Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

लाल परी के नशे में टुन्न शराबी वाहन चालकों से जरा बचके.. बोलेरो ने घंटाघर को टक्कर मारी इधर शव वाहन ने फुटपाथ पर जा रही महिलाओं को चपेट में लिया.. बेलाताल के पास बाइक सवार की टक्कर से मौत.. नोहटा क्षेत्र में ओवर लोड आटो के सफर की तस्वीर बायरल..

घंटाघर की रेलिंग उखड़ने के साथ प्लर भी क्षतिग्रस्त..

दमोह। रिमझिम बारिश का मौसम शुरू होते ही लाल परी का जादू सिर चढ़कर अपना असर दिखा रहा है ऐसे में पीकर गाड़ी चलाने वालों का तो कहना ही क्या है। उनके सामने जो भी आता है उसे ठोकर लगाने से मारने से वाहन चालक नहीं चूकते। भले ही इस चक्कर में उनकी खुद की गाड़ी को नुकसान ही क्यों ना हो जाए। 24 घंटे में एक के बाद एक 4 ऐसे मामले सामने आए हैं जिनमें ना सेल्फी वाहन चालकों की वजह से वाहनों को नुकसान तो पहुंचा ही है एक युवक की जान चली गई और 2 महिलाओं की जान जाते-जाते बची। 

 यह तस्वीर शहर के हृदय स्थल कहे जाने वाले घंटाघर क्षेत्र की है। जहां शराब के नशे में धुत एक बोलेरो चालक ने तेज रफ्तार के साथ घंटाघर को ऐसी टक्कर मारी की रेलिंग उखड़ने के साथ प्लर भी क्षतिग्रस्त हो गया। इसके बाद बोलेरो चालक अंबेडकर चैक की तरफ भागा रास्ते में आनंद मेडिकल के पास जैसे तैसे उसने गाड़ी रोकी और वहां से देसी शराब दुकान की और उसने रूख किया लेकिन तब तक कलारी बंद हो चुकी थी जिसके बाद बेरंग वापस लौटे बोलेरो चालक के पास से गाड़ी की चाबी कहां खो गई और वह राह चलते बाइक सवार लोगों से चाबी मांगता नजर आया।


 इस दौरान जिसने भी गाड़ी के क्षतिग्रस्त अगले हफ्ते को देखा ओसिया समझते देर नहीं लगी कि नशे में धुत इस चालक ने कहीं टक्कर मारी है बाद में लोगों को पता लगा यह तो घंटाघर को उखाड़ने के मूड में था लेकिन दुर्भाग्य से रेनिंग ही उखड़ सकी। फिलहाल पुलिस के लिए बोलेरो चालक का पता लगाना चुनौती बना हुआ है हालांकि ऐसे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर या फिर क्षतिग्रस्त बोलेरो का पता लगा कर आसानी से पकड़ा जा सकता है। देखना होगा हृदय स्थल पर आघात करने वाले इस बोलेरो चालक को पकड़ने में पुलिस रुचि लेती है अथवा नहीं।

शव वाहन ने राह चलती महिलाओं को टक्कर मारी..


कीटनाशक का सेवन करके मौत को गले लगाने वाली एक किशोरी का जिला अस्पताल से एक किशोरी का शव लेकर गुरुवार शाम कोपरा नरसिंहगढ़ जा रहे शव वाहन की टक्कर लगने से दो महिलाएं सड़क से उछलकर फुटपाथ पर पहुंच गई वही पीछे पीछे शव वाहन भी फुटपाथ पर चढ़ गया। गनीमत रही कि बाद में वाहन रुक गया और महिलाएं के ऊपर चढ़ते चढ़ते हुए रह गया। इस दौरान तमाशाईयो की भीड़ लगी रही और लोग वाहन चालक को खरी खोटी सुनाते नशे की हालत में गाड़ी नहीं चलाने की नसीहत देते नजर आए।

शराबी वाहन चालक ने ले ली बाइक सवार की जान..

गुरुवार को भी शहर के बेलाताल कलेक्ट्रेट मार्ग पर तेज रफ्तार वाहन की टक्कर से बाइक सवार एक युवक की सड़क पर गिरकर मौत हो गई। बादमे मृतक की पहचान जोरतला गांव निवासी धर्मेंद्र रजक के तौर पर की गई। वही बताया जा रहा है कि जिस वाहन ने धर्मेंद्र की बाइक को टक्कर मारी उसका चालक नशे में धुत था तथा टक्कर मारने के बाद तेजी से गाड़ी को दौड़ते हुए भाग गया।

नोहटा में ओवरलोड ऑटो बने जान के दुश्मन..


बारिश के दिनों में सड़क को की खस्ता हालत और गड्ढे भरे हालत किसी से छिपी नहीं है ऐसे में ऑटो में ओवरलोड सवारियों के साथ यदि दाएं बाएं लटकते हुए लोग नजर आए तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह सफर कितना खतरनाक साबित हो सकता है। नोहटा क्षेत्र से ऐसी तस्वीर सामने आई है जिसमें साइड में लटक रहे लोग जान जोखिम में डालकर ऑटो पर चले नजर आ रहे हैं। ऐसे में इनकी हादसे में जान जाए या ना जाए लेकिन हाथ पाव टूटने का खतरा तो बना ही रहता है फिर भी लोग रेस के लिए रहे हैं और पुलिस तमाशाई बनी है तो इसे क्या कहा जाए.. अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a Comment

0 Comments