Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

गुना दतिया क्षेत्र के पाकेटमार पारदी गिरोह पर हटा पुलिस का शिकंजा.. महिलाओं बच्चों सहित सात बदमाश हिरासत में.. बारदात में प्रयुक्त चाकू, बाइक, मोबाइल सहित 78 हजार नगदी बरामद.. अनेक मामलों के खुलासे की उम्मीद..

 प्रदेश में सक्रिय पारदी गिरोह पर हटा पुलिस का शिकंजा

दमोह। पिछले दिनों हटा सेंट्रल बैंक के बाहर से करीब ढाई लाख के नोट से भरे थैले की उठाईगिरी मामले की सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद जांच में जुटी पुलिस ने साइबर सेल की मदद से बड़ी सफलता हासिल की। पुलिस ने पारदी गिरोह से जुड़े आधा दर्जन बदमाशों पर शिकंजा कसने के साथ उनके पास से भारी मात्रा में चोरी उठाई गिरी जेब कटी से अर्जित सामग्री, नगदी एवं चार बाइक बरामद की हैं।

एसपी हेमंत चैहान के निर्देशन में पुलिस को मिली इस सफलता की जानकारी देते हुए हटा एसडीओपी सुश्री भावना डांगी एवं हटा थाना प्रभारी श्याम बैन ने मामले के पर्दाफाश को लेकर मिली सफलता की मीडिया को विस्तार से जानकारी दी। मध्य प्रदेश के गुना दतिया जिले के निवासी पारदी गिरोह के बदमाशों का दमोह जिले के विभिन्न क्षेत्रों में निवासरत पारदी बदमाशों के साथ संगठित गिरोह संचालित हो रहा था जिसमें महिलाओं बच्चों से लेकर युवा तथा बुजुर्ग भी शामिल थे। पलक झपकते प्लानिंग बनाकर नोटों से भरे थैले, पर्स, बैग आदि पार करने में माहिर इस गिरोह के सदस्यों ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि हटा सेंट्रल बैंक के बाहर वारदात को अंजाम देने के बाद उनका पर्दाफाश हो जाएगा तथा उन्हें जेल की हवा खाना पड़ेगी।

बच्चों को आगे करके  वारदात को अंजाम देने वाले इस गिरोह के सदस्य दो बच्चों के अलावा पुलिस ने गुना निवासी राहिन पिता एलिन पारधी 20 साल तथा मोरपाल पिता मुंशीलाल पारदी 22 साल, गोविंद पिता वासुदेव पारदी 24 साल निवासी जोरतला थाना नोहटा जिला दमोह एवं दो महिलाओ को हिरासत में लिया है। इनके पास से 78 हजार 500 रु नगद, 4 बाइक, एक साइकिल अनेक चाकू छुरा, मोबाइल तथा घटना में प्रयुक्त किए जाने वाले थैलै को जप्त किया गया है।

                                           

उपरोक्त कारवाही में हटा थाना प्रभारी श्याम बैन, उप निरीक्षक संजू सैया एवं प्रदीप चैधरी, आरक्षक शैलेंद्र राजपूत, गौरव मिश्र, नीरज, अजय, पवन, सत्येंद्र, राजेंद्र  महेंद्र, महिला आरक्षक वर्षा, महिमा, सोनाली, ईरानी एवं थाना दमोह देहात के आरक्षक  आलोक एवं साइबर सेल टीम सहायक उप निरीक्षक रमाशंकर मिश्रा आरक्षक सौरभ, राकेश, अजीत की महत्वपूर्ण भूमिका रही।  हटा से जगदीश विश्वकर्मा की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments