Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

नवरात्र पंचमी पर चुनरी यात्रा की धूम कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त राहुल सिंह के साथ अनेक भाजपा नेता और भक्तगण हुए शामिल.. रंगीन रोशनी के साथ आकर्षण का केंद्र बनी मां जगत जननी की एक से बढ़कर एक भव्य झांकियां.. समनापुर के लखन ने अपने शरीर पर जवारे उगाए..

 नवरात्र पंचमी पर चुनरी यात्रा की धूम, बड़ी संख्या में भक्त हुए शामिल..

दमोह। शारदीय नवरात्र पंचमी के अवसर पर भक्तजनों ने माता रानी को चुनरी अर्पण के साथ पूजन अर्चन आरती करते हुए भक्ति भाव के साथ अपनी भावनाएं समर्पित की। इस अवसर पर जिले के देवी मंदिरों में विविध धार्मिक आयोजन किए गए। जिनमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु जनों ने शामिल होकर धर्म लाभ अर्जित किया।

दमोह के जेल मंदिर से कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त राहुल सिंह की अगुवाई में विशाल एवं भव्य चुनरी यात्रा निकाली गई जो जिला भाजपा कार्यालय, घंटाघर, धगट चौराहा, बड़ा पुल, महाकाली चौराहा, गौरी शंकर तिराहा होते हुए बड़ी देवी जी मंदिर पहुंची। जहां माता रानी को विशाल चुन्नी चुनरी समर्पित की गई। चुनरी यात्रा का रास्ते में जगह-जगह पुष्प वर्षा कर के जहां स्वागत किया गया वही भक्त जनों ने श्रद्धा के साथ चुनरी में अपना हाथ लगाकर अपनी भावनाओं को समर्पित किया। इस दौरान राहुल सिंह से लेकर जिला भाजपा अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी भाजपा पदाधिकारियों की टीम ग्रामीण क्षेत्रों से आए कार्यकर्ता और भक्तजन भक्ति भाव के साथ माता की भक्ति में झूमते नाचते हुए नजर आए। वही मां बड़ी देवी जी को चुनरी चढ़ाई एवं सोने की नथ एवं बेदी राहुल सिंह द्वारा अर्पण की गई और माता के भोग के लिए चांदी की थाली अर्पण की गई


रंगीन रोशनी के साथ आकर्षण का केंद्र बनी झांकियां
दमोह। शारदेय नवरात्र पर्व के अवसर पर इस वर्ष कोरोना का खतरा कम हो जाने की वजह से दमोह शहर तथा आसपास के क्षेत्रों में करीब 100 स्थानों पर मां जगत जननी की एक से बढ़कर एक भव्य झांकियां सजाई गई है जोकि शाम होते ही आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। वही शहर के हृदय स्थल घंटाघर से पांचों तरफ जाने वाले मार्गो पर देर रात तक भक्त जनों की भीड़ माता रानी की झांकियों के दर्शन करने के लिए उमड़ना शुरू हो गई है।
झांकियों के साज सज्जा बढ़ाकर सर की बात की जाए तो शहर के राय चौराहे के समीप स्थापित होने वाली झांकी इस बार तुम्ही भव्यता के साथ आकर्षक स्वरूप धारण किए हुए हैं इसी तरह एवरेस्ट लात से बस स्टैंड तक जाने वाले मार्ग पर सजाई गई माता रानी के रथ को शेरो द्वारा खींचे जाने की झांकी भी आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। सराफा बाजार की माता रानी का भव्य स्वरूप जहां भक्तों को मंत्रमुग्ध कर रहा है वही शिवाजी स्कूल के समीप हमेशा की तरह मा सिद्धीदात्री भक्तों को वरदान देने की मुद्रा में नजर आती श्रद्धा का केंद्र बनी हुई है।

घंटाघर से टॉकीज तरफ जाने वाले मार्ग पर सराफा के बाद शिवाजी पार्क की मोरपंखी झांकी अत्यंत सुंदर नजर आ रही है वही पुराने थाने के समीप परंपरा अनुसार माता रानी की गांधी को सजाया गया है ज्वाला माई चौराहे पर भी मां शेरोवली के दर्शन भव्य रूप में भक्तों को हो रहे हैं धगट चौराहे से जैन धर्मशाला जाने वाले मार्ग पर माता रानी की भव्य प्रतिमा जहां सभी को मंत्रमुग्ध कर रही है वही समिति गौरी पुत्र गणेश बालस्वरूप में निंद्रा में लीन आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। मामाजी स्कूल और पलन्दी चौराहे के समीप की प्रतिमाएं भी परंपरा के अनुसार लगातार स्थापित होने के साथ आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। अन्य क्षेत्रों की प्रतिमा झांकी दर्शन की खबर के अपडेट के साथ कल फिर मिलते हैं।
समनापुर के लखन ने अपने शरीर पर जवारे उगाए 
दमोह। नवरात्र पर आस्थाओं का ऐसा दौर चलता है कि जिसे देख हर कोई दंग रह जाता। ग्राम समनापुर में एक साधक अपने शरीर पर जवारे उगाकर साधना में लगा है, जिसे देखने के लिए श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। जवारे खुशहाली का प्रतीक होते हैं, यदि जवारे बेहतर तरीके से उगते हैं तो माना जाता है कि आने वाली फसल अच्छी होगी। ग्राम समनापुर निवासी 70 वर्षीय लखन पाटकार  ने आस्था की इसी कड़ी में नवरात्र के पहले दिन से अन्न-जल के साथ अपनी दैनिक दिनचर्या त्याग दी और शरीर पर जवारे बो लिए। 

नौ दिन तक लखन इधर के उधर भी नहीं हो सकते इस साधक की साधना देखकर लोग उसके तप को नमन कर रहे हैं। वह इस प्रकार की साधना निर्जला व्रत रखकर चार वर्ष से लगातार माता की सेवा करते आ रहे हैं ज्वरो के दर्शन के लिए प्रतिदिन श्रद्धालु समनापुर पहुंच कर धर्म लाभ ले रहे है माता स्थपना से पहले ज्वारे बोये जाते है और माता के बिसर्जन के एक दिन पूर्व ज्वरो का विसर्जन होता हैं जिसे देखने के बाद नवरात्रि में माता देवी के उपवास करने बाले भक्त ज्वारे बिसर्जन होने के बाद हो उपबास खोलते हैतेंदूखेड़ा से विशाल रजक की रिपोर्ट

सिंग्रामपुर में खेरमाई माता के दरबार में  भक्तजनों ने 211 मीटर की चुनरी चढ़ाई..
दमोह। सिंग्रामपुर की प्रसिद्ध महामाई खेर माता  दरबार सर्दी नवरात्रि के चलते भक्तों की भीड़ बढ़ रही है सुबह जहां श्रद्धालु जल चढ़ाने के लिए मंदिर पहुंच रहे हैं वही संध्याकालीन महाआरती के दर्शनों मां की एक झलक पाने के लिए महिला बच्चे बुजुर्ग मां के दरबार में खड़े रहते हैं वही आज पंचमी सोमवार को प्राचीन खेरमाई मंदिर में भक्तों द्वारा 211 मीटर की चुनरी चढ़ाकर मां की कृपा पाने के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ती रही चुनरी यात्रा रानी दुर्गावती तिराहा पोडी तिराहा मुख्य बाजार होते हुए बड़ी खेरमाई मंदिर में यात्रा का भक्ति उत्साह के साथ समापन किया गया

 सुबह से लेकर शाम तक खेरमाई माता के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का आना-जाना बना रहता है ऐसी मान्यता है माता के दरबार में सच्ची श्रद्धा से मांगी गई हर मन्नत मां पूरी करती हैं मां के प्रति अटल श्रद्धा भक्ति के चलते मां के दरबार में दर्शनार्थियों की अच्छी खासी भीड़ शारदी नवरात्रि के चलते होती है जहां पर श्रद्धालुओं के द्वारा विविध धार्मिक आयोजन किए जाते हैं जिसके चलते आज माता के दरबार में हजारों श्रद्धालुओं ने चुनरी यात्रा में शामिल होकर मां कुछ चुनरी अर्पण करते हुए मां से आशीर्वाद लेते हुए परिवार की सुख समृद्धि  की कामना की चुनरी यात्रा में श्रद्धालुओं का भक्ति उत्साह देखते ही बनता था मां के जयकारों के बीच ढोल नगाड़ों के साथ यह चुनरी यात्रा पूरी श्रद्धा भक्ति के साथ निकाली गई। सिग्रामपुर से निवेश जैन       

Post a Comment

0 Comments