Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

शादी की सालगिरह के दिन शहर कोतवाल को तबादले की सौगात .. ! उपचुनाव की आचार संहिता हटते ही एसपी ने विभिन्न थाना चौकियों के प्रभारी बदले.. एचआर पांडे को पथरिया, सत्येंद्र सिंह को कोतवाली, इंदिरा सिंह को जबेरा, मनीष मिश्रा को हटा थाने की कमान..

 एसपी ने फिर बदले अनेक थानों चौकियों के प्रभारी..

दमोह। विधानसभा उपचुनाव की आचार संहिता खत्म होते ही एसपी हेमंत चौहान एक बार फिर कानून व्यवस्था के दृष्टिगत विभिन्न थानों के प्रभारियों को यहां से वहां किया है। खास बात यह है कि लंबे समय से कोतवाली में अंगद के पैर की तरह जमे रहे टी आई एचआर पांडे का नाम भी इस बार ट्रांसफर लिस्ट में सबसे ऊपर है। 

 जिले में फेरबदल से प्रभावित 19 थाना प्रभारियों की यह सूची ऐसे समय आई है जिस दिन टीआई हरीराम पांडे की शादी की सालगिरह भी है और लोग बधाई देने के लिए फोन लगा रहे हैं। लेकिन वह मोबाइल भी रिसीव नहीं कर रहे हैं । जिसकी वजह अचानक उनके प्रभार में फेरबदल कर दिया जाना माना जा रहा है। जबकि उनके कुछ खास लोग सोशल मीडिया पर लगातार पिया या चार पांडे को विवाह की वर्षगांठ की फोटो शेयर करते हुए बधाइयां देते नजर आ रहे हैं।

दमोह में परिवर्तन की वजह विधायक परिवर्तन तो नहीं.. लंबे समय तक कोतवाली की कमान संभाले रखने वाले एचआर पांडे मिलनसार सबको साथ लेकर चलने वाले थाना प्रभारियों में शुमार रहे हैं। शायद यही वजह रही कि कांग्रेश की कमलनाथ सरकार के दौरान पोस्टेड होने के बाद वह पिछले लाक डाउन से लेकर इस बार के कोरोना कर्फ्यू तक शहर की कमान संभालने में सफल रहे वही अब दमोह में विधायक परिवर्तन के साथ कोतवाल को बदले जाने की एक बजह पिछले दिनों कांग्रेस जनों द्वारा शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल ठाकुर सहित अन्य कांग्रेसियों पर चुनाव मतदान के पूर्व अवैध शराब परिवहन का फर्जी प्रकरण दर्ज किए जाने की शिकायत डीजीपी तक पहुंचना बताया जा रहा है। राजनीतिक रसूख की बात करें तो टीआई एच आर पांडे गढ़ाकोटा क्षेत्र से संबंध होने के साथ कैबिनेट मंत्री गोपाल भार्गव के कृपा पात्र बताए जाते रहे हैं वही अब उनकी जगह कोतवाली भेजे जा रहे सत्येंद्र सिंह कैबिनेट मंत्री भूपेंद्र सिंह के खास बताए जाते हैं।

सत्येंद्र सिंह के कंधों पर अब कोतवाली की चुनौती भरी कमान

पिछले लंबे समय से जिले में विभिन्न क्षेत्रों में होने वाली वारदातों पर नियंत्रण करने के लिए एसपी द्वारा गठित की जाने वाली स्पेशल टीम मैं शामिल रहने वाले युवा थानेदार तथा हाल ही में प्रमोशन पाने वाले नोहटा थाना प्रभारी सत्येंद्र सिंह को अब कोतवाली की कमान सौंपी गई है। इधर लंबे समय से लूप लाइन में रहने वाली टीआई इंदिरा सिंह को अब जबेरा मैं पदस्थ किया गया।

परिवर्तित थाना चौकी प्रभारियों की सूची एक नजर में.

परिवर्तित प्रभार वाले थाना प्रभारियों में मनीष मिश्रा को रक्षित केंद्र से हटा भेजा गया है। मधु पटेल को कोतवाली से यातायात थाने भेजा गया है, भल्ला प्रसाद दुबे को रक्षित केंद्र से कंट्रोल रूम का प्रभारी बनाया गया है। सुषमा श्रीवास्तव को हटा से तेंदूखेड़ा, उप निरीक्षक बृजेश पांडे को पथरिया से तेजगढ़, उप निरीक्षक विकास सिंह चौहान को तेजगढ़ से नोहटा, उप निरीक्षक सविता रजक को रक्षित केंद्र मैं शिकायत शाखा का प्रभारी बनाया गया है।

                                            

 उप निरीक्षक अभिषेक पटेल को रजपुरा से मडियादो, उप निरीक्षक राजीव पुरोहित देहात थाने से रजपुरा, उप निरीक्षक सौरभ शर्मा कोतवाली से बांदकपुर चौकी, उपनिरीक्षक श्याम बैन हटा से कोतवाली, राम बिहारी पांडे पथरिया से जबलपुर नाका चौकी, लक्ष्मी प्रसाद तिवारी सिग्रामपुर से फुटेरा भेजा गया है। इसी तरह संशोधित आदेश तहत विजय राजपूत को बांदकपुर से देहात थाना, टीआई इंदिरा सिंह को अजाक थाने से जबेरा, दीपक खत्री को देहात थाने से रक्षित केंद्र तथा उपनिरीक्षक गरिमा मिश्रा को रक्षित केंद्र हिंडोरिया से सागर नाका चौकी भेजा गया है। 

                                                

अवैध शराब बिक्री जुआ फड़ वाले क्षेत्र चर्चाओं में..

एसपी द्वारा थानों के प्रभार में किए गए व्यापक फेरबदल से बटियागढ़, पटेरा, हिंडोरिया, मगरोन, कुम्हारी, तारादेही जैसे थाने अछूते रहे हैं जबकि मगरोन और कुम्हारी क्षेत्र में बड़े जुआ फड़ो के संचालित होने की खबरें लगातार सामने आती रही हैं वही कोरोना कर्फ्यू के दौरान अवैध शराब बिक्री के मामले में कुम्हारी के महाकाल ढाबे से लेकर नरसिंहगढ़ क्षेत्र के ढाबा तथा गांव गांव में धड़ल्ले से अवैध शराब की बिक्री होना कहीं ना कहीं स्थानीय पुलिस और शराब ठेकेदारों के बीच की मिलीभगत को उजागर करता नजर आ रहा है। पिक्चर अभी बाकी है..

Post a Comment

1 Comments

  1. इनको तो जिले से बाहर भेजना चाहिए था मेरी दुकान की तीन बार चोरी हुई एक भी बार कोई सुराग नहीं दे पाये टी आई महोदय, सब चोर चोर मौसेरे भाई है नीलामी होती हैं कुर्सी की,,

    ReplyDelete