Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

पांच सौ रूपए मानदेय पर सोसायटी में सैल्समैन की नौकरी शुरू करने वाला.. सहायक समिति प्रबंधक करोड़ों का आसामी निकला.. EOW ग्वालियर की छापामार कार्रवााई में बेहिसाब संपत्ति का पता लगने से.. सहकारिता क्षेत्र से जुड़े लोगों में हड़कंप..

 छापामार कार्रवााई में बेहिसाब संपत्ति मिली

शिवपुरी/ग्वालियर। ईओडब्ल्यू ग्वालियर की टीम ने गुरुवार को शिवपुरी जिले में सहकारी समिति पचावली के सहायक प्रबंधक माधुरी शरण भार्गव के विजयपुरम स्थित निवास पर  छापा मार कारवाई करके करोड़ों की संपत्ति के दस्तावेज गोल्ड आदि का पता लगाने में सफलता हासिल की है। पांच सौ रूपए के मानेदय पर नौकरी शुरू करने वाले सहायक प्रबंधक के निवास पर EOW टीम की कार्रवाई शाम तक जारी थी। 

ग्वालियर ईओडब्ल्यू एसपी अमित सिंह के निर्देशन में डीएसपी सतीश चतुर्वेदीए टीआई यशवंत गोयलए भीष्म तिवारीए योगेंद्र दुबे आदि के साथ ईओडब्ल्यू की टीम दस्तावेजों को खंगालने में लगातार जुटी है। टीम द्वारा गुरुवार सुबह 5 बजे अचानक इनके विजयपुरा में स्थित आवास पर पहुंचकर दस्तक देकर शरू की गई कार्रवाई से भार्गव परिवार को कुछ भी छिपाने का मौका नहीं मिल सका। बताया जा रहा है कि 1996 में महज पांच सौ रूपए के मानेदय पर सेल्समैन की नौकरी शुरू करने वाले माधुरी शरण भार्गव ने 26 साल की नौकरी में यह बेहिसाब संपत्ति कैसे हासिल की इसकी जांच जारी है। 
वर्तमान में सहायक प्रबंधक के पद पर भी इन्हें केवल 12500  रूपए का वेतन ही मिलता है। इनके वेतन से प्राप्त आय की गणना की जाए तो 26 साल में केवल 35. 40 लाख रुपए होता है जबकि इन्होंने 26 साल की नौकरी में बेहिसाब संपत्ति कैसे बनाई यह अब जांच व कार्रवााई का विषय है। 

Post a Comment

0 Comments