Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

आजादी का अमृत महोत्सव अभियान का आगाज.. बालाकोट में राव स्वरूप सिंह समाधि स्थल से गांधी चैक दमोह तक बाइक रैली निकाली.. गांधी चोक में दीपोत्सव कार्यक्रम में शामिल हुए केबिनेट मंत्री राहुलसिंह सहित अनेक गणमान्यजन..

 आजादी का अमृत महोत्सव अभियान का आगाज.. 

दमोह। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के आव्हान पर भारत की आजादी के 75 वर्ष को समारोह पूर्वक मनाने के लिए आजादी का अमृत महोत्सव अभियान का आगाज आज से किया गया है। 12 मार्च 2021 को उन स्थानों पर जहां स्वतंत्रता आंदोलन संघर्ष की अमर गाथा में विद्यमान है वहा पर यह महोत्सव आयोजित किया गया। इसी क्रम में ग्राम बालाकोट में राव स्वरूप सिंह समाधि स्थल से गांधी चैक दमोह तक मोटर साइकिल रैली व गांधी चोक दमोह में दीपोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

 दमोह में आजादी का अमृत महोत्सव अभियान का आगाज बालाकोट में राव स्वरूप सिंह समाधि स्थल से किया गया। इस अवसर पर केबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त राहुलसिंह के साथ जिला भाजपाध्यक्ष प्रीतमसिंह लोधी एवं अनेक लोग बालाकोट पहुचे जहां राव स्वरूप सिंह को श्रद्धा सुमन अर्पित करके उनकी शहादत को याद किया गया। 

इस अवसर पर बांदकपुर मंडल अध्यक्ष अभिलाष हजारी, बृज गर्ग, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष प्रमोद विश्वकर्मा, हिंदू युवा वाहिनी के जिला अध्यक्ष विक्की गुप्ता, बालाकोट दीवान साहब, बालाकोट सरपंच नीलेंद्र सिंह, चैरई सरपंच भूपेंद्र सिंह, हरदुआ सरपंच राजकुमार सिंह, योगेश पटेल, जानकी पटेल, विनोद पटेल, कृष्णा तिवारी, सरजू यादव, वीरू यादव, सालक राम यादव, श्री धीरेंद्र तिवारी, सोहेला सरपंच कल्याण सिंह, आवरी सरपंच नेकराम पटेल, इमलिया सरपंच इमरत सिंह, बजरंगढ़ सरपंच राजकुमार सिंह, श्री आशीष पटेल, सुनील पटेल, शिवराज सिंह, लोकेंन्द्र सिंह, जितेंद्र पटेल, मंजीत सिंह राजपूत, सुरेंद्र पटेल, हुकम पटेल, डॉ सूरत सिंह,  हीरासिंह, गंधर्व जी, मनोज सिंह लोधी, मनोज यादव, सचिन पटेल, सुखदेव यादव, रोशन सिंह ठाकुर, लोकेश सिंह, चुरामन पटेल, रंजीत पटेल सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजनों, पार्टी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की उपस्थिति रही।

ग्राम बालाकोट में शहीद समाधिस्थल पर श्रद्धाजंलि कार्यक्रम के पश्चात से बाइक रैली के साथ सभी लोग बालाकोट से दमोह के लिए रवाना हुए। जहां गांधी चोक पर आयोजित कार्यक्रम में केबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त राहुलसिंह, कलेक्टर तरूण राठी, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष विद्यासागर पांडे, साहित्यकार नरेंद्र दुबे सहित अन्य लोगों ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर दीपोत्सव कार्यक्रम में सभी ने सहभागिता दर्ज कराते हुए श्रद्धांसुमन अर्पित किए।

गांधी चोक में आयोजित कार्यक्रम मे युवाओं का आव्हान करते हुए वेयरहॉसिंग एंड लॉजिस्टिक कारपोरेशन अध्यक्ष केबिनेट मंत्री दर्जा श्री राहुल सिंह ने कहा कि आइये संकल्प लें कि हम देश के लिए जिएंगे। भारत माता की गरिमा, सम्मान, वैभव और जिन जीवन मूल्यों के लिए स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने अपने प्राणों की आहूति दे दी, उन्हें चरितार्थ करने, सभी देशवासियों के लिए अवसरों की समानता सुनिश्चित करने और प्रगति तथा विकास के नए आयाम स्थापित करने के लिए हरसंभव परिश्रम करेंगे। 

भाजपा जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी ने कहा जो देश के लिए अपने प्राणों की आहूति दी उन वीर योद्धाओं को अपनी यादों में जिंदा बनाये रखे। उन्होंने कहा वीर भूमि एवं शहीदों की भूमि की खोज दमोह में केन्द्रीय मंत्री जी द्वारा की गई हैं तथा युवाओं को इतिहास के पन्नों से अवगत कराने के लिए उन्हें साधुवाद देता हूँ। विद्या सागर पाण्डे ने कहा आज का दिन एतिहासिक दिन है, हम अमृत महोत्सव मना रहे है। यह उन शहीदों का स्मारण करने का दिन है जिन्होंने देश की आजादी के लिए प्राण न्यौछावर कर दिये। श्री पाण्डे ने जिले के अमर शहीदों का विस्तार से उल्लेख करते हुए कहा दमोह वीरों की नगरी है। साथ ही उनहोंने देश की आजादी में जिले के योगदान पर प्रकाश डाला।

कलेक्टर तरूण राठी ने कहा यह कार्यक्रम अपने आप में महत्वपूर्ण हैं, यह गौरव की बात है कि जिस स्थान पर कार्यक्रम हो रहा है वहां पर महात्मा गाँधी जी का पदापर्ण हुआ था। उन्होंने कहा जिले के विभिन्न स्थानों पर आजादी के महोत्वसव कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं। आज के दिन शहीदों ने लोकतंत्र एवं स्वतंत्रता की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहूति दी, यद्यपि हम युवा उस संघर्ष के प्रत्यक्ष साक्षी नही बने लेकिन जो स्वतंत्रता हमें मिली है वह बहुत संघर्ष के बाद मिली हैं इसके साथ ही इसे अक्षुण रखने की जिम्मेदारी हमारी हैं। आज शहीदों को नमन करने के साथ-साथ प्रतिज्ञा लेने का भी दिन है हम अपने लोकतंत्र के लिए नागरिक होने के नाते सर्वश्रेष्ठ करें, इसके साथ ही संविधान ने हमे अधिकार दिये है उसके साथ ही संविधान ने मौलिक कर्तव्य के रूप मे हमसे अपेक्षाए की हैं उन पर खरें उतरे।

इसी क्रम में साहित्यकार नरेन्द्र दुबे ने ए मेरे वतन के लोगों शहीदों की मजार पर लगेगें मेल इन पंक्तियों से अपनी बात की शुरूआत की। उन्होंने कहा शहीदों के नमन् के लिए हम यहां एकत्र हुए है। श्री दुबे ने आज के इस ऐतिहासिक दिन पर विस्तार से बात रखी। श्री दुबे ने कहा जिले में सैनानियों की सूची सैकड़ों में थी। यह भी कहा इस सरजमी पर 1933 में गांधी जी आये थे। जिले के स्वतंत्रता सैनानियों के आन-बान-शान पर अपनी बात विस्तार से रखी। कार्यक्रम के प्रारंभ में महात्मा गांधी जी के मूर्ति पर माल्यापर्ण अतिथियों द्वारा किया गया। साथ ही 75 दीपों का भी प्रज्जवलन किया गया।

 इस दौरान स्वतंत्रता संग्राम सैनानी री खेमचन्द बजाज जिनका हाल ही में देवलोक गमन हुआ है, दो मिनट मौन रखकर श्रृद्धांजलि दी गई। इस दौरान आभार प्रदर्शन परियोजना अधिकारी कपिल खरे ने व्यक्त किया। इस अवसर पर प्रमोद विश्वकर्मा, राजकुमार सिंह लोधी, अनुपम सोनी, डॉ. केदार शर्मा, भूपसिंह, प्रीतम चैकसे सहित जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, मौजूद रहे। 

Post a comment

0 Comments