Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

बैंक वालों को खाता खुलवाने के लिए युवक को पत्नी के साथ चक्कर लगवाना महंगा पड़ा.. दो दिन तक चक्कर लगाने के बाद भी खाता नही खुलने पर गुस्साए युवक ने बैंक में कर दी तालाबंदी.. पुलिस ने ताला खोलकर बैंक कर्मियों को आजाद कराके मामले की जांच शुरू की..

 खाता खुलवाने के लिए बैंक वाले कर रहे थे परेशान गुस्से में आकर युवक ने बैंक में कर दी ताला बंदी..

दमोह। बैंक वालों की मनमानी कार्यप्रणाली से अक्सर आम उपभोक्ताओं को परेशान होना पड़ता है लेकिन लोग चाहकर भी कुछ नहीं कर पाते हैं। ऐसे ही कुछ हालात के शिकार एक ग्रामीण युवक द्वारा बैंक में तालाबंदी कर के कर्मचारियों को घंटे भर तक अंदर बंद रहने को मजबूर कर दे जाने का घटनाक्रम सामने आया है। जिसकी शिकायत किये जाने पर पुलिस ने मामला जांच में लिया है।


यह पूरा घटनाक्रम मप्र के दमोह जिला मुख्यालय से करीब 50 किमी दूर सिग्रामपुर कस्बे में सामने आया है। जहाँ मध्यांचल बैंक में खाता खुलवाने के लिए अपनी पत्नी के साथ परेशान हो रहे प्रदीप मेहरा नाम के युवक ने शाम तक खाता नहीं खुलने पर गुस्से में आकर बैंक का बाहर से चैनल शटर लगाकर तालाबंदी कर दी। जिससे मैनेजर से लेकर कर्मचारी बैंक के अंदर कैद होकर रह गए बाद में मामले की शिकायत स्थानीय चौकी पुलिस को दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तालाबंदी करने वाले युवक को तलाशा और बैंक का शटर का ताला खुलवा कर अंदर कैद हो गए स्टाफ को आजाद कराया।

इस दौरान पीड़ित युवक प्रदीप मेहरा का कहना था कि वह 2 दिन से बैंक के चक्कर लगा लेकिन अधिकारी खाता खोलने के बजाए टाला मटोली कर रहे थे। जिससे मजबूरी में उसे यह कसम उठना पड़ा। जबकि बैंक मैनेजर राजेंद्र वर्मा का कहना है कि युवक नशे में था और उसके द्वारा गाली-गलौज करते हुए तालाबंदी की गई जिसकी शिकायत पुलिस से की गई है। जबकि इस मामले में पुलिस चौकी प्रभारी धर्मेंद्र उपाध्याय का कहना है मामला जांच में लिया गया है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। सिग्रामपुर निवेश जैन की रिपोर्ट

Post a Comment

0 Comments