Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

ऑक्सीजन सिलेंडर लूटमार के बाद डॉक्टर टीआई आमने-सामने.. सीटी स्कैन जांच के नाम पर दमोह में मनमानी गढ़ाकोटा में निशुल्क इंतजाम.. पथरिया विधायक रामबाई 1 करोड़ 80 लाख, बड़ा मलहरा विधायक प्रदुमन सिंह देंगे एक करोड़.. सांसद प्रहलाद पटेल की गुमशुदगी के संदेश वायरल..

 ऑक्सीजन सिलेंडर लूटमार के बाद जिला अस्पताल में सुरक्षा को लेकर डॉक्टर टीआई आमने-सामने..

दमोह। विधानसभा उपचुनाव के बाद कोविड-19 मरीजों की संख्या में इजाफे के साथ दमोह जिले में भी कोरोना कर्फ्यू चालू हो गया है। लेकिन मरीजों की संख्या में वृद्धि के साथ ऑक्सीजन इंजेक्शन बेड उपचार सुविधा में कमी के हालात बनते जा रहे हैं। ऑक्सीजन इंजेक्शन की कमी को लेकर न्यूज चैनलों में सामने आने वाले हाहाकार के हालात के बाद स्थानीय मरीजों के सब्र का बांध भी टूटता जा रहा है। हालांकि शासन प्रशासन लगातार व्यवस्थाओं बनाने में जुटा हुआ है। प्रभारी मंत्री भूपेंद्र सिंह और कलेक्टर तरुण राठी दिन में अनेक बार हालात की समीक्षा कर स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। 

 इसके बावजूद ऑक्सीजन और इंजेक्शन को लेकर मंगलवार को जो अफरा-तफरी बारे हालात सामने आए उन्होंने सुरक्षा इंतजामों की कलई खोल कर रख दी है कलेक्ट्रेट में इंजेक्शन वितरण के दौरान लगी कतार और अव्यवस्थाओं को यदि नजर अंदाज कर दिया जाए तब भी जिला अस्पताल में सिलेंडर को कब्जे में लेने के लिए प्रभावशाली मरीजों के परिजनों के बीच में निर्मित हुए लूटमार जैसे हालात ने अन्य मरीजों की जान से खिलवाड़ करने जैसे हालात निर्मित कर दिए थे। बीती रात जिला अस्पताल के स्टाफ के साथ सिविल सर्जन ममता  तिमोरी, सीएमएचओ संगीता त्रिवेदी, आरएमओ दिवाकर पटेल व अन्य डॉक्टर सुरक्षा इंतजामों को लेकर अस्पताल छोड़कर परिसर में बाहर आ गए थे। 

 इस दौरान देर तक टीआई एचआर पांडे से सिविल सर्जन की तकरार भी होती रही वही बाद में टीआई पांडे ने स्वयं मोर्चा संभालते हुए अस्पताल के सभी वार्डों में पहुंचकर हालात का जायजा लिया और मरीजों के साथ एक से अधिक लोगों के मिलने पर उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया। दरअसल दमोह में लगातार मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते ऑक्सीजन और इंजेक्शन की कमी को लेकर परिजन आशंकित बने हुए हैं वही आम मरीजों के परिजन सबसे ज्यादा आकुल व्याकुल होते हैं। 

इधर सरकारी अस्पताल के अलावा निजी अस्पतालों के डॉक्टर भी सबसे अधिक सीटी स्कैन जांच लिख रहे हैं जोकि दमोह में दो निजी क्षेत्रों में संचालित है जहां मनमानी राशि वसूलने के साथ मरीजों के लिए किसी भी प्रकार के कोई इंतजाम नहीं है। जिसे ध्यान में रखकर दमोह वासियों को यह बात जमकर अखर रही है कि जिला अस्पताल के कायाकल्प पर 15 वर्षों के मंत्री कार्यकाल में तत्कालीन विधायक श्री जयंत मलैया ने करोड़ों करोड़ की राशि खर्च कर दी लेकिन उनके किसी भी समर्थक ने उनका ध्यान सीटी स्कैन मशीन जैसी अन्य सुविधाओं की ओर नहीं दिलाया। यदि पूर्व में यह व्यवस्था श्री मलैया के कार्यकाल में हो जाती तो आज लोगों को इतना अधिक परेशान नहीं होना पड़ता।

गढ़ाकोटा रहली विधायक गोपाल भार्गव ने क्षेत्र वासियों के लिए निशुल्क सीटी स्कैन शुरू कराई..

दमोह संसदीय क्षेत्र अंतर्गत गढ़ाकोटा रहली विधानसभा क्षेत्र के लोकप्रिय विधायक और प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री गोपाल भार्गव और उनके बेटे अभिषेक दीपू भार्गव के द्वारा इस बार कोरोना संक्रमण काल में अपने क्षेत्र के मरीजों को राहत देने के लिए सीटी स्कैन सेवा निशुल्क प्रदान कराने की अनूठी पहल की है। मंत्री श्री भार्गव के प्रयासों से गढ़ाकोटा क्षेत्र में एक नया कोविड केयर सेंटर भी तैयार हो चुका है। जिसकी मानिटरिंग स्वयं उनके द्वारा निरंतर की जाती रही है।

जल्द ही इस सेंटर की सुविधाओं का लाभ गढ़ाकोटा क्षेत्र के कोविड-19 मरीजों को मिलने लगेगा।पिछले वर्ष के लॉकडाउन के दौरान प्रतिदिन हजारों हजार प्रवासियों तथा मजदूरों को भोजन पानी चाय नाश्ता दवा का महीनों दिन-रात लंगर चलाने वाले भार्गव परिवार और उनकी टीम द्वारा इस बार सीटी स्कैन मामले में की गई मदद की पहल अन्य क्षेत्रो के जन प्रतिनिधियों समाज सेवीयों के लिए प्रेरणा का कारण बन सकती है।

पथरिया विधायक रामबाई अपनी निधि के एक करोड़ 80 लाख रु स्वास्थ्य सेवाओं के लिए देगी..

दमोह जिले के जनप्रतिनिधियों में अपनी निधि की राशि मरीजों के लिए समर्पित करने के मामले में पथरिया से बसपा विधायक श्रीमती रामबाई सिंह परिहार सबसे पहले आगे आई है। उन्होंने कोरोना संक्रमण काल में बचाव हेतु पथरिया क्षेत्र की प्रमुख स्थानों पर कोविड-19 सेंटर बनाए जाने के लिए जहां कलेक्टर से चर्चा की है वही प्रभारी मंत्री भूपेंद्र सिंह से भी चर्चा करते हुए महत्वपूर्ण सुझाव दिए हैं

 विधायक राम भाई ने इस वर्ष की अपनी विधायक निधि 18000000 रुपए की राशि पथरिया क्षेत्र मैं स्वास्थ्य सेवाओं के लिए खर्च करने की सहमति देते हुए इस बारे में कलेक्टर को चर्चा करते हुए अवगत करा दिया है। अब देखना होगा समय रहते प्रशासन विधायक निधि की राशि का कोरोना काल में सदुपयोग करने के लिए जल्द से जल्द क्या प्लानिंग करता है।

बड़ा मलहरा विधायक प्रदुमन सिंह अपनी एक करोड़ की निधि कोविड-19 सेवा हेतु समर्पित की..

दमोह संसदीय क्षेत्र के बड़ा मलहरा से भाजपा विधायक प्रदुम सिंह ने अपनी विधायक निधि की एक करोड़ की राशि कोविड-19 उपचार व्यवस्था इलाज सेवा हेतु समर्पित करने का निर्णय लिया है उन्होंने 20 अप्रैल को उक्त आशय का एक पत्र भी कलेक्टर छतरपुर को जारी कर दिया है जिस में उल्लेख किया गया है कि उनके विधानसभा क्षेत्र बड़ा मलहरा के स्वास्थ्य केंद्र के अलावा बक्सवाहा स्वास्थ्य केंद्र में कोविड-19 आवश्यक सेवाओं उपचार हेतु एक करोड़ की राशि विधायक निधि से मंजूर कर रहे हैं।

सांसद और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के गुमशुदगी के संदेश सोशल मीडिया पर होने लगे वायरल..

दमोह क्षेत्र से सांसद और मोदी सरकार में संस्कृति और पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल की क्षमताओं का लाभ कोरोना संक्रमण काल में उनके संसदीय क्षेत्र के लोगों को अभी तक नहीं मिल पा रहा है। जबकि संसदीय क्षेत्र के आठों विधानसभा क्षेत्रों में कोविड-19 के कहर के चलते हाहाकार भरे हालात देखने को मिल रहे हैं। 

15 अप्रैल तक दमोह विधानसभा उपचुनाव के प्रचार में जुटे नजर आए और हवाई यात्राएं करके राहुल सिंह के पक्ष में माहौल बनाने, आम सभा और रैलियां करते रहे सांसद प्रहलाद पटेल से क्षेत्रवासियों को संकट की इस घड़ी में बहुत अधिक उम्मीदें है। खासकर दमोह जिला अस्पताल को सीटी स्कैन मशीन प्रदान कराने में योगदान की अपेक्षा चारों ओर से की जा रही है। लेकिन श्री पटेल चुनाव प्रचार खत्म होते ही दमोह से विदिशा चले गए और फिर उनकी बंगाल चुनाव में व्यस्त होने की खबर सामने आई है। ऐसे में सोशल मीडिया पर उनकी गुमशुदगी के पर्चे वायरल हो रहे हैं। 

मुख्यमंत्री से दमोह जिला अस्पताल के लिए जल्द सीटी स्कैन मशीन भेजने की अपेक्षा..

दमोह विधानसभा उपचुनाव प्रचार के दौरान भाजपा प्रत्याशी राहुल सिंह से लेकर पार्टी के अन्य नेताओं तथा मुख्य मंत्री  शिवराज सिंह ने मेडिकल कॉलेज को अपनी प्राथमिकता बताई थी जिसे ध्यान में रखकर वर्तमान हालात में आवश्यक हो गया है कि मुख्यमंत्री महोदय दमोह जिला अस्पताल में सीटी स्कैन मशीन प्रदाय करने के साथ जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में बेहतर व्यवस्थाओं के संचालन हेतु प्रयास करें

 जिससे इस संकट काल में वर्तमान स्वास्थ्य सेवाओं के जरिए ही मेडिकल कॉलेजजैसी स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ क्षेत्र वासियों को मिल सके वर्तमान हालात में जान है तो जहान जैसे हालात बने हुए हैं। ऐसे में मेडिकल कॉलेज भले ही दूर के ढोल सुहावने जैसी कहावत को चरितार्थ करता हो लेकिन वर्तमान में बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्थाएं ही सभी के लिए जीवन दायिनी साबित हो सकती हैं। जिले के हटा एवं जबेरा विधायक भी इस हेतु अपनी निधि को समर्पित करने का सुयोग्य प्रयास जल्द करे। दमोह में समाज सेवा का जज्वा रखने वाले दमदार लोग भी सोशल मीडिया से बाहर आकर सहयोग व राशि की पहल करें। एक बार पुनः ध्यान आकर्षित कराते हुए दमोह वासियों की ओर से मुख्यमंत्री जी से विनम्र निवेदन करते हैं। अटलराजेंद्र जैन

Post a comment

0 Comments