटेरा स्वास्थ्य केंद्र के बीएम डॉक्टर  अशोक बरौलिया मासूम को मृत घोषित करते हुए बताया कि करीब 2 घंटे पहले दम घुटने से उसकी मौत हो चुकी थी हालांकि उसके बचाव हेतु चलाकर रहस्यों के दौरान सिलेंडर से ऑक्सीजन पहुंचाने के प्रयास भी लगातार किए जाते रहे थे लेकिन फिर भी उसे बचाया नहीं जा सका।
मामले में प्रशासन द्वारा जारी जानकारी के अनुसार पटेरा तहसील के ग्राम बरखेरा बेस में बोरवेल के गड्ढे में गिरे बच्चे का रेस्क्यू शाम 6.33 बजे पूरा कर लिया गया। मौके पर विधायक पीएल तंतवायए कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्यए पुलिस अधीक्षक डीआर तेनीवारए एसडीएम अभिषेक सिंहए तहसीलदार विकास अग्रवाल एसडीओपी हटा वीरेंद्र बहादुर सिंह टीआई पटेरा एसबी मिश्रा होमगार्ड डिस्ट्रिक्ट कमांडर हर्ष जैन कंपनी कमांडर रजनी खटीक प्लाटून कमांडर प्राची दुबे व योगेश विश्वकर्मा और एसडीआरएफ की मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments