Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

क्या विभिन्न मुद्दों पर सरकार को सच का आइना दिखा कर खबरें प्रकाशित करना महंगा पड़ेगा.. ? देश भर में दैनिक भास्कर समूह के अनेक ठिकानों पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की छापामार कार्यवाही से हड़कंप.. विपक्ष को बैठे-बिठाए मिला सरकार पर उंगली उठाने का मौका..

 दैनिक भास्कर समूह के ठिकानों पर आयकर की रैड


भोपाल/ इंदौर। भोपाल, इंदौर, जयपुर अहमदाबाद सहित देश के विभिन्न क्षेत्रों में संचालित दैनिक भास्कर समूह के कार्यालयों तथा संचालक सुधीर अग्रवाल सहित अन्य परिजनों के ठिकानों पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की छापामार जांच कार्रवाई की खबर ने गुरुवार सुबह सभी को चौंका कर रख दिया है। हालांकि इस को लेकर अभी तक कोई अधिकृत बयान सामने नहीं आया है लेकिन कार्रवाई जारी रहने की पुष्टि की गई है।


 इस कार्रवाई ने देश के समूचे मीडिया जगत को हिला कर रख दिया है माना जा रहा है केंद्र तथा प्रदेश सरकार को विभिन्न मामलों में सच का आईना दिखाने की कोशिश कर रहे दैनिक भास्कर समूह पर दबाव बनाने के लिए सरकार के इशारे पर आयकर विभाग की दिल्ली एवं मुंबई की टीम द्वारा स्थानीय पुलिस की मदद से यह जांच छापामार कार्यवाही की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि अयोध्या में राम जन्मभूमि न्यास द्वारा जमीन खरीदी रजिस्ट्री मामले में गड़बड़ी को लेकर जान सबसे पहले दैनिक भास्कर समूह ने खुलासा किया था। वही कोरोना संक्रमण काल के दौरान सरकार के दावों की कलई खोलने वाली अन्य खबरें सबसे पहले प्रकाशित करने के मामले में भास्कर समूह सबसे आगे रहा था। प्रांत के साथ हुए विभिन्न पौधो में बिचौलियों की भूमिका तथा इजराइल की कंपनी से जुड़ी फोन टैपिंग मामले मैं भी चौंकाने वाले खुलासे करने में भास्कर आगे रहा है।

हालांकि हम यह नहीं कह रहे हैं कि दैनिक भास्कर समूह के द्वारा इनकम टैक्स मामले में कोई गड़बड़ी नहीं की जा रही होगी लेकिन यह कार्रवाई ऐसे समय सामने आई है जब संसद का सत्र चल रहा है और भास्कर द्वारा विभिन्न मुद्दों को लेकर खुलासे करके विपक्ष के लिए संबल प्रदान किया जा रहा है। वही महंगाई बेरोजगारी कोरोना का हाल में हुए घोटाले जैसे विभिन्न मुद्दों को लेकर भास्कर की खबरे सरकार के लिए परेशानी का सबब बनने के साथ कार्यप्रणाली को लेकर के प्रति जनता में नाराजगी मारने का काम कर रही है

 ऐसे में टैक्स डिपार्टमेंट की कारवाही कहीं ना कहीं इनकी मंशा पर सवाल उठाते नजर आ रही है। वही विपक्ष के लिए भास्कर का पक्ष लेने और सरकार पर उंगली उठाने का भी मौका दे रही है। कार्रवाई की अपडेट के साथ जल्द मिलते हैं। पिक्चर अभी बाकी है..

Post a Comment

0 Comments