Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

गणतंत्र पर्व के पूर्व केंद्रीय मंत्री दमोह सांसद प्रह्लाद सिंह पटेल दो दिवसीय लद्दाख दौरे पर पहुचे.. जल्द ही कारगिल में खुलेगा साहसिक पर्यटन (विंटर स्पोर्टस) संस्थान.. 25 एकड़ जमीन देने का वायदा.. युवाओ को खेल किट वितरित किए..

 जल्द ही कारगिल में खुलेगा साहसिक पर्यटन संस्थान..

दिल्ली। देश में विंटर स्पोर्टस को बढ़ावा देने के लिए केन्द्रीय संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रहलाद सिंह पटेल ने भारतीय स्कीइंग और पर्वतारोहण संस्थान ( IISM) गुलमर्ग की तर्ज़ पर लद्दाख के कारगिल में अंतरराष्ट्रीय स्तर का संस्थान खोलने का संकल्प लिया है, मंत्री श्री पटेल के संकल्प के लिए कारगिल एवं हिल काउंसिल ने 25 एकड़ जमीन देने का वादा किया है।

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस के मौके साहसिक पर्यटन के राष्ट्रीय कार्यक्रम नीट-2021( NEAT Kargil 2021) के उद्घाटन के दौरान यह घोषणा की। उन्होंने करगिल के निकट नकतल में लिंकीपाल स्कीइंग स्लोप में स्कीइंग प्रतियोगिता का उद्घाटन किया । उन्होंने इस मौके पर कारगिल को राष्ट्रीय पर्यटन मानचित्र पर उभारने के लिए साहसिक खेलों के ढांचे को उन्नत करने और सैलानियों को आकर्षित करने की आवश्यकता जताई। उन्होंने कहा कि नया भारतीय स्कीइंग एवं पर्वतारोहण संस्थान करगिल को न सिर्फ राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाएगा बल्कि स्थानीय प्रतिभा ओं को प्रशिक्षित करने एवं उन्हें देश विदेश में अवसर प्रदान करने में अहम भूमिका अदा करेगा।
उन्होंने भारत में साहसिक खेलों के प्रति धारणा बदलने पर जोर देते हुए कहा कि कारगिल में दुनिया भर में कहीं से भी बेहतर शीतकालीन खेल सुविधाएं उपलब्ध होंगीं।  उन्होंने कहा कि प्रकृति ने इस भूमि को प्रचुर मात्रा में  संसाधन दिए है। यही वजह है कि यहां से बहुत से अच्छे स्कियर निकले। पर्यटन मंत्रालय साहसिक खेलों को बढ़ावा देने के लिए यहां विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचा खड़ा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, इस मौके पर उन्होंने युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए खेल किट का भी वितरण किया गया। 
उन्होंने कहा कि यहां के अदभुत सौंदर्य मंत्रमुग्ध कर देने वाला है, आइए और उसका अनुभव कीजीए।मंत्री श्री प्रहलाद पटेल 24 जनवरी से दो दिन लद्दाख में मौजूद रहे और वहां के कार्यक्रमों व तैयारियों का जायज़ा, इस दौरान लद्दाख के युवा सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल भी उनके साथ  रहे।

Post a Comment

0 Comments