Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

इंदौर लोकायुक्त ने रिश्वतखोर सहायक उपनिरीक्षक को रंगे हाथों दबोचा.. बस स्टैंड पर ग्रामीण से 30 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा.. मारपीट के मामले में फरियादी का नाम नहीं जोड़े जाने के एवज में मांगी थी रिश्वत..

 ASI को ग्रामीण से 30000 की रिश्वत लेते पकड़ा..

धार/इंदौर। इंदौर लोकायुक्त की टीम ने धार जिले के राजोद थाना में पदस्थ एक सहायक उपनिरीक्षक को सन्दला बस स्टैंड पर एक ग्रामीण से रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ने में सफलता हासिल की है। एएसआई के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं के तहत कार्यवाही की जा रही है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार राजोद थाना क्षेत्र के लाबरिया गांव निवासी परमानंद ने इंदौर लोकायुक्त एसपी को लिखित शिकायत देते हुए बताया था कि करीब 1 माह पूर्व उसके भाई का कुछ लोगों से झगड़ा हो गया था। जिस पर उसके खिलाफ गाली गलौज मारपीट की धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया था। इसी मामले में उसका नाम नहीं जोड़े जाने तथा धाराएं नही बढ़ाने के एवज में एएसआई किशोरसिंह टांक द्वारा ₹30000 की रिश्वत की मांग की जा रही है। 

लोकायुक्त डीएसपी प्रवीण सिंह बघेल ने बताया कि शिकायत पर कार्यवाही करते हुए इंदौर लोकायुक्त टीम बुधवार सुबह संदला पहुची। जहा बस स्टैंड पर परमानंद ने जैसे ही रिश्वत की रकम एएसआई को दी वैसे ही लोकायुक्त टीम ने सहायक उपनिरीक्षक किशोर सिंह को पकड़ने में देर नहीं की। यहां से आरोपी एएसआई को लेकर सरदारपुर सर्किट हाउस पहुंची लोकायुक्त टीम द्वारा कार्यवाही की जा रही है। मामले में विस्तृत विवरण की फिलहाल प्रतीक्षा है।

Post a Comment

0 Comments