Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

नाबालिग छात्रा से ज्यादती के बाद गला दबाकर हत्या और नाले में शव फेंकने वाला आरोपी फर्जी फार्मासिस्ट मेडिकल स्टोर संचालक निकला.. इधर पटेरा थाना क्षेत्र में नमकीन लेने गई 8 साल की मासूम से किराना दुकान चलाने वाले किशोर ने किया दुष्कर्म..

ज्यादती के बाद नाबालिक छात्रा की हत्या कर नाले में शव फेंके जाने की अंधी गुत्थी का खुलासा

दमोह। पिछले दिनों हिंडोरिया थाना अंतर्गत एक छात्रा के साथ ज्यादती के बाद हत्या करके शव को बांदकपुर बनवार मार्ग पर पुलिया से नाले में फेंक दिए जाने के सनसनीखेज अंधे घटनाक्रम का आखिरकार पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में लेकर खुलासा करने में सफलता हासिल की है। आरोपी एक फर्जी फार्मासिस्ट और मेडिकल स्टोर का संचालक निकला है जिसने अपने मेडिकल स्टोर का शुभारंभ पिछले  महीने एक वरिष्ठ पत्रकार से कराया था। पूर्व में यह हिंडोरिया के एक मेडिकल स्टोर में काम करता था तभी से उस की उक्त छात्रा से जान पहचान थी।



एसपी डीआर तैनीवार मामले का खुलासा करते हुए पूरे घटनाक्रम से लेकर आरोपी के पकड़े जाने के संदर्भ में जानकारी देते हुए बताया 19 सितंबर को बांदकपुर के कुंज घाट पर नाबालिग का शव मिलने पर मर्ग क. 58/21, धारा 174 जा.फौ. की जाँच की गई थी। जिस पर से थाना हिण्डोरिया में अप.क. 457/21, धारा 363, 366 (क), 302, 201 ताहि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। 


घटना स्थल का पर्यवेक्षण एसपी तथा डीएसपी (अजाक) प्रभारी एसडीओपी पथरिया सुदामा प्रसाद शुक्ला द्वारा किया गया था। उक्त घटना गंभीर प्रकृति की थी 17 वर्षीय बालिका का घर में बिना बताये जाना तथा ग्राम कंचनपुरा उसके निवास स्थान से 20 कि.मी. दूर बांदकपुर बनवार रोड पर पुलिया के पास नदी में शव मिलना, शव के गले में साड़ी का फंदा तथा साड़ी के फंदे से तथा गला घोंट कर हत्या होना एक गंभीर अपराध था। प्रकरण में घटना/अपराध की गंभीरता को दृष्टिगत रखते हुए अज्ञात आरोपी के बारे में सूचना देने पर एसपी ने 25 सितंबर को दस हजार का इनाम भी घोषित किया था।

प्रकरण में डीएसपी सुदामा शुक्ला के निर्देशन में विवेचक थाना प्रभारी हिण्डोरिया टीआई संधीर चौधरी, उनि नरेन्द्र तिवारी, उनि सौरभ शर्मा प्रभारी सहा. के. बांदकपुर व थाना डिण्डोरिया के अन्य स्टाफ तथा सायबर टीम दमोह द्वारा लगातार मेहनत व गंभीरता से प्रयास करने के परिणामस्वरूप संदेही मूरत यादव पिता मुन्ना यादव, उम्र 26 वर्ष निवासी माला बम्होरी, थाना नोहटा को दस्तयाब किया गया।  पूछताछ में आरोपी मूरत यादव जो कि पूर्व में हिंडोरिया में रहकर एक मेडिकल स्टोर में काम करता था के द्वारा अपनी बाइक से नाबालिक को बहला-फुसलाकर ले जाने तथा नाले के पास ज्यादती करने पर छात्रों द्वारा आपत्ति जताए जाने पर गला दबाकर हत्या करके लाश को नीचे पुलिया में डाल कर  माला बम्होरी भाग जाना बताया गया। आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किए जाने पर जेल भेज दिया गया है।
प्रकरण में जप्तशुदा सामग्री :- 01- लड़की के कपड़े, 02- किताबें, 03- लड़की की चप्पले, 04- आरोपी के द्वारा घटना में प्रयोग की गई मोटरसाइकिल, 05 घटना से संबंधित साक्ष्य सामग्री विधिवत जप्त की गई है।
सराहनीय कार्य- उक्त अंधे कत्ल के खुलासे में थाना प्रभारी हिण्डोरिया निरीक्षक संधीर चौधरी, उनि सौरभ शर्मा, उनि नरेन्द्र तिवारी, आर. अभिषेक, सायबर सेल से सउनि रमाशंकर मिश्रा, प्रधान आर. राकेश अठ्या व प्रधान आर. सौरभ टण्डन आरक्षक अजीत दुबे आरक्षक मयूर की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उक्त टीम को पुरस्कृत किया जायेगा।

नमकीन लेने गई 8 वर्षीय दलित बालिका के साथ किशोर दुकानदार ने की ज्यादती..

दमोह। नमकीन लेने के लिए किराना दुकान पर गई 8 वर्ष की मासूम के साथ किराना दुकानदार चलाने वाले किशोर के द्वारा ज्यादती किए जाने का घटनाक्रम सामने आया है। पटेरा थाना अंतर्गत कल शाम एक ग्राम में सामने आई घटना के बाद पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध कर के आरोपी किशोर को हिरासत में ले लिया है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार इस पूरे घटनाक्रम का खुलासा तब हुआ जब एक पड़ोसी महिला किराना दुकान पर सामान लेने के लिए पहुंची इस दौरान उसने 8 वर्ष की बालिका कि रोने की आवाज सुनी तो उसकी हालत देखकर उसके होश उड़ गए और उसने बच्ची को आरोपी के चुंगल से छुड़ाकर उसके घर पहुंचाया तथा परिजनों को सूचना दी। 

बाद में परिजनों द्वारा पटेरा थाना पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराए जाने पर पुलिस ने धारा 376 AB,  294, 323, 506, 5 (M) 6 पास्को एक्ट के साथ एस सी / एस टी के तहत अपराध पंजीबद्ध करते हुए आरोपित किशोर को विरासत में लेकर कार्यवाही प्रारम्भ प्रारंभ कर दी है। 

घटना की जानकारी लगने पर एसपी डीआर तैनीवार पटेरा पहुंचे तथा उन्होंने घटना की जानकारी लेते हुए त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए। इधर एफएसएल टीम प्रभारी किरण सिंह ने भी घटना स्थल पर पहुंचकर जांच करते हुए साक्ष्य जुटाए।

Post a Comment

0 Comments